ब्रेकिंग न्यूज़ 

कश्मीर में आतंकवादियों पर सेना का कहर शुरु

कश्मीर में आतंकवादियों पर सेना का कहर शुरु

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर(Jammu and Kashmir) में हिंदुओं की हत्या करने वाले आतंकवादियों के खिलाफ सेना का कहर जारी है। अनंतनाग(Anantnag) जिले में मुठभेड़ के बाद एक आतंकवादी को मार गिराया गया है। इसके अलावा रामबन(Ramban) क्षेत्र से एक आतंकी की गिरफ्तारी भी हुई है।

सेना लगातार कर रही है कांबिंग ऑपरेशन

अनंतनाग के ऋषिपोरा इलाके में सेना(Indian Army) ने सघन ऑपरेशन चलाते हुए एक आतंकी को मार गिराया है। इस इलाके में अभी भी 3 से 4 आतंकियों के छिपे होने की आशंका है। जिनकी तलाश की जा रही है। आतंकवादियों के खिलाफ शुक्रवार की रात से शुरु हुआ ऑपरेशन अब तक थमा नहीं है।
मारा गया आतंकवादी हिज्बुल मुजाहिदीन(Hizbul Mujahideen) से ताल्लुक रखता था। निसार खांडे नाम का ये आतंकवादी कमांडर लेबल का था। उसके पास से एक एके-47 रायफल, विस्फोटक और गोलाबारूद सहिद कई आपत्तिजनक सामान भी मिला है।

आतंकियों और सेना के बीच हुई गोलीबारी में तीन जवान और एक नागरिक घायल भी हुए हैं। जिन्हें श्रीनगर(Srinagar) स्थित 92 बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया है। फिलहाल सभी घायलों की हालत में सुधार आ रहा है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 5 महीनों में 50 से ज्यादा कश्मीरी लड़के आतंकी संगठनों में शामिल हुए हैं।

कश्मीरी हिंदुओं को किया जा रहा है सुरक्षित

सरकार ने तय किया है कि आतंकवादी संगठन सरकारी कर्मचारियों को खास तौर पर निशाना बना रहे हैं। इसलिए उन्हें सुरक्षित किया जाना चाहिए। इस नीति के तहत श्रीनगर में तैनात 177 कश्मीरी हिंदू शिक्षकों का तबादला सुरक्षित स्थानों पर किया गया है। यह आदेश गृहमंत्री अमित शाह(home minister Amit Shah) की बैठक के एक दिन बाद भेजा गया है।

खास बात ये है कि खुद पर लगातार हमलों से परेशान कश्मीरी हिंदू कर्मचारी लगातार अपने तबादले की मांग कर रहे थे। राहुल भट्ट की हत्या के बाद 6 हजार कर्मचारी अपने तबादले की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे।

गुरुवार को बिहार के एक प्रवासी मजदूर दिलखुश कुमार की भी हत्या कर दी गई थी।

गृहमंत्री ने अपने हाथों में ली थी कमान

जम्मू कश्मीर में हिंदू समुदाय के लोगों की लगातार हत्या के बाद केन्द्र सरकार एक्शन में आ गई थी। गृहमंत्री अमित शाह ने पहल करते हुए मामला अपने हाथों में लिया था।

उन्होंने शुक्रवार को बयान दिया था कि कश्मीरियों और गैर कश्मीरियों की सुरक्षा के लिए उच्च सुरक्षा व्यवस्था की जानी चाहिए। उन्होंने सुरक्षा बलों को आदेश दिया था कि वो आतंकवाद से प्रभावित संवेदनशील क्षेत्रों की पहचान करें और आतंकवाद विरोधी ग्रिड को पूरी तरह सक्रिय किया जाए। गृहमंत्री के मुताबिक आतंकवाद फैलाने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा और उन्हें किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.