ब्रेकिंग न्यूज़ 

खत्म होगा गर्मी का प्रकोप, झमाझम बारिश के लिए हो जाइए तैयार

खत्म होगा गर्मी का प्रकोप, झमाझम बारिश के लिए हो जाइए तैयार

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi NCR) सहित पूरा उत्तर भारत भीषण गर्मी से तप रहा है। लेकिन यह सिलसिला लंबा नहीं चलेगा। जल्दी ही आसमान में बादल छाएंगे और राहत की बारिश शुरु हो जाएगी।

अगले तीन दिनों में बारिश की शुरुआत

वैसे तो देश में सामान्य से तीन दिनों पहले यानी 29 मई को ही केरल से मानसून (Monsoon in Kerala) की एंट्री हो चुकी है। हालांकि अभी तक ये उत्तर भारत की तरफ अभी तक नहीं पहुंच पाया है। लेकिन जल्दी ही गरज बरस के साथ बारिश की फुहारें शुरु होने वाली हैं।

फाइल फोटो

मौसम विभाग ने बताया है कि अगले तीन से चार दिनों में पश्चिमी हिमालयी क्षेत्र(West Himalayan Range) और आसपास के मैदानी इलाकों यानी पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़ और दिल्ली और राजस्थान में गरज के साथ बारिश होने की संभावना है। पश्चिमी विक्षोभ अपना काम कर रहा है, जिसकी वजह से दिल्ली और आस पास के इलाकों में 16 से 18 जून तक बारिश होने लगेगी।

हालांकि मानसून के देश के पूर्वी इलाकों तक पहुंचने में अभी तोड़ा समय और लगेगा। यानी पूर्वी उत्तर प्रदेश(Uttar Pradesh), बुंदेलखंड, दक्षिण पश्चिम बिहार और झारखंड में लू का प्रकोप कुछ और दिनों तक जारी रह सकता है।

अभी कहां पहुंचा है मॉनसून

समय से तीन दिन पहले मानसून शुरु होने के बावजूद बीच में इसकी गति धीमी पड़ गई थी। क्योंकि पाकिस्तान(Pakistan) से आ रही गर्म हवाओं ने इसका रास्ता रोक दिया था। देश में घुसने के 15 दिनों बाद मानसून गुजरात, महाराष्ट्र, मराठावाड़ा, विदर्भ, तेलंगाना और कर्नाटक की तरफ बढ़ चला था। मौसम विभाग ने जानकारी दी है कि 14 जून की दोपहर तक मानसून ने महाराष्ट्र के आधे पश्चिमी हिस्सा, गुजरात के दक्षिणी और तेलंगाना के पश्चिमी हिस्सों को कवर कर लिया था।

अब यह अगले दो से तीन दिनों में उत्तर भारत के ज्यादातर हिस्सों तक पहुंच जाएगा। हालांकि 14 जून तक देश में सामान्य से 36 फीसदी कम बारिश देखी गई है। लेकिन एक बार जब जोर शोर से बरसात शुरु हो जाएगी, तब सारी कसर पूरी हो जाएगी।

पूर्वोत्तर भारत में बारिश बनी मुसीबत

जहां उत्तर भारत बारिश के लिए तरस रहा है, वहीं उत्तर पूर्व (North East India) के राज्यों में भारी बारिश की वजह से बाढ़ और भूस्खलन हो रहा है। असम में 13 जून से लगातार बारिश देखी जा रही है। यहां बाढ़ और भूस्खलन से अब तक 42 लोगों की मौत हो चुकी है।
गुवाहाटी के सारे स्कूल कॉलेज भारी बारिश की वजह से बंद किए जा चुके हैं। कई जगहों पर घुटने तक पानी भरा हुआ है। मौसम विभाग ने असम और मेघालय (Asam and Meghalaya) में भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया है। यहां गुरुवार यानी 16 जून तक कई जगहों पर भारी बारिश होने की आशंका जताई जा रही है।


असम में बाढ़ प्रभावित लोगों को मदद पहुंचाने के लिए दो राहत शिविर खोले गए है। गुवाहाटी में पिछले 24 घंटों में 81.5 मिली मीटर तक बारिश हो चुकी है। भारी बरसात होने की वजह से असम के कामाख्या, खारघुली, हेंगेराबाड़ी, सिलपुखुरी, उजान बाजार, गांधी बस्ती और चांदमारी कॉलोनी शहर में 19 जगहों पर भूस्खलन की खबरें मिली हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.