ब्रेकिंग न्यूज़ 

रेप को बढ़ावा देने वाला Layer Shot का विज्ञापन बैन, टीवी और सोशल मीडिया से हटाने का आदेश

रेप को बढ़ावा देने वाला Layer Shot का विज्ञापन बैन, टीवी और सोशल मीडिया से हटाने का आदेश

नई दिल्ली: विज्ञापनों में बढ़ती अश्लीलता को लेकर सरकार ने सख्त कदम उठाया है। अब सरकार की नजर टीवी पर ही नहीं बल्कि यूट्यूब और ट्विटर जैसे डिजिटल माध्यमों पर भी है। ताजा मामला लेयर कंपनी के शॉट बॉडी स्प्रे का है। जो कि सामूहिक बलात्कार को बढ़ावा देता हुआ दिखाई देता है। जिसपर सरकार ने सख्त रुख अपनाया है।

सूचना प्रसारण मंत्रालय ने तत्काल लगाई रोक

लेयर कंपनी का शॉट डियोड्रेंट ( Layer’r Shot) का विज्ञापन दोहरे अर्थों वाला है। इसमें चार लड़के और एक लड़की है, जिनके बीच की बातचीत से लगता है कि जैसे वो लड़के मिलकर उस लड़की के साथ गैंगरेप करने वाले हैं। जिसकी वजह से ये विज्ञापन बेहद विवादित हो गया था।
इस विज्ञापन को लेकर दिल्ली महिला आयोग समेत कई संगठनों ने शिकायत दर्ज कराई थी। जिसके बाद सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने तत्काल प्रभाव से इस पर रोक लगा दी।

पहले तो इस विज्ञापन को टीवी पर चलने से रोका गया। उसके बाद यूट्यूब और ट्विटर जैसे डिजिटल माध्यमों पर भी इसे रोकने को लेकर आदेश जारी किया गया। इसके अलावा विज्ञापन से जुड़े नियमों के मुताबिक जांच भी कराए जाने का ऐलान किया गया है।

क्यों विवादित हुआ यह विज्ञापन

इस बॉडी स्प्रे (Body Spray) का विज्ञापन दोहरे अर्थों वाला है। इसमें दिखाया गया कि एक कमरे में तीन लड़के आते हैं। जहां बिस्तर एक जोड़ा पहले से ही बैठा हुआ है। जबकि तीनों लड़के बाहर से एंट्री करते हैं। उन्हें देखकर लड़की सहम जाती है। तभी बाहर से आए लड़के कमरे में मौजूद लड़के से पूछते हैं कि ‘तूने शॉट तो मारा होगा। इस बात से वहां मौजूद लड़की बेहद नाराज दिखाई देती है। जबकि उसके साथ मौजूद लड़का जवाब देता है कि हां मार लिया है। इसके बाद वे लड़के कहते हैं कि अब हम सबकी बारी है।

जिसके बाद वो किनारे रखी एक टेबल पर रखे पर्फ्यूम की बोतल की तरफ बढ़ जाते हैं। ये विज्ञापन पहली नजर में बेहद विवादित दिखाई देता है। साथ ही महिला विरोधी और पुरुषवादी मानसिकता को दिखाता है।

शॉट कंपनी ने दो विज्ञापन रिलीज किए थे। इसके दूसरे विज्ञापन में दिखाई देता है कि एक सुपर स्टोर में चार लड़के जाते हैं। जहां पर एक लड़की झुककर रैक से कुछ निकाल रही होती है। वो लड़के आपस में बात करते हैं कि ‘यहां तो एक ही है। शॉट कौन लेगा।’ वहां मौजूद लड़की बेहद नाराज होकर पीछे मुड़ती है तो देखती है कि वो लड़के पर्फ्यूम की बोतल की तरफ बढ़ रहे हैं।

विवादों से प्रचार पाने का तरीका बेहद गलत

ऐसा नहीं कि इस विज्ञापन को बनाने वाले नहीं जानते होंगे कि ये द्विअर्थी है। लेकिन उन्होंने जानबूझकर विवाद भड़काने का रास्ता चुना। जिससे कि उनका विज्ञापन प्रचार हासिल करे। ऐसा कई बार और दूसरे प्रोडक्ट्स के साथ किया जा चुका है। शॉट्स डियो का विज्ञापन भी उसी की एक कड़ी है।

हालांकि इस विज्ञापन को प्रतिबंधित कर दिया गया है। लेकिन उसे वो प्रचार तो मिल ही गया जिसकी उसे जरुरत थी। यही विज्ञापन बनाने वालों का मकसद भी था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.