ब्रेकिंग न्यूज़ 

देश में वैक्सीन पर हो रही सियासत का भारत बायोटेक ने दिया जवाब

देश में वैक्सीन पर हो रही सियासत का भारत बायोटेक ने दिया जवाब

स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सीन को डीसीजीआई से आपातकालीन इस्तेमाल की मंज़ूरी क्या मिली की विपक्षी नेताओं ने सवाल उठाने शुरू कर दिए. चूंकि आम जन वैज्ञानिक तथ्यों से अनभिज्ञ होते हैं, तो उन्हे वैक्सीन के मुद्दे पर भ्रमित करने का प्रयास किया जा रहा है. इसे देखते हुए आईसीएमआर के साथ मिलकर कोवैक्सीन तैयार करने वाली कंपनी भारत बायोटेक ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर डाटा छिपाने के आरोपों से साफ इंकार किया और अहम तथ्यों को सामने रखते हुए स्पष्ट किया की उनकी वैक्सीन का क्लीनिकल ट्रायल 12 देशों में हो रहा है और इन ट्रायल्स के डाटा पर 5 आर्टिकल अंतरराष्ट्रीय मेडिकल जर्नल में प्रकाशित हो चुके हैं. स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने भी कहा है कि ऐसे अहम मसले का राजनीतिकरण करना गलत है.

पूरी दुनिया जिस कोरोना वैक्सीन का इंतजार कर रही है और उसे लगवाने के लिए करोड़ों करोड़ लोग टकटकी लगाए बैठे हैं, ऐसी दो-दो वैक्सीन भारत में तैयार होने वाली हैं. वैक्सीन को आपातकालीन मंजूरी मिल चुकी है और लोगों को ये लगनी अभी शुरू नहीं हुई है लेकिन कुछ राजनीतिक दल इस पर सियासत करने पर लग गए हैं. अब भारत की स्वदेशी वैक्सीन कोवैक्सीन तैयार करने वाली भारत बायोटेक ने तमाम आरोपों पर करारा पलटवार किया है. कंपनी के सीएमडी डाक्टर कृष्णा ऐला ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके डाटा छिपाने के आरोपों से साफ इंकार किया और कहा कि उनकी वैक्सीन का क्लीनिकल ट्रायल 12 देशों में हुआ है और अंतरराष्ट्रीय मेडिकल जरनल में पांच आर्टिकल प्रकाशित हो चुके हैं.

कंपनी का कहना है कि भारत बायोटेक केवल भारत की नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय कंपनी है और 123 देशों में काम कर रही है. कंपनी का कहना है कि उसने आज तक कई और बड़ी महामारियों के लिए 16 वैक्सीन में अहम योगदान दिया है. भारत बायोटेक का कहना है कि वो दुनिया की एकमात्र कंपनी है, जिसके पास बीएसएल 3 उत्पादन व्यवसथा है. उन्होंने डाटा छिपाने के आरोपों से इंकार किया और कहा कि केवल भारत ही नहीं ब्रिटेन और अमेरिका में भी क्लीनिकल ट्रायल चल रहा है. कंपनी का कहना है कि आपातकालीन इस्तेमाल की इजाजत दुनिया के बाकी देशों में भी एफीकेसी ट्रायल के बगैर दी जाती है.

गौरतलब है कि कांग्रेस के कुछ नेताओं ने वैक्सीन की मंजूरी पर सवाल उठाए थे. अब बीजेपी ने वैक्सीन पर सियासत को दुखद बताते हुए कांग्रेस के साथ साथ अखिलेश यादव पर निशाना साधा है. पार्टी का कहना है कि वैक्सीन आने से देश खुश हैं लेकिन कुछ दल परेशान हैं.

कांग्रेस और खासकर राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि उनसे उनका खुद का घर नहीं संभल पा रहा है और देश की वैक्सीन पर सवाल उठा रहे हैं. पार्टी का कहना है कि देश जब भी कोई उपलब्धि हासिल करता है, कांग्रेस सवाल उठाती हैं क्योंकि पार्टी को केवल गांधी परिवार पर ही भरोसा है. उन्होंने कहा कि ये दल वैक्सीन पर सवाल उठाकर वैज्ञानिकों के आत्मबल को तोड़ने में लगे हैं.

गौरतलब है कि अखिलेश की पार्टी के ही एक नेता तो यहां तक कह गए कि इस टीके से लोग नपुंसक भी हो सकते हैं. हालांकि DCGI ने इन सब बातों को बकवास करार दिया था.

सियासत अपनी जगह है कि लेकिन वैक्सीन हमारे देश के वैज्ञानिकों की कड़ी मेहनत का परिणाम है और स्वदेशी वैक्सीन दुनिया में भारत का मान बढ़ा रही है ऐसे में ऐसी सियासी सोच मानवता के हित में नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.