ब्रेकिंग न्यूज़ 

वादे-इरादे

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी
सरकार का एक ही मजहब होता है – इंडिया फस्र्ट। सरकार का एक ही धर्मग्रन्थ होता है – भारत का संविधान। सरकार की एक ही भक्ति होती है – भारत भक्ति। सरकार की एक ही शक्ति होती है – जनशक्ति। सरकार की एक ही पूजा होती है – सवा सौ करोड़ देशवासियों की भलाई। सरकार की एक ही कार्यशैली होती है – सबका साथ, सबका विकास।
राजनाथ सिंह
एक ओर पूरी दुनिया बच्चों के नरसंहार पर मातम माना रही है, वहीं दूसरी ओर पाकिस्तान की अदालत आतंकियों को जमानत दे रही है, और वह भी पेशावर नरसंहार के ठीक दो दिन बाद। यह पाकिस्तान की आतंक के खिलाफ लड़ाई की पोल खोलती है।असम की घटना एक आतंकी कार्य है और हम इससे उसी तरह से निपटेंगे। जो कुछ भी कारवाई करने की जरूरत होगी, हम करेंगे।

अमित शाह

बीजेपी जबरन धर्मांतरण के खिलाफ है, इसलिए हम कानून लाना चाहते हैं। तथाकथित धर्मनिरपेक्ष दलों को भाजपा की पहल का समर्थन करना चाहिए। इस विषय पर राजनीतिक दलों में सहमति बनने पर ही इस पर सार्वजनिक चर्चा की जा सकती है।यह चुनाव उस सरकार को बाहर का रास्ता दिखाने के लिए है जिसने जाटों के हत्यारों को मुआवजा दिया। यह बदला लेने और इज्जत बचाने के लिए होने जा रहा है।

(चुनावों के दौरान उत्तर प्रदेश की एक सभा में)

मोहन भागवत
हमारा देश एक हिंदू राष्ट्र है और अब हिंदू जागृत हो रहे हैं। जो भी व्यक्ति हिंदू धर्म से भटका है, उसे घर वापस लाएंगे। जो लोग अन्य धर्मों से हिंदू धर्म में वापसी का विरोध कर रहे हैं, उन्हें पहले हिंदू धर्म को छोड़ अन्य धर्मों को अपनाने वालों पर रोक लगानी चाहिए। अगर आप इसे पसंद नहीं करते तो इसके खिलाफ कानून बनाईए। अगर आप हिंदू नहीं बनना चाहते तो आपको भी हिंदुओं का धर्म नहीं बदलना चाहिए। हमारा रुख दृढ़ है।यदि इंग्लैंड के लोग इंग्लिश हैं, जर्मनी के लोग जर्मन हैं, अमेरिका के लोग अमेरिकी हैं, तो हिंदुस्तान के सभी लोग हिंदू के रूप में क्यों नहीं जाने जाते।
सुषमा स्वराज
भारत की पहचान ही यही है कि हमारा देश अलग-अलग संस्कृतियों को खुद में समा लेता है। साथ ही यह देश विवधता में एकता के सिद्धान्त को अपनाकर उन संस्कृतियों को फलने-फूलने की अनुमति भी देता है। मौजूदा समस्या का समाधान यही है कि हम दूसरी संस्कृतियों के लिए रास्ता खोलें।
अशोक सिंघल
जंगल में रहने वाले लोगों को ईसाई बनाकर उनके हाथ मे बंदूक थमा दी जाती है, ऐसे लोगों को वापस लाना जरूरी है। यह सरकार हिंदुओं की रक्षा करने वाली सरकार है।
राहुल गांधी
यदि भाजपा है तो हिंसा होगी। यदि भाजपा आई तो 22 हजार लोग मारे जाएंगे, क्योंकि वे क्रोध फैलाते हैं। यह भय हमारी जिंदगी में भी है।
(चुनावों के दौरान)
शाजिया इल्मी
मुस्लिमों को ‘अपनी भलाई के लिए सांप्रदायिक बनना चाहिए।’
(चुनावों के दौरान)
सुब्रह्मण्यम स्वामी
हम लोग हिन्दुस्तानी है। हम किसी भी धर्म के हों लेकिन हमारे पूर्वज हिन्दू ही थे। हिन्दुस्तान के सभी लोगों का एक ही डी.एन.ए. है।

отзыв Topodincrm маркетинг

Leave a Reply

Your email address will not be published.