ब्रेकिंग न्यूज़ 

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना से निपटने के लंबे संघर्ष में जुट जाने का आग्रह किया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोरोना से निपटने के लंबे संघर्ष में जुट जाने का आग्रह किया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोविड महामारी की रोकथाम में डॉक्टरों और अन्य चिकित्सा कर्मियों के प्रयासों की सराहना की है। हालांकि उन्होंने प्रयासों में संतुष्ट हो जाने के खिलाफ आगाह किया और ग्रामीण क्षेत्रों पर विशेष ध्यान देते हुए कोरोना से निपटने के लंबे संघर्ष में जुट जाने का आग्रह किया। प्रधानमंत्री कल वीडियो कांफ्रेंस के जरिए उत्तर प्रदेश के वाराणसी में डॉक्टरों और अधिकारियों से बातचीत कर रहे थे। श्री मोदी ने कोविड प्रबंधन के लिए एक नया मंत्र दिया- जहां बीमार, वहीं उपचार। प्रधानमंत्री ने कहा कि रोगी को घर पर ही उपचार सुलभ कराने से स्वास्थ्य प्रणाली पर पड़ने वाला बोझ कम होगा। उन्होंने कोविड प्रबंधन के लिए छोटे-छोटे संक्रमण क्षेत्र बनाने और घर तक दवा पहुंचाने की पहल की सराहना की। श्री मोदी ने स्वास्थ्य कर्मियों से इस अभियान को ग्रामीण क्षेत्रों में व्यापक रूप देने का अनुरोध किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि डॉक्टर, प्रयोगशालाओं और ई-मार्किटिंग कंपनियों को साथ लाने की काशी-कवच नामक सुविधा एक नवाचारी पहल है।

प्रधानमंत्री ने गांव में कोविड के प्रबंधन में आशा और ए.एन.एम. बहनों की महत्वपूर्ण भूमिका पर बल दिया। श्री मोदी ने कहा कि दूसरी लहर के दौरान अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ता सुरक्षित ढंग से लोगों की सेवा करने में सक्षम है क्योंकि उन्हें पहले ही कोविड रोधी टीका लग चुका है। उन्होंने हर व्यक्ति से बारी आने पर टीका लेने का आग्रह किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों में लागू की गई योजनाओं और अभियानों से कोरोना महामारी से निपटने में मदद मिली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.