ब्रेकिंग न्यूज़

भारत से लगाव

भारत से लगाव

भावनाओं का संवेग जब शब्द के साँचे में ढलता है तब सृजन का दीप जलता है। सात समन्दर पार अमेरिका में रहने वाले भारतीय परिवार अपने वतन की माटी और सांस्कृतिक परिपाटी से कितना लगाव रखते हैं कितना अनुराग और कितना भाव रखते है सुधा ढींगरा  द्वारा लिखी गई ‘मेरा दावा है’ नामक यह कृति इसकी एक झांकी है जो प्यारी और अद्भुत है।  ‘मेरा दावा ह’ कविता-संकलन में कुल 35 कवियों एवं कवित्रियों की 86 कविताएं हैं जो जीवन की रंग-बिरंगी अनुभुतियों और संवेदनाओं का इन्द्रघनुष अंकित करती हैं।

23

 

इस विभिन्नता में एकता का आधार यह है कि ये सभी भारतीय कवि-कवित्रियां हैं तथा सभी के पास भारतीय मन चिन्तन है। वह अमेरिका की आकर्षक दुनिया में गुम नहीं होता। भारत से हजारों किलोमीटर दूर रहते हुए भी वह भारत के बारे में सोचता रहता है। इस पुस्तक में लिखी गई कविताओं का महत्व इसकी कला में न होकर निश्चल अभिव्यक्ति में है जो इन्हें अमेरिका के तनावग्रस्त जीवन से कुछ क्षणों के लिए मुक्त कराती है। डॉ. सुधा ढींगरा द्वारा संपादित यह काव्य-संकलन हिन्दी साहित्य की एक अनूठी

पुस्तक है जिसकी प्रत्येक रचना शब्द के द्वार पर संवेदना की दस्तक है। यह पुस्तक पाठकों को अत्यंत प्रेरित करेगी।

उदय इंडिया ब्यूरो

Leave a Reply

Your email address will not be published.