ब्रेकिंग न्यूज़ 

नमो: तुलसी कल्याणी

नमो: तुलसी कल्याणी

नमो: तुलसी कल्याणी
नमो: विष्णुप्रिये शुभे
नमो: मुख्य प्रदयेदेवी
नमो: समपत् प्रदयानि

भारत की धर्म और संस्कृति में तुलसी का एक अनूठा स्थान है। तुलसी सिर्फ एक साधारण पेड़ नहीं है। हमारे पुराणों में लिखा है कि जिसकी कोई तुलना नहीं वो है तुलसी। चाहे घर हो, मंदिर हो अथवा व्यावसायिक क्षेत्र, तुलसी मां की उपस्थिति हर स्थान को पवित्र बना देती है। अगर हमारे घर के सामने तुलसी की हर रोज पूजा हो और हर शाम अगर हम तुलसी मां के सामने दीया जलाते हैं तो उस परिवार को कभी भी किसी प्रकार का कष्ट नहीं होता। तुलसी को पवित्र और सबसे शुभ माना जाता है। वैसे तो तुलसी के बिना भगवान कृष्ण की पूजा अधूरी मानी जाती है। जब हम घर से निकलते हैं, तब जिस मिट्टी पर तुलसी का पौधा उगा होता है, उस मिट्टी को माथे पर लगाने से शुभ योग बन है। तुलसी मां की कृपा से धन, संपत्ति और लक्ष्मी की प्राप्ति होती है। वैज्ञानिक दृष्टि से तुलसी के पौधे के कई औषधिय गुण हैं। तुलसी के पत्ते का सेवन करने से ठंड, खांसी, बुखार इत्यादि में लाभ होता है। सुबह और शाम को चाय में तुलसी का पत्ता डालकर पीने से हर तरह की बीमारी में लाभ मिलता है। तुलसी की पूजा हिन्दू समाज का अभिन्न अंग है। घर के सामने तुलसी के जितने पौधे होंगे वायुमंडल उतना ही प्रदूषण-मुक्त होगा। तुलसी मन, शरीर और घर-समाज को पवित्र रखती है।

теннис турнир атртранзакционными

Leave a Reply

Your email address will not be published.