ब्रेकिंग न्यूज़ 

कोरोनाकाल में कैसे बढ़ायें इम्यूनिटी

कोरोनाकाल में कैसे बढ़ायें इम्यूनिटी

पूरी दुनिया इस समय कोरोनावारस नाम के एक अदृश्य दुश्मन से लड़ रही है। कोविड 19 नाम के इस वायरस से लडऩे के लिए जरूरी है कि आपकी इम्यूनिटी स्ट्रॉन्ग  हो। ऐसे में ज्यादातर लोग इस बात को लेकर ही दुविधा में हैं कि क्या खाएं और क्या नहीं।  बहुत से आयुर्वेदिक काढ़ों के बारें में बताया जा रहा है, लेकिन इम्यूनिटी बूस्टर काढ़ा अगर आप जरूरत से ज्यादा पी लेते हैं, तो इसका आपके शरीर पर गलत असर हो सकता है।  इसलिए चलिए जानते हैं कि कौन से इम्युनिटी बूस्टर फल आपकी सेहत को रखेंगे दुरुस्त।

 

कीवी

कीवी में नींबू और संतरा से भी अधिक विटामिन सी मौजूद होता है। इसमें ऐसे खास गुण होते हैं, जो शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। इस खट्टे फल में विटामिन सी की मात्रा इतनी अधिक होती है कि इसे खाने से शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली पर सकारात्मक असर पड़ता है। कीवी में विटामिन सी के अलावा ई भी होता है। साथ ही इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स होने के कारण रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ावा मिलता है और फ्री रैडिकल्स से होने वाले साइड एफेक्ट्स से भी शरीर को दूर रखता है। इससे इम्यून सिस्टम मजबूत बना रहता है।

7

आंवला

आंवला में भी विटामिन सी सबसे अधिक होता है। यह इम्यूनिटी को मजबूत करने के साथ ही बालों, त्वचा और कई सेहत संबंधित समस्याओं से भी बचाए रखता है। आप इसकी चटनी बनाकर खाएं या कच्चा या फिर जूस पिएं, हर तरह से शरीर को फायदा होगा। आंवला विटामिन सी का मुख्य स्रोत है, साथ ही इसमें आयरन, एंटीऑक्सीडेंट्स, फोलेट आदि भरपूर होता है। इम्यूनिटी को बूस्ट करना चाहते हैं, तो एक दिन में एक या आधा आंवला जरूर खाएं।

 

4

ऑरेंज और नींबू

ये विटामिन सी युक्त खाद्य फूड्स अभी उपभोग करने के लिए जरूरी हैं। इनमें हाई विटामिन सी पाया जाता है जो एक इम्यूनिटी बूस्टर का काम करते हैं। इनका रोजाना सेवन करने से ये आपको हाइड्रेट रखने में भी मदद कर सकते हैं। इसके सेवन के लिए कच्चा संतरा या इसका रस लें। हर दिन नींबू का पानी पिएं या अपने सलाद और अन्य भोजन पर नींबू का रस छिडक़ें।

 

1

बादाम व छुआरा वाला दूध

 

दोनों ही इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने के लिए रामबाण ड्राई फ्रूट हैं। इनका भिगाकर सेवन करने पर यह काफी फायदेमंद होता है। रात को इसे दूध के साथ लेने से सेहत के साथ-साथ नींद भी अच्छी आती है। इसे बनाना काफी आसान है। इसे बनाने के लिए आप भीगे हुए 3-4 बादाम व छुआरे लें। अब इसे ब्लेंडर में थोड़े दूध के साथ अच्छे से पीस लें। फिर बाकी का दूध डाल कर अच्छे से ब्लेंड कर लें। अब इसे गिलास में डालकर नाश्ते व रात में सोने से पहले पीएं।

3

हल्दी

 

हल्दी आपके किचन के लिए और सेहत के लिए बराबर रूप से जरूरी है। हल्दी गुणों का भंडार है। इसमें एंटीमाइक्रोबियल, एंटीबायोटिक, एंटीइंफ्लेमेटरी और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं। यह अर्थराइटिस से लेकर इंफेक्शन तक सभी के इलाज में सहायक होती है। रात को हल्दी वाला दूध पीना आपकी इम्युनिटी को स्ट्रांग बनाता है।

2

व्हीटग्रास

 

व्हीटग्रास जिसे गेहूं के जवारे भी कहते हैं, पोषक तत्वों से युक्त भोजन है जो क्लोरोफिल, बीटा कैरोटीन, विटामिन सी, विटामिन बी कांपलेक्स, अमीनो एसिड, कैल्शियम, पोटेशियम और     मैग्नीशियम से भरपूर है। व्हीटग्रास लीवर और इम्यून फंक्शन के लिए पोषक संबंधी लाभो से भरपूर है, क्योंकि यह विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने और शरीर को शुद्ध करने के लिए लीवर की क्षमता को बढ़ाने में सहायक होता है।

 

 

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए ये उपाय भी हैं फायदेमंद

 

 

जल

यह प्राकृतिक औषधि है। प्रचुर मात्रा में शुद्ध जल के सेवन से शरीर में जमा कई तरह के विषैले तत्व बाहर निकल जाते हैं और प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। पानी या तो सामान्य तापमान पर हो या फिर थोड़ा कुनकुना। फ्रिज के पानी के सेवन से बचें।

 

अंकुरित अनाज

अंकुरित अनाज (जैसे मूंग, मोठ, चना आदि) तथा भीगी हुई दालों का भरपूर मात्रा में सेवन करें। अनाज को अंकुरित करने से उनमें उपस्थित पोषक तत्वों की क्षमता बढ़ जाती है। ये पचाने में आसान, पौष्टिक और स्वादिष्ट होते हैं।

 

सलाद

भोजन के साथ सलाद का उपयोग अधिक से अधिक करें। भोजन का पाचन पूर्ण रूप से हो, इसके लिए सलाद का सेवन जरूरी होता है। ककड़ी, टमाटर, मूली, गाजर, पत्तागोभी, प्याज, चुकंदर आदि को सलाद में शामिल करें। इनमें प्राकृतिक रूप से मौजूद नमक हमारे लिए पर्याप्त होता है।

 

चोकर सहित अनाज

गेहूं, ज्वार, बाजरा, मक्का जैसे अनाज का सेवन चोकर सहित करें। इससे कब्ज नहीं होगी तथा प्रतिरोध क्षमता चुस्त-दुरुस्त रहेगी।

(उदय इंडिया ब्यूरो)

Leave a Reply

Your email address will not be published.