ब्रेकिंग न्यूज़ 

सोनिया गांधी से तीसरे दिन पूछताछ पूरी, 100 सवालों के दिए जवाब

सोनिया गांधी से तीसरे दिन पूछताछ पूरी, 100 सवालों के दिए जवाब

नई दिल्ली: सोनिया गांधी से बुधवार की पूछताछ पूरी हो गई है। उनसे पूछताछ का 27 जुलाई को तीसरा दिन था। कांग्रेस अध्यक्ष से पिछले तीन दिनों में 11 घंटे तक पूछताछ हुई है।

100 सवालों के सोनिया ने दिए जवाब

बुधवार 27 जुलाई को सोनिया गांधी के साथ 4 घंटे तक पूछताछ हुई। इस दौरान सोनिया गांधी की बेटी प्रियंका वाड्रा भी उनके साथ रहीं। जिसके बाद शाम को ईडी की पूछताछ खत्म होने के बाद सोनिया गांधी जांच एजेंसी के दफ्तर से निकल गई।

तीसरे दिन सोनिया गांधी को कोई नया समन जारी नहीं किया गया है। जिससे लगता है कि जांच एजेन्सी की सोनिया से पूछताछ पूरी हो गई है। सोनिया गांधी से गत तीन दिन में 11 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की गई है और उन्होंने करीब 100 सवालों का सामना किया।

सोनिया के साथ प्रियंका

सोनिया गांधी अपनी बेटी प्रियंका गांधी वाद्रा और बेटे राहुल गांधी के साथ बुधवार को 11 बजे मध्य दिल्ली में संघीय जांच एजेंसी के कार्यालय पहुंची थीं। अधिकारियों ने सोनिया गांधी से दिन के लगभग 11.15 बजे पूछताछ शुरु की थी। बीच में लंच ब्रेक हुआ। जिसके बाद फिर से पूछताछ हुई। पूछताछ करने वालों में मुख्य जांच अधिकारी और एक कंप्यूटर ऑपरेटर कम टाइपिस्ट शामिल थे।

पूछताछ के दौरान सोनिया गांधी की बेटी प्रियंका वाड्रा अपनी मां को कोई सहायता या चिकित्सा देखभाल के लिए ‘प्रवर्तन भवन’ (ईडी मुख्यालय) में ही रहीं।

मोतीलाल वोरा पर मामला टाला

मिली खबरों के मुताबिक अभी तक की जांच में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी अपनी पार्टी के इसी रुख पर कायम रहीं कि एसोसिएट जर्नल लिमिटेड (एजेएल)- यंग इंडियन करार में कोई निजी संपत्ति नहीं बनाई गई और इसके दिन-प्रतिदिन का काम दिवंगत मोतीलाल वोहरा सहित पार्टी पदाधिकारी देखते थे। इस मामले से उनका निजी तौर पर कोई लेना देना नहीं है।

मोतीलाल वोरा का अब निधन हो गया है। इसके पहले ईडी के अधिकारी कांग्रेस नेता पवन बंसल और मल्लिकार्जुन खड्गे से पूछताछ कर चुके हैं। अधिकारियों ने बताया कि पूछताछ के दौरान कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन किया गया और ऑडियो-वीडियो मोड पर बयान दर्ज किया गया।

कांग्रेसियों का हंगामा

कांग्रेस अध्यक्ष से पूछताछ के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं के उत्पात जारी रहा। कांग्रेस पार्टी ने सोनिया गांधी के खिलाफ ईडी की कार्रवाई को ‘राजनीतिक बदले की कार्रवाई’ और ‘उत्पीड़न’ करार दिया। जिसकी वजह से कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिल्ली सहित देश के अलग अलग राज्यों में धरना प्रदर्शन जारी रखा।

सोनिया गांधी से पूछताछ के दौरान पिछले दो बार की तरह दिल्ली पुलिस ने इस बार भी केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) और त्वरित कार्रवाई बल (आरएफ) सहित भारी संख्या में जवानों की तैनाती की थी। गांधी के आवास और ईडी के कार्यालय के एक किलोमीटर के दायरे में अवरोधक लगाए गए थे। इसके अलावा पूरे इलाके में यातायात प्रतिबंध भी था।

इसी मामले में राहुल गांधी से पिछले महीने पूछताछ की गई थी। उनसे पांच दिनों में करीब 50 घंटे तक ईडी ने पूछताछ की थी।

सुब्रमण्यम स्वामी ने की थी शिकायत

प्रवर्तन निदेशालय यह जांच निचली अदालत द्वारा आयकर विभाग की ओर से यंग इंडियन के खिलाफ की गई याचिका पर संज्ञान लेने की वजह से कर रही है। इस मामले में आयकर विभाग ने वर्ष 2013 में भारतीय जनता पार्टी के सांसद सुब्रमण्यम स्वामी की निजी आपराधिक शिकायत पर जांच की थी।

सोनिया गांधी और राहुल गांधी यंग इंडियन के डायरेक्टर्स में शामिल हैं और बड़े शेयर उनके पास ही है। सोनिया गांधी के पास भी राहुल गांधी के बराबर यंग इंडियन में 38 प्रतिशत की हिस्सेदारी है। सोनिया और राहुल के पास यंग इंडियन में लगभग 75 फीसदी शेयर हैं।

ये भी पढ़ें- आखिर क्या है एजेएल घोटाला मामला

ये भी पढ़ें- सोनिया गांधी से पहले दिन की पूछताछ में क्या हुआ था

Leave a Reply

Your email address will not be published.