ब्रेकिंग न्यूज़ 

कैसे बचें गर्मी की चुभन से

कैसे बचें गर्मी की चुभन से

गर्मियां शुरू हो गई हैं और ऐसे में बहुत जरूरी है कि हम अपने खान-पान पर पूरा ध्यान रखें। खासतौर पर ऐसा खान-पान होना चाहिए जो कि शरीर को ठंडा रखे। गर्मियों में यदि आप पूरे दिन पसीना बहाते हैं, तो अक्सर थकान महसूस करते होंगे और ऊर्जा भी कम महसूस करते हैं। यह समय है आपके आहार को इस मौसम की जरूरतों के हिसाब से बदलने का। खासकर जब आप डाइट पर हों, तो अपने आहार में अधिक से अधिक मौसमी खाद्य पदार्थों को शामिल करें। गर्मी में हमें हमेशा वही खाना खाना चाहिए जो गर्मियों में ही उगाया जाता हो। इनमें प्राकृतिक रूप से अपने गुणों के कारण मौसम के अनुकूल हमारे शरीर को ज्यादा पोषण देने की शक्ति होती है। बढ़ते तापमान के कारण कई मौसमी बीमारियां भी अपना असर दिखा जाती हैं। इसलिए आपको इस मौसम में अपनी डाइट का काफी ख्याल रखना चाहिए। सुबह उठकर सबसे पहले अपना डाइट चार्ट बनाना चाहिए। जिसे आप पूरे दिन फॉलो करें। अगर डाइट पर कंट्रोल कर लेंगे तो बैचेनी और सुस्ती जैसी परेशानियों से छुटकारा पा सकते हैं। गर्मी में क्या पीना चाहिए यह जानना भी जरूरी है क्योंकि इस दौरान हमारे शरीर में पानी की कमी होना सामान्य है। बहुत से लोग गर्मियों की सब्जियां या गर्मी में खाने वाली सब्जियां क्या हैं यह खोजते हैं। गर्मी का मौसम हमारे लिए सुखद हो सकता है यदि हमें पता हो कि गर्मी के मौसम में क्या खाना चाहिए और क्या नहीं। सामान्य रूप से गर्मियों में फलों और सब्जियों का सेवन करना चाहिए। लेकिन कौन सी सब्जियां और फल?

 

 

तरबूज का सेवन गर्मियों में बेहद फायदेमंद है क्योंकि इसमें 92 प्रतिशत पानी की मात्रा होती है। गर्मियों में यह शरीर को ठंडा रखने और हाइड्रेट रखने में मदद करता है। इसमें मौजूद विटामिन ए, सी और लाइकोपीन खूब एंटी-ऑक्सिडेंट देता है जो कि कई बीमारियों की रोकथाम के लिए अच्छा है। कई पोषक तत्वों से भरपूर नारियल पानी भी शरीर को ठंडक देता है। इसमें इलेक्ट्रोलाइट्स पाए जाते हैं जो शरीर को डीहाइड्रेशन से बचाते हैं।

इसमें बहुत कम मात्रा में वसा, कोलेस्ट्रोल और क्लोराइट होते हैं जो शरीर के लिए फायदेमंद हैं। छाछ, लस्सी, नींबू पानी, नारियल पानी, फलों के जूस आदि का सेवन करना बहुत जरूरी है क्योंकि गर्मी की वजह से शरीर में पानी की कमी हो जाती है। रोज तीन से चार लीटर पानी जरूर पीना चाहिए। ऊर्जा और पानी के कमी को दूर करने के लिए ताजे फलों का जूस पीना चाहिए लेकिन पैकेज जूस पीने से बचना चाहिए। अल्कोहल और कैफीन का सेवन कर रहे हैं तो उसे कम कर दें उसक ी जगह ग्रीन टी का उपयोग कर सकते हैं। गर्मियों में गुलकंद डिहाइड्रेशन से बचाता है और शरीर में ठंडक भी पहुंचाता है। गुलकंद खाने से त्वचा तरोताजा रहती है और पेट भी ठंडा रहता है। इसमें विटामिन सी, विटामिन ई और विटामिन बी पर्याप्त मात्रा में पाये जाते हैं। गुलकंद में एंटीऑक्सीडेंट्स भी भरपूर मात्रा में होते है। एंटीऑक्सीडेंट शरीर की प्रतिरोधी क्षमता को बढ़ाता हैं और थकान को दूर करने में मदद करता है। गुलकंद पाचन संबंधी सभी समस्याओं को ठीक रखने में सहायक होता है। म_ा गर्मियों के दिनों में अमृत के समान माना जाता है।

मट्ठा कई सारे पौष्टिक गुणों से भरा हुआ है। साथ ही इसको पीने से शरीर की रोग- प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। गर्मी की वजह से अगर तुरंत शरीर को ठंडक पहुंचानी है तो मठ्ठा पियें। खाने के बाद मठ्ठा पीने से पाचन अच्छा बना रहता है। कैल्शियम के अलावा छाछ में प्रोटीन, विटामिन बी और पोटैशियम की प्रचुर मात्रा होती है, जो शरीर के स्वास्थ्य के लिए अच्छे माने जाते हैं। साथ ही इसे पीने से शरीर का इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है।

सब्जियां विशेष रूप से करेला, लौकी, गोल लौकी, परवल, टिंडा, कुंदरू, तुरई आदि इन दिनों अच्छी होती हैं, और इनमें सभी आवश्यक विटामिन और खनिज होते हैं। इसके अलावा खीरा, टमाटर, पालक, भिंडी, कद्दू, शिमला मिर्च, बैंगन, सलाद पत्ता भी खूब खाएं।

गर्मियों में अधिक मसालेदार भोजन का सेवन शरीर में गर्मी पैदा करता है, जिससे आप कई बीमारियों के शिकार हो सकते हैं। इसलिए गर्मी के मौसम में मिर्च, अदरक, काली मिर्च, दालचीनी और जीरा जैसे मसालों का सेवन या तो कम करें या फिर न करें।

चाय या कॉफी के शौकीन लोग किसी भी मौसम में परहेज नहीं करते हैं। कैफीन से शरीर में डीहाइड्रेशन (पसीना छूटना या अपर्याप्त सेवन की वजह से शरीर में खतरनाक मात्रा में तरल पदार्थ कम हो सकता है) बढ़ता है। और बहुत से लोग गर्मी में रेड मीट खाना पसंद करते हैं जो कि शरीर के लिए बहुत हानिकारक है। गर्मी में यदि आप ड्राई फ्रूट खाते हैं तो उसका भी सेवन आप ज्यादा मात्रा में न करें क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है।

 

अंकुश मांझू

Leave a Reply

Your email address will not be published.