ब्रेकिंग न्यूज़ 

बढ़ता जा रहा है कट्टरपंथियों का हौसला, जम्मू का ये वीडियो देखकर आपका खून खौल जाएगा

बढ़ता जा रहा है कट्टरपंथियों का हौसला, जम्मू का ये वीडियो देखकर आपका खून खौल जाएगा

जम्मू: नुपुर शर्मा (Nupur Sharma) और नवीन कुमार जिंदल (Naveen Jindal) द्वारा कथित रुप से इस्लाम के अपमान का मामला हर रोज नया रंग ले रहा है। अब इस मामले में एक नए मौलाना की एंट्री हुई है। इसका नाम है आदिल गफूर गनई, जो कि जम्मू के भद्रवाह जिले की मरकजी जामिया मस्जिद का मौलवी है। उसने जो बयान दिया है उसे लिखित रूप में पढ़िए-

‘गाय का पेशाब पीने वालों का, गोबर के अंदर नहाने वालों का, इनको तो हवा मिलत ही हमारी बरकत से मिलती है, इनको जो दरियाओं से पानी मिलता है हमारी बरकत से मिलती है, वर्ना इनका वजूद क्या है? अगर सरकार अजान का विरोध करने वालों, हिजाब का विरोध करने वालों की गर्दन नहीं पकड़ती है, तो हम उन लोगों की गर्दन काट देंगे। वो नुपूर शर्मा क्या उनके सर कहीं और धड़ कही और मिलेंगे? अगर प्रशासन इनका गला नहीं पकड़ेगा, तो हम गला काटने के लिए तैयार हैं।’

मौलवी आदिल गफूर के खतरनाक बयान का वीडियो देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

मौलवी के हिंसक बयानों पर ताली बजाते रहे लोग

इस आतंकी मौलाना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें साफ दिखाई दे रहा है कि कैसे आदिल गफूर गनई मरकजी जामिया मस्जिद (Jammu Mosque) की छत पर चढ़कर सैकड़ों लोगों की भीड़ को भड़का रहा है। लेकिन सबसे खतरनाक बात ये है कि उसके सामने खड़ी भीड़ में से एक भी शख्स ने इस कट्टरपंथी को रोकने की कोशिश नहीं की। बल्कि सब लोग तालियां बजाकर उसका उत्साह बढ़ाते रहे। यानी कि सामने खड़ी भीड़ भी उतनी ही कट्टर है जितना कि मौलवी अब्दुल गफूर गनई।

जो लोग इस कट्टरपंथी को तालियां बजाकर शह दे रहे हैं। वो उसकी भड़काऊ तकरीरों पर दंगा भी कर सकते हैं। मौलवी की बातों से ज्यादा खतरनाक है उसके सामने खड़ी भीड़ की प्रतिक्रिया, जो कि कभी भी किसी बड़े दंगे का कारण बन सकती है।

जम्मू में माहौल खराब

आदिल गफूर गनई का वीडियो पूरे देश में देखा जा रहा है। इसकी वजह से जम्मू का माहौल खराब हुआ है। मौलवी के बयान का विरोध करते हुए लोगों ने सड़क पर उतरकर प्रदर्शन भी किया। किसी तरह की अप्रिय घटना को रोकने के लिए इलाके में डोडा और किश्तवाड़ (Doda and Kishtwad) में कर्फ्यू लगा दिया गया है। सीआरपीएफ(CRPF) की तैनाती कर दी गई है। सेना(Indian Army) को भी फ्लैग मार्च करने के लिए बुलाया गया है। अफवाहों को फैलने से रोकने के लिए इंटरनेट(Internet) सेवा बंद कर दी गई है।

मौलवी आदिल गफूर गनई के खिलाफ भद्रवाह थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 295-ए (किसी भी धर्म के अपमान के इरादे से उपासना स्थलों का अपमान करना) और 506 (आपराधिक धमकी के लिए सजा) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

खबर लिखे जाने तक इस आतंकी मौलवी की गिरफ्तारी की कोई सूचना नहीं मिली है। जिसकी वजह से लोगों में भारी नाराजगी है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.