ब्रेकिंग न्यूज़ 

प्रदेश में सुशासन का शतक

प्रदेश में सुशासन का शतक

प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में बनी भाजपा सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के सौ दिन सफलतापूर्वक पूरे कर लिए हैं और सरकार के सभी मंत्री अपना सौ दिन का रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत कर रहे हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दूसरे कार्यकाल में प्रदेश सरकार की उपलब्धि यह भी रही कि आजमगढ़ और रामपुर के लोकसभा चुनावों में भाजपा की शानदार विजय हुई, विधान परिषद में कांग्रेस शून्य हो गई और समाजवादी दल से नेता प्रतिपक्ष का पद भी चला गया है।

प्रदेश का जनमानस बार -बार योगी सरकार की बुलडोजर नीति पर अपनी मुहर लगाकर संदेश दे रहा है। प्रदेश में आज बुलडोजर नीति के कारण अपराधियों में भय है जिसके कारण बहुत से अपराधी खुद जाकर थाने में आत्मसमर्पण कर रहे हैं। आज अपराधियों को अच्छी तरह से पता है कि अगर उन्होंने कोई गलती की तो बुलडोजर चलना तय है। अभी कानपुर सहित कुछ जिलों में नुपूर शर्मा विवाद की आड़ में कुछ अराजक तत्वों ने प्रदेश का वातावरण खराब करने का प्रयास किया अब वह लोग उसका परिणाम भुगत रहे हैं। प्रदेश में कानून का राज स्थापित होने के कारण ही प्रदेश में निवेश बढ़ रहा है। प्रदेश में पाक्सो एक्ट के तहत भी अपराधियों को तीव्र गति के साथ सजा दिलायी जा रही है। जिसके कारण आज प्रदेश की महिलाएं व बच्चे अपने आपको सुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सुशासन एक्सप्रेस पर सवार होकर सेवा भावना से ओतप्रोत एवं सुरक्षा की गारंटी के साथ गतिमान हैं। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में अपने उज्ज्वल भविष्य को संवरते देखकर किसान, युवा, मजदूर और महिला वर्ग उत्साहित हैं। श्रेष्ठ नीति और नीयत के साथ योगी आदित्यनाथ जी की टीम प्रदेश को विकास के पथ पर आगे ले जा रही है वहीं दूसरी ओर प्रदेश का विपक्ष निराशा के अंधकार में डूबकर लगातार गलतियां कर रहा है और धराशायी हो रहा है।

मुख्यमंत्री ने रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत करते समय कहा कि, ‘भाषण पर विश्वास नहीं, जो कहा सो किया।’ यही कारण है कि आज प्रदेश प्रगति के पथ पर दौड़ रहा है तथा विकास के साथ-साथ पौधरोपण भी हो रहा है जिसके कारण आज प्रदेश में हरियाली का क्षेत्रफल भी बढ़ रहा है। एक जिला एक उत्पाद की योजना की चर्चा आज पूरे विश्व में हो रही है। अभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने विदेशी दौरे में प्रमुख विदेशी राजनेताओं को उत्तर प्रदेश के उत्पाद उपहार में दिए।

प्रदेश के मुख्यमंत्री दावा कर रहे हैं कि सौ दिन में दस हजार लोगों को सरकारी नौकरी दी जा चुकी है। तीसरी ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में 80 हजार करोड़ की परियोजनाओं का शिलान्यास हुआ। एक लाख 50 हजार उद्यमियों-कारीगरों को 16 हजार करोड़ रुपए का लोन वितरण किया गया है। 12 हजार करोड़ रुपए से अधिक का गन्ना भुगतान किया जा चुका है। 17 लाख युवाओं को स्मार्टफोन व टैबलेट दिए जा चुके हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात यह रही कि अब बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हाल ही में उसका लोकार्पण कर चुके हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की लोकप्रियता का सबसे बड़ा कारण यह है कि वह बिना कुछ कहे समान नागरिक संहिता को लागू कर रहे हैं। योगी सरकार ने भ्रष्टाचार और अपराधियों के खिलाफ जीरो टालरेंस की नीति को आगे बढ़ा दिया है और अब प्रदेश में कानून का राज स्थापित है। प्रदेश में जिस किसी ने भी कानून व्यवस्था के साथ खेलने का प्रयास किया है उसके विरूद्ध त्वरित कानूनी कार्रवाई की गयी है धार्मिक स्थलों पर लगे 1,20,000 से अधिक लाउड स्पीकरों की आवाज या तो कम की गयी या फिर बिना हो हल्ला और बिना किसी प्रतिरोध के उन्हें हटवाया गया है। यह जन विश्वास का प्रतीक है कि समाज के प्रत्येक वर्ग के लोगों ने इस काम का पूरा समर्थन किया है। सड़क पर नमाज बंद हो गयी है तथा सौ दिनों में माफिया-अपराधियों की 844 करोड़ की अवैध संपत्ति को जब्त किया जा चुका है।

प्रदेश में अमृत महोत्सव अभियान के अंतर्गत अमृत तालाबों का निर्माण किया जा रहा है जिससे गांवों में मनरेगा योजना के तहत रोजगार को बढ़ावा भी मिल रहा है। आज प्रदेश में कोई भी क्षेत्र ऐसा नहीं है जहां पर विकास की गंगा न बह रही हो। प्रदेश सरकार तीव्र गति के साथ लोगों को उनके घर का सपना पूरा करने में भी सहयोग कर रही है प्रधानमंत्री आवास योजना और मुख्यमंत्री आवास योजना में गरीबों के घरों का निर्माण तेज गति से हो रहा है तथा जल्द ही एक लाख ग्रामीणों को अपने घर की चाबी मिलने जा रही है।

योगी सरकार 2.0 में भी किसानों की आय को दोगुनी करने के लिए लगातार कदम उठा रही है। सरकार ने बंजर, बीहड़ भूमि को कृषि योग्य बनाने के लिए पंडित दीनदयाल उपाध्याय किसान समृद्धि योजना के लिए 602 करोड़ रूपए स्वीकृत किए हैं। पीएम किसान सम्मान निधि भी सभी किसानों को समय पर मिल रही है। जिलों में 54 कृषि कल्याण केंद्र स्थापित हो गए हैं।

स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी प्रदेश गतिशक्ति योजना के साथ प्रगति के पथ पर अग्रसर है। एक जनपद एक मेडिकल कालेज की योजना लगातार आगे बढ़ रही है। सरकार ने स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए 108 एंबुलेस सेवा में 812 नई एंबुलेंस गाड़िया षामिल की है। प्रदेश भर में आरोग्य मेलों का आयोजन किया जा रहा है।

योगी सरकार अपनी नई सोच और अथक परिश्रम के जिस मार्ग पर अग्रसर है वह उत्तर प्रदेश की छवि को समृद्ध और गौरवशाली बनाने में कारगर साबित हो रहा है। यहां युवाओं को नौकरी मांगने वाला की बजाय उनमें उद्यमिता का भाव भरकर उन्हें नौकरी देने लायक बनाने में भी सफलता मिली है। ईज आॅफ डूइंग बिजनेस के अंतर्गत 189 पदों एवं ईज आॅफ लिविंग के 21 पदों की कार्यवाही पूर्ण हो चुकी है। आज प्रदेश दुग्घ उत्पादन सहित कई क्षेत्रों में नम्बर वन बन चुका है। ईज आफ डूडंग बिजनेस में प्रदेश को अचीवर्स स्टेट का स्थान मिला है। प्रदेश में देश का सबसे लम्बा गंगा एक्सप्रेस वे का कार्य प्रगति पर है। आज प्रदेश तेज गति से कई क्षेत्रों में लगातार विकास की नई ऊंचाइयों को छू रहा है। प्रदेश की बुजुर्ग व विधवा महिलाओें, दिव्यांगजनों को समय पर पेंशन प्राप्त हो रही है।

प्रदेश के विकास की गति को तेज करने के लिए बजट में 4000 करोड़ की नई योजनाएं जोड़ी गई हैं। बड़ी सड़कों एवं सेतुओं के निर्माण के साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों के लिए सर्व ऋतु सम्पर्क मार्गों की योजना लाई गयी है। जनजीवन को सरल बनाने के लिए बाईपास, रिंग रोड तथा चौराहों पर फ्लाईओवर हेतु 600 करोड़ की व्यवस्था की गई है। जल जीवन मिशन के अन्तर्गत 19,500 करोड़ रुपए की व्यवस्था की गई है।

प्रदेश में विकास की नई उड़ान चल पड़ी है जिसके कारण प्रदेश जल्द ही पांच इंटरनेशनल एयरपोर्ट वाला प्रदेश बन जाएगा। प्रदेश में 75 गन्तव्यों तक वायुसेवा की सुविधा उपलब्ध हो चुकी है तथा गोरखपुर से दिल्ली के लिए 14 फ्लाइट बढ़ाने में सफलता मिल चुकी है। प्रदेश में परिवहन सेवाओं का विकास तथा उनका समग्र आधुनिकीकरण किया जा रहा है। गांवों में ग्रामीण जीवन में बदलाव के लिए भी कई कदम सरकार की ओर से लगातार उठाए जा रहे हैं। सभी ग्राम पंचायतों में ग्राम सचिवालयों का निर्माण कार्य प्रगति पर है।

प्रदेश में मातृशक्ति के सम्मान हेतु कई योजनाएं संचालित की जा रही हैं। सभी जनपदो में नि:शुल्क अभ्युदय योजना का संचालन किया जा रहा है। प्रदेश में धार्मिक एवं सांस्कृतिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए सरकार निरंतर कदम उठा रही है। जिसके कारण 172 पर्यटन विकास परियोजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं। अयोध्या, मथुरा व काशी का विकास कार्य प्रगति पर है। प्रदेश के मुख्यमंत्री बहुत ही ऊजार्वान हैं जिनके नेतृत्व में प्रदेश विकास के पथ पर अग्रसर है। ’

 

मृत्युंजय दीक्षित

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.