ब्रेकिंग न्यूज़

मुलायम, अखिलेश के बीच में शिवपाल बने कांटा

मुलायम, अखिलेश के बीच में शिवपाल बने कांटा

मुलायम सिंह की अंतिम इच्छा शिवपाल को अखिलेश की समाजवादी पार्टी में लाने की है। मुलायम सिंह चाहते हैं कि छोटी बहू अपर्णा यादव और दूसरे बेटे प्रतीक को भी समाजवादी पार्टी में जगह मिल जाए। वहीं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव केवल पिता की सेवा में लगे हैं। शिवपाल को उम्मीद है कि मुलायम सिंह के रहते यदि एक बार भीतर आ गए तो सब ठीक हो जाएगा। इसके लिए वह तैयार भी हैं, लेकिन शिवपाल का यह सपना कब पूरा होगा कहा नहीं जा सकता। पार्टी के कई बड़े नेता चाहते हैं कि चाचा-भतीजा को एक हो जाना चाहिए। एक होने पर ही 2022 में भाजपा को टक्कर  दी जा सकती है। वैसे भी बुआ और भतीजा दोनों अब अलग रास्ते पर हैं। कांग्रेस पार्टी के साथ भी समाजवादी पार्टी का अनुभव अच्छा नहीं था। इसलिए समाजवादी वोटों की एकता जरूरी है। इन सबके बीच टीम अखिलेश को लग रहा है कि यदि इसी तरह की स्थिति बनी रही तो चाचा शिवपाल के साथ उनका राजनीतिक दल भी अप्रासंगिक हो जाएगा। लिहाजा अखिलेश केवल टाइम पास कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.