ब्रेकिंग न्यूज़ 

गुणकारी लीची

गुणकारी लीची

लीची गर्मियों का एक प्रमुख फल है। स्वाद में मीठा और रसीला होने के साथ ही ये सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद है। लीची में कार्बोहाइड्रेट, विटामिन सी,  विटामिन ए और बी कॉम्प्लेक्स भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसके अलावा इसमें पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस और आयरन जैसे मिनरल्स भी पाए जाते है। गर्मियों में आने वाले ज्यादातर फलों में पानी की मात्रा अच्छी होती है। ठीक इसी तरह लीची में भी पानी की भरपूर मात्रा होती है। लीची में विटामिन सी, पोटेशियम मिलती है। यह शरीर और पेट को ठंडक देती है।  एक नजर लीची के इन्हीं गुणों पर :-

लीची आपकी इम्यूनिटी के लिए बहुत अच्छी है। इसे खाने से आप अपने शरीर की इम्यूनिटी पावर को बढ़ा सकते हैं। लीची में बीटा कैरोटीन, नियासिन, राइबोफ्लेविन और फोलेट भरपूर होता है। यह सभी चीजें बॉडी के इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने में मददगार होती हैं।

रोजाना लीची खाने से चेहरे पर निखार आता है और बढ़ती उम्र के लक्षण कम नजर आते हैं। इसके अलावा ये शारीरिक विकास को भी प्रोत्साहित करने का काम करता है। लीची को बतौर फल ही नहीं खाया जाता, इसका जूस और शेक भी बहुत पसंद किया जाता है। जैम, जैली, मार्मलेड, सलाद और व्यंजनों की गार्निशिंग के लिए भी लीची का इस्तेमाल किया जाता है। छोटी-सी लीची में कार्बोहाइड्रेट, विटामिन सी, विटामिन ए और बी कॉम्प्लेक्स, पोटेशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, आयरन जैसे खनिज लवण पाए जाते हैं, जो इसे काफी फायदेमंद बना देते हैं।

लीची एक अच्छा ऐंटीऑक्सिडेंट भी है। इसमें मौजूद विटामिन सी हमारे शरीर में रक्त कोशिकाओं के निर्माण और लोहे के अवशोषण में भी मदद करता है, जो एक प्रतिरक्षा प्रणाली को बनाए रखने के लिए जरूरी है। रक्त कोशिकाओं के निर्माण और पाचन-प्रक्रिया में सहायक लीची में बीटा कैरोटीन, राइबोफ्लेबिन, नियासिन और फोलेट काफी मात्रा में पाया जाता है।

वायरल बीमारियां तब होती है जब आपकी पाचन शक्ति कमजोर होने के कारण रोगों से लडऩे की शक्ति कमजोर हो जाती है, जिसके कारण आपका शरीर बीमारियों से लडऩे में असमर्थ होता है। लीची में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का गुण होता है साथ ही यह आपके पाचन को सुधारते हुए आपके शरीर को इस लायक बनाती है कि वह खुद इन बीमारियों से लड़ सके और स्वस्थ रहे।

लीची में एंटी-ऑक्सीडेंट एवं विटामिन सी होने के कारण यह आपको हृदयाघात यानी हार्ट अटैक जैसी स्थिति आने से बचने में सहयोगी होती है। इसमें विटामिन सी होने के कारण रक्त वाहिनियों को संकुचित होने से रोकती है जिसके कारण रक्त का संचार सामान्य बना रहता है साथ ही यह बल्य होने के कारण शरीर एवं हृदय को बल प्रदान करने में भी सहयोगी होती है।

रक्त के परिसंचरण के लिए भी लीची के एंटी-ऑक्सीडेंट और विटामिन सी गुण काफी उपयोगी होते है क्योंकि विटामिन सी में रक्त वाहिनियों को संकुचित होने से बचाने का गुण होता है जिसके कारण रक्त का संचार सामान्य बना रहता है साथ ही बल्य होने के कारण रक्त वाहिनियों को बल प्रदान करती है एवं उनमे रक्त के संचरण को सामान्य बनाये रखने में सहयोग देती है।

 

उदय इंडिया ब्यूरो

Leave a Reply

Your email address will not be published.