ब्रेकिंग न्यूज़ 

देवभूमि बनी : शोध-भूमि

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि 9वें वित्त आयोग में कांग्रेस की राजीव गांधी सरकार के दौरान हिमाचल प्रदेश का स्पेशल कैटेगरी स्टेटस वापस ले लिया गया था। उस समय हिमाचल में भी कांग्रेस की वीरभद्र सिंह सरकार थी। भाजपा ने इसके विरोध में यात्राएं निकाली लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। स्पेशल स्टेटस कैटेगरी से हटने के बाद हिमाचल प्रदेश पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ बढ़ गया। 2014 में जब  नरेन्द्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बने तो उन्होंने बिना किसी मांग के हिमाचल प्रदेश का विशेष राज्य का दर्जा बहाल कर दिया। अटल बिहारी वाजपेयी जी की सरकार ने हिमाचल प्रदेश को इंडस्ट्रियल पैकेज दिया था लेकिन कांग्रेस की सोनिया-मनमोहन सरकार ने आते ही हिमाचल प्रदेश से इस इंडस्ट्रियल पैकेज को छीन लिया।

उदय इंडिया ब्यूरो

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष  जेपी नड्डा ने हाल ही में कुल्लूू, हिमाचल प्रदेश के ढालपुर मैदान में आयोजित विशाल जन-सभा को संबोधित किया और बदलते हुए परिवेश में माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र्र मोदी  के नेतृत्व में हिमाचल प्रदेश में डबल इंजन सरकार को जरूरत बताते हुए उनकी गरीब कल्याणकारी योजनाओं पर विस्तार से चर्चा की। इससे कुल्लू के ढालपुर मैदान में जनता के हुजूम को संबोधित करते हुए जेपी नड्डा ने कहा कि हिमाचल में माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में लगातार दूसरी बार पूर्ण बहुमत के साथ कमल खिलने जा रहा है। हिमाचल प्रदेश की महान जनता भाजपा को आशीर्वाद देने के लिए आतुर है। हम पुन: जनता के आशीर्वाद से उनकी सेवा में जुटेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस में कभी ये हिम्मत नहीं हो सकती कि वे जनता के सामने जाकर अपना रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत करें क्योंकि उन्होंने कभी कुछ किया ही नहीं है। कांग्रेस ने हमेशा हिमाचल प्रदेश का हक छीना है जबकि भारतीय जनता पार्टी ने हिमाचल को सदैव उसका हक दिया है। भाजपा जो भी कहती है, कर के दिखाती है, इसलिए पूरे देश में भाजपा को लगातार जनता का आशीर्वाद प्राप्त हो रहा है। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में भाजपा की ऐतिहासिक जीत, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार द्वारा जनता के प्रति सेवाभाव से काम करने के प्रण का रूपांतर है।

भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि 9वें वित्त आयोग में कांग्रेस की राजीव गांधी सरकार के दौरान हिमाचल प्रदेश का स्पेशल कैटेगरी स्टेटस वापस ले लिया गया था। उस समय हिमाचल में भी कांग्रेस की वीरभद्र सिंह सरकार थी। भाजपा ने इसके विरोध में यात्राएं निकाली लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। स्पेशल स्टेटस कैटेगरी से हटने के बाद हिमाचल प्रदेश पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ बढ़ गया। 2014 में जब नरेन्द्र मोदी  देश के प्रधानमंत्री बने तो उन्होंने बिना किसी मांग के हिमाचल प्रदेश का विशेष राज्य का दर्जा बहाल कर दिया। अटल बिहारी वाजपेयी जी की सरकार ने हिमाचल प्रदेश को इंडस्ट्रियल पैकेज दिया था लेकिन कांग्रेस की सोनिया-मनमोहन सरकार ने आते ही हिमाचल प्रदेश से इस इंडस्ट्रियल पैकेज को छीन लिया।

जेपी नड्डा ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी जी ने प्रधानमंत्री रहते हुए हिमाचल प्रदेश में अटल टनल का शिलान्यास किया था। कांग्रेस की यूपीए सरकार आने पर 2004 से 2014 तक इस प्रोजेक्ट पर कोई प्रगति नहीं हुई। जब 2014 में केंद्र में  नरेन्द्र मोदी सरकार का गठन हुआ तो माननीय प्रधानमंत्री ने इस योजना को तेज गति से पूरा करवाया और उन्होंने इसे राष्ट्र को समर्पित किया। अटल जी का इस प्रोजेक्ट से बहुत ही इमोशनल कनेक्ट था। यह उनका एक ड्रीम प्रोजेक्ट था। अटल जी बार-बार कहते थे कि इस टनल का पत्थर, उनके दिल पर गड़ा पत्थर है। रेणुका बांध परियोजना का भी शिलान्यास आदरणीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया है। कोलडैम और पार्वती प्रोजेक्ट का भी काम 20 वर्षों से अटका हुआ था जो नरेन्द्र मोदी सरकार में पूरा हुआ है। दिसंबर 2021 में आदरणीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हिमाचल आये थे। तब उन्होंने प्रदेश में लगभग 11,000 रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया था। लुहरी डैम का निर्माण भी तेज गति से हो रहा है और 2025 तक यह बन कर तैयार हो जाएगा।

हिमाचल प्रदेश में प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में जारी विकास यात्रा की चर्चा जारी रखते हुए जेपी नड्डा ने कहा कि सिरमौर में लगभग 392 करोड़ रुपये की लागत से इंडियन इंस्टीटयूट ऑफ मैनेजमेंट का निर्माण हो रहा है। लगभग 1400 करोड़ रुपये की लागत से बिलासपुर में एम्स का निर्माण हो रहा है। कुल्लूू सहित प्रदेश में 9 जगहों पर ट्रॉमा सेंटर्स का निर्माण हो रहा है। साथ ही शिमला, चंबा, हमीरपुर और नाहन में चार नए मेडिकल कॉलेज बने हैं। नेशनल हाइवे का काम हमारी सरकार में हुआ है।

जेपी नड्डा ने कहा कि स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट 50-50 के रेशो में केंद्र और राज्य के सहयोग से चलने वाला प्रोजेक्ट है लेकिन हिमाचल प्रदेश में 500 करोड़ रुपये के स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में नरेन्द्र मोदी सरकार 450 करोड़ रुपये अर्थात् प्रोजेक्ट का 90 प्रतिशत राशि दे रही है जबकि हिमाचल प्रदेश को इसमें केवल 50 करोड़ रुपये ही अपनी ओर से देने होंगे। विगत पांच साल में भाजपा की  जयराम ठाकुर सरकार में हिमाचल प्रदेश में प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत 6,148 किमी की सड़क बनी। भाजपा की जयराम ठाकुर सरकार ने हिमाचल प्रदेश में माननीय प्रधानमंत्री के दिशानिर्देशन में विकास की नई कहानी लिखी है और हमारी सरकार को जनता का भरपूर समर्थन मिल रहा है।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि उज्ज्वला योजना, सौभाग्य योजना, स्वच्छ भारत अभियान, उजाला योजना, जन-धन योजना आदि योजनाओं ने महिला सशक्तिकरण की मजबूत बुनियाद रखी है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत देश के लगभग 80 करोड़ लोगों को पिछले दो वर्षों से मुफ्त आवश्यक राशन दिया जा रहा है। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने भी माना है कि इससे भारत में अत्यधिक गरीबी को 1 प्रतिशत  के भीतर रखने में मदद मिली है। वर्ल्ड बैंक के अनुसार  नरेन्द्र मोदी सरकार में भारत में अत्यंत गरीबों की संख्या में 12.3 फीसदी की कमी आई है। नरेन्द्र मोदी सरकार के कोरोना प्रबंधन की पूरी दुनिया में तारी हो रही है। युद्धग्रस्त यूक्रेन से किसी भी देश ने अपने बच्चों को नहीं निकाला लेकिन ये माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  की दृढ़ इच्छाशक्ति और अपने नागरिकों के लिए उनकी संवेदनशीलता थी जिसके बल पर उन्होंने भीषण लड़ाई के बीच भारत के लगभग 2,3000 छात्रों को निकाला और उनकी सुरक्षित वतन वापसी कराई।

जेपी नड्डा ने कहा कि महात्मा गांधी जीवन पर्यंत खादी को अपनाने का संदेश देते रहे लेकिन कांग्रेस ने कभी खादी को लोगों से जोडऩे के लिए कोई कदम नहीं उठाया। माननीय प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर आज खादी देश का $फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स बन गया है। पिछले वित्त वर्ष में खादी ग्रामोद्योग ने लगभग 1.15 लाख करोड़ का रिकॉर्ड कारोबार किया। आजादी के बाद से खादी उत्पादों की इतनी बिक्री आज तक नहीं हुई। भारत अब एक एक्सपोर्ट हब के रूप में प्रतिष्ठित हो रहा है। पिछले वित्त वर्ष में भारत ने 400 अरब डॉलर से अधिक का निर्यात किया जो अब तक एक साल में सर्वाधिक है। दुनिया की तमाम आर्थिक रेटिंग एजेंसियों ने भारत के विकास दर को 8 प्रतिशत से ऊपर बताया है, यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में बदलते भारत का परिचायक है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने युवाओं को इनोवेशन और स्टार्ट-अप के लिए प्रेरित किया। पहले देश के नौजवान रोजगार की बात करते थे लेकिन आज वे जॉब क्रियेटर बन गए हैं।  नरेन्द्र मोदी सरकार आने से पहले देश में केवल 500 स्टार्ट-अप्स ही थे लेकिन आज लगभग 68,000 स्टार्ट-अप्स देश में काम कर रहे हैं जिसमें से 100 तो यूनिकॉर्न में शामिल हो गए हैं।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष हाल ही में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा में संपन्न हुए विधान सभा चुनावों की चर्चा करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, मणिपुर और गोवा में भाजपा की भव्य जीत ने यह स्पष्ट कर दिया है कि जनता परिवारवाद की राजनीति से ऊपर उठ चुकी है तथा उसने जातिवाद, क्षेत्रवाद एवं तुष्टिकरण की राजनीति को सिरे से खारिज करते हुए राष्ट्रवाद और विकासवाद की यात्रा के साथ चलने का निश्चय कर लिया है। उत्तर प्रदेश में पहली बार किसी की सरकार 37 साल बाद लागातार दोबारा बनी है। उत्तर प्रदेश में पहली बार कोई मुख्यमंत्री पांच साल का कार्यकाल सफलतापूर्वक पूरा कर दोबारा पूर्ण बहुमत से जनता के आशीर्वाद से मुख्यमंत्री पद पर आसीन हुआ है। यह भी पहली बार हुआ कि जिस पार्टी ने यूपी में लगभग 40 साल तक शासन किया, वह यूपी में 387 सीटों पर जमानत जब्त करा बैठी जबकि उन्होंने यूपी की 399 सीटों पर चुनाव लड़ा था। आम आदमी पार्टी ने 377 सीटों पर चुनाव लड़ा, हर सीट पर उसके उम्मीदवार की जमानत जब्त हुई। इतना ही नहीं, उत्तराखंड में पहली बार किसी पार्टी की सरकार लगातार दोबारा दो-तिहाई बहुमत से चुन कर सत्ता में आई है। उत्तराखंड में ‘आम आदमी पार्टीÓ की 70 में से 68 सीटों पर जमानत जब्त हो गई। मणिपुर में भाजपा ने पहली बार अपने दम पर सरकार बनाई। गोवा में हमने लगातार तीसरी बार सरकार बनाई है और वह भी पिछली बार की तुलना में अधिक सीटों के साथ। गोवा में भी अधिकांश सीटों पर आम आदमी पार्टी की जमानत जब्त हुई। अब हिमाचल प्रदेश और गुजरात की बारी है। मुझे पूर्ण विश्वास है कि यहां भी हमें जनता का भरपूर आशीर्वाद मिलेगा और प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी  के नेतृत्व में प्रचंड बहुमत के साथ कमल खिलेगा और भाजपा की सरकार बनेगी।