ब्रेकिंग न्यूज़ 

शिंजो आबे के देहांत से पीएम मोदी बेहद दुखी, देश में एक दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा

शिंजो आबे के देहांत से पीएम मोदी बेहद दुखी, देश में एक दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा

नई दिल्ली: जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई है। उन्हें शुक्रवार की सुबह एक हमलावर ने गोली मार दी थी। कई घंटों तक जीवन और मौत के बीच झूलने के बाद आखिरकार वह दुखद खबर आ ही गई। जिसे कोई भी सुनना पसंद नहीं कर रहा था। शिंजो आबे ने अपना पार्थिव शरीर छोड़ दिया।

भारत में एक दिन का राष्ट्रीय शोक

शिंजो आबे भारत के लिए बेहद अहम थे। वो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बेहद करीबी दोस्त थे। पीएम मोदी ने शिंजो आबे के देहांत पर गहरा दुख जताया है। उन्होंने 9 जुलाई यानी शनिवार को भारत में एक दिन के राजकीय शोक की घोषणा की।

बस यादें बाकी रह गईं

पीएम मोदी से शिंजो आबे की दोस्ती बेहद पुरानी है। जब वह गुजरात के मुख्यमंत्री थे तभी शिंजो से उनकी दोस्ती की नींव पड़ी थी। अपने पुराने दोस्त को गंवाने के बाद पीएम मोदी के दुख की सीमा नहीं है। उन्होंने हाल ही में शिंजो आबे के साथ खींची गई अपनी एक फोटो शेयर की।

भारत के लिए शिंजो के योगदान को याद किया

पीएम मोदी ने भारत के विकास में दिवंगत शिंजो आबे के योगदान को याद किया। उन्होंने कहा कि ‘शिंजो आबे के नेतृत्व में भारत और जापान के संबंधों ने स्पेशल स्ट्रैटेजी और ग्लोबल पार्टनरशिप की दिशा में नई ऊंचाईयों को छुआ। उनके निधन के बाद पूरा भारत अपने जापानी भाईयों के साथ उनके शोक में भागीदार है।’

प्रधानमंत्री ने याद किया कि उनकी ताजा जापान यात्रा के दौरान शिंजो आबे के साथ उनकी कई मुद्दों पर चर्चा हुई। वो बेहद हंसमुख और दूरदर्शी थे। लेकिन मैं जानता नहीं था कि यह उनके साथ मेरी आखिरी मुलाकात है। मेरी हार्दिक संवेदनाएं शिंजो आबे के परिवार और जापान के लोगों के साथ है।

शिंजो भारत की बहुलतावादी संस्कृति और अनेकता में एकता से वह बेहद प्रभावित थे।यही वजह है कि प्रधानमंत्री बनते ही शिंजो आबे ने भारत से संबंध बढ़ाना शुरु किया। नरेन्द्र मोदी के शासनकाल में तो शिंजो आबे भारत आने का कोई मौका चूकते ही नहीं थे। दोनों नेताओं की दोस्ती के चलते भारत और जापान के रिश्ते बेहद गहरे हो गए थे। शिंजो आबे को पूरे देश की तरफ से भावपूर्ण श्रद्धांजलि…

शिंजो आबे के दिल में भारत बसता था। यहां क्लिक करके पढ़िए भारत के विकास में शिंजो आबे का क्या योगदान था-

शिंजो आबे की हत्या कैसे हुई? उन्हें गोली लगने के बाद घटनाक्रम कितनी तेजी से बदला? इस बारे में जानने के लिए यहां क्लिक करें-

Leave a Reply

Your email address will not be published.