ब्रेकिंग न्यूज़ 

गुणों की खान चीकू

गुणों की खान चीकू

चीकू में 71 प्रतिशत पानी, 1.5 प्रतिशत प्रोटीन, 1.5 प्रतिशत वसा और 25 प्रतिशत कार्बोहाईड्रेट होता है, साथ ही इसमें विटामिन ए और विटामिन सी की अच्छी मात्रा मौजूद होती है। चीकू में 14 प्रतिशत शर्करा, फास्फोरस, लौह तत्व के साथ-साथ क्षार का भी कुछ अंश प्राप्त होता है।

आम को फलों का राजा कहा जाता है, लेकिन चीकू भी गुणों के मामले में उससे पीछे नहीं है। अगर चीकू के गुणों पर नजर डाली जाए तो पता चलता है कि सेहत की दृष्टि से चीकू कितना फायदेमंद है। चीकू स्वाद में जीतना मीठा होता है, उसके गुण भी स्वास्थ्य के लिए उतने ही फायदेमंद हैं। भोजन के बाद अगर इसका सेवन किया जाए तो निश्चित तौर पर ये लाभ प्रदान करता है। जानिए चीकू के प्रकृतिक गुणों को –

  • आखों के लिए चीकू बहुत लाभदायक है। इसमें विटामिन ए काफी अच्छी मात्रा में पाया जाता है, जो कि बुढ़ापे में होने वाली आखों की समस्याओं को दूर रखता है।
  • सोर्स ऑफ एनर्जी कहे जाने वाले चीकू में ग्लूकोज मौजूद होता है, जो शरीर को तुरंत ऊर्जा प्रदान करता है। जो लोग रोज व्यायाम या कसरत करते हैं, उन्हें ऊर्जा की बहुत जरूरत होती है। इसलिए उन लोगों को रोज चीकू का सेवन करना चाहिए।
  • चीकू में विटामिन ए और बी के साथ एंटीऑक्सिडेंट, फाइबर और अन्य पोषक तत्व भी पाए जाते हैं, जो कैंसर से बचाते हैं। चीकू में मौजूद विटामिन ए फेफड़ों और मुंह के कैंसर से बचाता है।
  • चीकू में कैल्शियम, फास्फोरस और आयरन की अतिरिक्त मात्रा पाई जाती है, जो हड्डियों के लिए आवश्यक होते हैं। कैल्शियम, आयरन और फास्फोरस होने की वजह से हड्डियों को बढऩे और मजबूती देने में चीकू बहुत लाभदायक होता है।3
  • चीकू में लैक्सटिव तत्व पाया जाता है, जो कब्ज में राहत दिलाता है और अन्य संक्रमण से लडऩे की शक्ति प्रदान करता है।
  • चीकू गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद होता है। गर्भवस्था के दौरान होने वाली मितली और चक्कर जैसी दिक्कतों को यह कम करता है।
  • चीकू में हेमोसटाटिक प्रॉपर्टीज के गुण भी विद्यमान होते हैं, जो शरीर में होने वाले रक्त के नुकसान से बचाते हैं। इससे बवासीर और शरीर के जख्म जल्दी भरते हैं।
  • चीकू में ऐंटी-डायरियल के गुण पाए जाते हैं। चीकू को पानी में उबाल कर बनाए गए काढ़े को पीने से दस्त और पेचिस में राहत मिलती है।
  • चीकू सर्दी खासी में राहत पहुंचाता है। यह श्वसन तंत्र से कफ और बलगम निकाल कर पुरानी खासी में राहत देता है।
  • चीकू के बीजों को पीसकर प्रयोग करने से गुर्दे की पथरी खत्म होती है, साथ ही गुर्दे के अन्य रोगों से भी राहत मिलती है।
  • चीकू में गैस्ट्रिक एंजाइम खत्म करने की ताकत होती है, जिससे पाचन तंत्र मजबूत बनता है और मोटापा भी नियंत्रित होता है।
  • चीकू त्वचा को चमकदार बनाने में मदद करता है। इसमें विटामिन ई पाया जाता है, जो त्वचा को नमी देता है। इससे त्वचा स्वस्थ और सुंदर बनी रहती है।
  • चीकू के बीज से निकाला गया तेल बालों को मॉइस्चराइज और सॉफ्ट करके बालों को नई चमक देता है। यह घुंघराले बालों के लिए बहुत अच्छा होता है।
  • चीकू के बीज का तेल सिर की त्वचा को पोषक और स्वस्थ बनाता है। यह बालों को झडऩे से रोकता है, साथ ही बालों को बढऩे में भी मदद करता है।
  • चीकू के बीज को पीसकर पेस्ट बना लें और उसमें अरंडी का तेल मिलाकर सिर की त्वचा पर लगाने से बाल चमकदार और डैन्ड्रफ मुक्त हो जाएंगे।
  • चीकू में ऐंटीऑक्सीडेंट अच्छी मात्रा में पाया जाता है, जिसके चलते ये फ्री रेडिकल्स को रोकने की ताकत रखता है। इसकी वजह से त्वचा झुर्रियों से मुक्त रहती हैं।
  • चीकू के पौधे का दूधिया रस त्वचा को फंगल से बचाता है।

प्रीति ठाकुर

english in dutchтелеканал возрождение владимир мунтян

Leave a Reply

Your email address will not be published.