ब्रेकिंग न्यूज़ 

भ्रष्ट की खैर नहीं

भ्रष्ट की खैर नहीं

‘मोदी सरकार’ के पहले साल का ट्रैक रिकॉर्ड अच्छा रहा। न तो सरकार ने खाया और न खाने दिया। सुना है अब बारी उनकी है जिन्होंने खा लिया है। यानी यूपीए सरकार के दौरान मौज करने वाले लोगों की। सरकारी एजेंसियां इन दिनों उनके कारनामों की पड़ताल करने में जुटी हैं ताकि भ्रष्टों के चेहरे सामने लाए जाएं। एक तरफ कांग्रेस पहले से ही फंडिग की मार झेल रही है, दूसरी तरफ सरकार के इस कदम से उसकी हालत और भी पतली होने वाली है। बताते हैं स्विस बैंक से जब कुछ और भारतीयों के नाम सामने आएंगे तो कुछ कांग्रेसी करीबियों की मुसीबत बढऩी तय है। खैर ये तो मोदीजी हैं, न तो खाते हैं और न ही खाने देते हैं।

наносить бронзер фотоdutch language

Leave a Reply

Your email address will not be published.