ब्रेकिंग न्यूज़

जम्मू-कश्मीर में दिखा जश्न-ए-आज़ादी का जोश

जम्मू-कश्मीर में दिखा जश्न-ए-आज़ादी का जोश

देश आज 73वां स्वाधीनता दिवस मना रहा है और देश के तमाम हिस्सों की तरह की जम्मू-कश्मीर और केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में भी आजादी का जश्न धूमधाम से मनाया गया. हर तरफ जश्न-ए-आजादी का शोर था और सबने जोशो-खरोश से इस पर्व में अपनी भागीदारी सुनिश्चित की.

श्रीनगर में राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने 73वें स्वतंत्रता दिवस पर श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में राष्ट्रीय ध्वज फहराया. ध्वजारोहण समारोह के बाद मलिक ने अर्धसैनिक बलों और जम्मू-कश्मीर पुलिस की परेड का निरीक्षण किया. परेड का नेतृत्व एसएसपी मंजूर अहमद दलाल कर रहे थे. शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम में स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान कई बड़ी हस्तियां मौजूद रही. इस अवसर पर राज्यपाल ने कहा कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 को हटाना एक ऐतिहासिक बदलाव है जो जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों के लिए नए अवसर पैदा करेगा. उन्होंने कहा कि अनुच्छेद-370 के तहत मिले विशेष दर्जे को खत्म करने के बाद राज्य के लोगों की पहचान न तो दांव पर है और न ही इसमें छेड़छाड़ हुई है.

राज्यपाल ने कहा कि सरकार की नीति आतंकवाद को कतई बर्दाश्त न करने की है और सशस्त्रों बलों की कार्रवाई से आतंकियों की हार निश्चित है.

स्टेडियम में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन भी किया गया. कलाकारों ने कश्मीर की संस्कृति को प्रदर्शित किया. श्रीनगर में बीएसएफ और सीआरपीएफ के जवानों ने स्वतंत्रता दिवस को ख़ास बताया.

घाटी के बाकी हिस्सों की बात करें तो सभी जिलों में पूरे जोश खरोश के साथ स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाया गया. गांदरबल, बडगाम, पुलवामा अनंतनाग समेत तमाम जिलों में लोगों ने झंडारोहण में हिस्सा लिया. पुलवामा में 73वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर पुलवामा के डिप्टी कलेक्टर शाहिद आसिफ राश शाह ने ध्वजारोहण किया.

कुपवाड़ा से भारतीय आर्मी ने 73वें स्वतंत्रता दिवस का जश्न मनाते हुए बच्चों का एक वीडियो साझा किया है, जिसमें बच्चे ध्वजारोहण करके नृत्‍य और गीत के द्वारा स्वतंत्रता दिवस का जश्न मना रहे हैं.

जम्मू के तमाम क्षेत्रों में आजादी का पर्व मनाया गया. पूर्व पुलिस महानिरीक्षक और जम्मू-कश्मीर राज्यपाल के सलाहकार फारूक खान ने जम्मू में राष्ट्रीय ध्वज फहराया. फारूक खान ने परेड का निरीक्षण भी किया. सांबा में में ध्वजारोहण किया गया. कठुआ में भी समारोह में झंडा फहराया गया.

लेह में भी ध्वजारोहण का आयोजन किया गया. लोगों ने इसे आहिल काउंसिल के अध्यक्ष ने इस मौक़े पर सलामी ली. लद्दाख से सांसद जामयांग शेरिंग स्वतंत्रता दिवस के मौक़े पर लोगों के साथ ख़ुशी मनाई और इसके बाद उन्होंने इसे एक उत्सव बताया.

इस बीच जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य है और किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं है. कुल मिलाकर जम्मू-कश्मीर में स्वतंत्रता दिवस का जश्न शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुआ और अब आने वाले दिनों में घाटी में पाबंदियों में ढील दी जाएगी जिससे स्थिति और सामान्य होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.