ब्रेकिंग न्यूज़ 

तूफान यास से ओडिसा और पश्चिम बंगाल में भारी तबाही, राहत और पुनर्वास अभियान जारी

तूफान यास से ओडिसा और पश्चिम बंगाल में भारी तबाही, राहत और पुनर्वास अभियान जारी

ओडिसा में वर्षा और विनाशकारी तूफान लाने के बाद चक्रवात यास अब झारखंड की ओर बढ़ने लगा है। ओडिसा में राहत और बचाव कार्य युद्धस्तर पर चल रहे हैं और बिजली आपूर्ति बहाल करने तथा सड़कों को साफ करने का काम तेजी से चल रहा है।

हालांकि इस समुद्री तूफान से बिजली आपूर्ति और दूर संचार नेटवर्क को बहुत नुकसान नहीं हुआ है, लेकिन निचले इलाकों में और विशेष रूप से भद्रक, बालेश्वर और मयूरभंज जिलों में पानी भर जाने से और पेड़ों के गिर जाने से बड़े पैमाने पर क्षति हुई है।

छह लाख लोगों को प्रभावित इलाकों से निकालकर सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया था। इस प्रकार कई लोगों की जान बचाई गई है। बालेश्वर और क्योंझर जिलों में एक-एक व्यक्ति की मौत की खबर भी है।

इस बीच भुबनेश्वर में बीजू पटनायक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर शाम से उड़ान सेवा फिर शुरू हो गई है। चक्रवात से निपटने की तैयारियों के कारण हवाई अड्डों को कुछ घंटों के लिए बंद कर दिया गया था।

तूफान यास उत्‍तर-पश्चिम की ओर बढकर कमजोर पड गया है। मौसम विभाग ने बताया कि यास से अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, ओडिसा तथा पश्चिम बंगाल सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं।

मौसम विभाग के महानिदेशक मृत्‍युंजय महापात्रा ने बताया कि ओडिसा में सर्वाधिक वर्षा दर्ज की गई। उन्‍होंने बताया कि चक्रवाती तूफान ताऊ-ते का प्रवाह एक हजार आठ सौ किलोमीटर रहा जबकि यास का प्रवाह एक हजार किलोमीटर तक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.