ब्रेकिंग न्यूज़ 

बेरोजगारी पर PM मोदी का प्रहार, मिलेगा 10 लाख लोगों को रोजगार

बेरोजगारी पर PM मोदी का प्रहार, मिलेगा 10 लाख लोगों को रोजगार

नई दिल्ली: देश में बढ़ती बेरोजगारी(Unemployment) को विपक्ष अक्सर मुद्दा बनाता रहा है। लेकिन अब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस समस्या को जड़ से खत्म करने का निश्चय कर लिया है। प्रधानमंत्री ने ट्विटर पर जानकारी दी है कि अगले डेढ़ सालों में युवाओं को 10 लाख सरकारी नौकरियां (Government Jobs) दी जाएंगी।

प्रधानमंत्री ने हाथ में ली कमान

देश के युवाओं को रोजगार देने के लिए पीएम मोदी ने(PM Modi) खुद अपने हाथों में कमान थाम ली है। उन्होंने सभी मंत्रालयों एवं विभागों में रोजगार देने के मौकों की समीक्षा की है। जिसके बाद आदेश जारी किया है कि अगले डेढ़ सालों में सभी रिक्तियां भर दी जाएं। प्रधानमंत्री ने सरकारी अमले को आदेश जारी किया है कि रोजगार देने के लिए मिशन मोड में काम किया जाना चाहिए।

ट्विटर पर दी है जानकारी

प्रधानमंत्री कार्यालय के द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक अगले डेढ़ सालों में केंद्र सरकार(Central Government) के सभी विभागों में 10 लाख रिक्तियां भरी जाएंगी। सभी खाली पड़े पदों पर 18 महीनों में भर्ती की प्रक्रिया पूरी कर दी जाएगी।

प्रधानमंत्री कार्यालय(PMO) के ट्विटर एकाउंट से इस बारे में ट्वीट किया गया है। जिसमें लिखा गया है कि ‘पीएम नरेंद्र मोदी ने सभी मंत्रालयों एवं विभागों में मानव संसाधन की समीक्षा की है। इसके साथ ही उन्होंने सरकार को आदेश दिया है कि अगले डेढ़ सालों में इस पर मिशन मोड में काम किया जाए और 10 लाख लोगों को भर्ती किया जाए।’

लंबे समय के बाद भर्ती की प्रक्रिया शुरु होगी

पिछले साल केन्द्रीय मंत्री जितेन्द्र सिंह ने राज्यसभा में बताया था कि केंद्र सरकार के विभागों में 1 मार्च, 2020 तक 8.72 लाख पद खाली थे।
खाली पड़े हुए पदों का ये आंकड़ा दो साल पहले का है। जो कि अब तक 10 लाख से भी उपर जा चुका है। इन्हीं खाली पदों पर जल्दी से जल्दी भर्ती के लिए पीएम मोदी ने आदेश जारी किया है।

केन्द्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह द्वारा राज्यसभा में दी गई जानकारी के मुताबिक-
– केंद्र सरकार के सभी विभागों में कुल 40 लाख 4 हजार पद हैं।

– इन विभागों में मार्च 2020 तक लगभग 31 लाख 32 हजार लोग काम कर रहे थे।

– आंकड़ों के मुताबिक मार्च 2020 तक 8.72 लाख पदों पर भर्ती की आवश्यकता थी।

– सरकार ने जानकारी दी है कि साल 2016-17 से 2020-21 के बीच में स्टाफ सेलेक्शन कमीशन के जरिए दो लाख चौदह हजार छह सौ एक(214601) कर्मचारियों की भर्तियां की गई।

– इसके अलावा रेल विभाग में आरआरबी(ail Recruitment Board) के जरिए दो लाख चार हजार नौ सौ पैंतालीस( 2,04,945) लोगों को नौकरियां दी गई।

– केन्द्र लोक सेवा विभाग (UPSC)के जरिए भी पच्चीस हजार दो सौ सरसठ (25,267) लोगों को नौकरियां मिली हैं।

एक केन्द्रीय नौकरी पर कम से कम पांच लोगों की निर्भरता के हिसाब से 10 लाख सरकारी नौकरियों के जरिए 50 लाख लोगों की जिंदगियों में सुधार आएगा। ये एक बड़ा आंकड़ा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 10 लाख नौकरी देने के ऐलान के बाद देश के युवाओं में खुशी की लहर है। बेरोजगारी से परेशान लोग नई भर्तियों की प्रक्रिया शुरु होने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

केन्द्रीय सूचना प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकर ने केन्द्र सरकार के इस ऐलान के बाद ट्वीट करते हुए इसे आत्मनिर्भर भारत बनाए जाने की दिशा मे एक बड़ा कदम करार दिया। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने समय के साथ सरकार को अधिक जिम्मेदार बनाया और सरकार का ध्यान अब लोगों पर केन्द्रित हो गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.