ब्रेकिंग न्यूज़ 

पीएम की फिरकी

पीएम की फिरकी

पीएम मोदी की गुगली से ज्यादा घातक उनकी फिरकी है। कांग्रेस समेत समूचा विपक्ष पीएम का मूड़ पढऩे में लगा था। भाई लोगों को लग रहा था कि नोटबंदी पर पीएम डिफेंसिव हैं, सदन में आएंगे ही नहीं! लिहाजा राज्यसभा में पीएम को बुलाने की मांग के साथ-साथ जोरदार हंगामा हुआ। हंगामा चलता रहा और अचानक पीएम राज्यसभा में एक घंटे से अधिक समय तक बैठ गए। बोले कुछ नहीं और चले गए। विपक्ष ने फिर पीएम को बुलाने की मांग तेज की। नारा भी लगाया और दो दिन बाद फिर पीएम आकर बैठ गए। अब भला विपक्ष क्या करता, लिहाजा मुद्दा बदलकर हंगामा करने लगा।



पक रही है खिचड़ी


2

अखिलेश और राहुल के बीच में खिचड़ी पक रही है। कांग्रेस का एक तबका बिना गठबंधन के यूपी चुनाव में जाने के पक्ष में नहीं है। रहा-सहा विश्वास पीके डगमगा आये हैं। वहीं सपा में शिवपाल भी चाहते हैं कि गठजोड़ हो जाए। शिवपाल महासंग्राम के दौरान चौधरी अजीत सिंह, शरद यादव, केसी त्यागी से मिल आये थे। कांग्रेस नेताओं से भी वार्ता कर रहे थे। लिहाजा राहुल गांधी और अखिलेश यादव का कार्यालय सक्रिय है। वहीं मुलायम के दिल, दिमाग, जुबान पर सब अलग-अलग रहता है। आगे का हल समय बाबा बताएंगे।



मंत्री जी भी हैरान


1

पीएम मोदी के ऑपरेशन नोटबंदी ने विपक्ष की ही नहीं बल्कि सबकी नींव हिला दी है। झोले वाले फकीर को कुछ भाजपा नेताओं और मंत्रियों के भीतर बड़ी हलचल का आभास हो गया था। अचानक पीएम को कुछ मंत्रियों के बारे में भी भनक लग गई। उन्हें पता चला है कि कुछ ने लाखों रुपये के पुराने नोट खाते में जमा करवाए हैं। लिहाजा पीएम न खाऊंगा, न खाने दूंगा के रास्ते पर आ गये हैं। उन्होंने सभी सांसदों, नेताओं व मंत्रियों को अपने खाते का ब्यौरा देने को कह दिया है। जब से यह फरमान आया है, कई की हैरानी और खुसफुसाहट दोनों बंद हो गई है।



मुकाबले की चौकड़ी


4

भाजपा अपने मुकाबले में कहीं भी बसपा को नहीं मानती। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की नजर में नम्बर एक दुश्मन सपा है, लेकिन पूरा ऑपरेशन बसपा को तोडऩे में लगा है। सतीशचंद्र मिश्र की भतीजी और बृजेश पाठक के जरिये कोशिश जारी है। वहीं सपा को बसपा का हर वार अखर रहा है। वह मुकाबले में भाजपा को मानती ही नहीं। यही स्थिति कांग्रेस की भी है वह मुकाबले में केवल भाजपा को मान कर चल रही है। जबकि मायावती को साफ नजर आ रहा है कि मुलायम का छोरा गद्दी से हटेगा, वह बैठेंगी।


аудит сайта онлайнлобановский александр досье

Leave a Reply

Your email address will not be published.