ब्रेकिंग न्यूज़ 

आचमन का महत्व

आचमन का महत्व

By श्रीप्रकाश शर्मा

आर्यावर्त की पावन वसुंधरा चौरासी करोड़ देवी-देवताओं की जन्मभूमि है और उन देवी-देवताओं की पूजा-अर्चना हमारे आध्यात्मिक वरदायी जीवन, अलौकिक सुख एवं मृत्योपरांत मोक्ष का प्रवेश द्वार माना जाता है। पूजा-पाठ से लेकर धार्मिक कर्मकांड के सभी विधि-विधानों के पूर्व जल से आचमन की पुराणी धार्मिक परंपरा सनातन से चली आ रही है। यह पूजा तथा सभी धार्मिक कर्मकांडों की सबसे जरुरी विधि मानी जाती है। लिहाजा यह जिज्ञासा का विषय है कि आखिर आचमन क्या होता है और यह धार्मिक एवं अनुष्ठानिक विधानों एवं कर्मकांडों की एक महत्वपूर्ण विधि क्यों मानी जाती है?

मान्यता यह है कि धार्मिक और अन्य अनुष्ठानिक विधि-विधानों में आचमन आत्मशुद्धि के लिए किया जाता है। यह साधक को पूजा के पूर्व तन-मन से शुद्ध करने के लिए किया जाता है। यह एक भक्त के मन की एकाग्रता के लिए भी अनिवार्य होता है। इसके अंतर्गत पूजा के पूर्व शुद्धिकरण के लिए तांबे या अन्य धातु के पात्र में रखे जल को आचमन से यजमान को मंत्रोच्चारण के साथ दिया जाता है। आचमन पूजा में प्रयुक्त होने वाला तांबे का एक छोटा-सा पात्र होता है। यजमान तांबे के पात्र से जल का याचमन करते हैं, अर्थात पीते हैं और हस्त प्रक्षालन करते हैं। वे कुछ जल को अपने सिर पर भी छिड़क लेते हैं।

13-12-2014

आचमन का विधान वह अनुष्ठानिक विधि है जो एक साधक को अन्दर तथा बाहर से शुद्ध कर उनकी मनोदशा को पूजा के योग्य बनाता है। धार्मिक मान्यता है कि जब हम आचमन के जल को पीते हैं तो इसकी मात्रा इतनी कम होती है कि यह हमारे हृदय में स्थित ज्ञान चक्र तक ही सीमित रहता है, जिसका गूढ़ अर्थ यह है कि एक आराधक अब विचार तथा भाव से एवं तन एवं मन से पूरी तरह शुद्ध हो गया है और वह अब सम्पूर्ण समर्पण, गहरी एकाग्रता तथा सच्ची निष्ठा एवं भाव से पूजा के अनुष्ठानों को सम्पन्न कर सकता है। जल से ही आचमन के भी निहित कारण हैं। ऐसी धार्मिक मान्यता है कि जल पृथ्वी पर सबसे पवित्र पदार्थ होता है और यह प्रथम पूज्य भी है। साथ ही यह शरीर जिन पांच तत्वों से निर्मित होता है उनमें जल भी एक महत्वपूर्ण अवयव होता है। इसीलिए जल से आचमन करके एक यजमान स्वंय को ईश्वर को समर्पित कर देता है और सांसारिक द्वेष-भाव तथा अन्य वैचारिक विकृतियों से मुक्त हो सोने जैसा खरा हो जाता है।

кисти макияжподать объявление на slando

Leave a Reply

Your email address will not be published.