ब्रेकिंग न्यूज़

राज्यसभा में डॉ. सुधांशु त्रिवेदी की नई पारी

राज्यसभा में डॉ. सुधांशु त्रिवेदी की नई पारी

भाजपा के राष्टीय प्रवक्ता डॉ.  सुधांशु त्रिवेदी जो अपनी प्रभावशाली वाक शैली के लिए विख्यात है, हाल ही में उत्तर प्रदेश से राज्यसभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित हुए हैं।  यहां यह बताना आवश्यक है कि पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन के पश्चात राज्यसभा की एक सीट खाली हुई थी और इस  सीट को भरने के लिए भाजपा ने सुधांशु त्रिवेदी को अपना उम्मीदवार बनाया था। यहां यह बता दे कि सपा, कांग्रेस और बसपा के किसी भी उम्मीदवार ने नामांकन दाखिल नहीं किया था।  9 अक्टूबर  को नाम वापसी का समय बीतने के बाद निर्वाचन अधिकारी ने एक मात्र उम्मीदवार सुधांशु त्रिवेदी को निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिया। इस मौके पर विधि एवं न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक, नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन गोपाल, मनीष दीक्षित सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

डॉ. त्रिवेदी भाजपा के उन नेताओं में से एक है, जो कठिन से कठिन समय में मीडिया के सामने पार्टी की बातों को रखते है। उन्हें भारत के सभी राष्ट्रीय पत्र-पत्रिकाओं तथा न्यूज चैनलों में पार्टी की बातों को रखते हुए पाया जा सकता है। यह बताना महत्वपूर्ण होगा कि 2014 के लोकसभा चुनाव में डॉ. त्रिवेदी ने भाजपा के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। वह राष्ट्रीय नीति, राजनीति, समाज और विशेष रूप से भारतीय जनता पार्टी के वैचारिक पहलुओं के मुद्दों को मीडिया के सामने रखने के लिए प्रसिद्ध हैं

सुषमा स्वराज, अरुण जैटली और वर्तमान  गृहमंत्री और  भाजपा अध्यक्ष अमित शाह जैसे  प्रमुख नेताओं के साथ उन्होंने पार्टी की मीडिया और कम्युनिकेशन की टीम का नेतृत्व किया। 2019 के लोकसभा चुनावों में, वे मीडिया और साहित्य समिति के सदस्य के साथ-साथ राजस्थान के सह-प्रभारी भी थे। डॉ. सुधांशु त्रिवेदी लखनऊ, उत्तर प्रदेश के निवासी हैं। बड़ी ही अल्प-आयु में उन्होंने राजनीति में कदम रखा। उन्होंने इंजीनियरिंग का अध्ययन किया और मैकेनिकल इंजीनियरिंग में पीएचडी की उपाधि प्राप्त की। डॉ. त्रिवेदी कई विश्वविद्यालयों में प्रोफेसर भी रहे हैं।

(उदय इंडिया ब्यूरो)

Leave a Reply

Your email address will not be published.