ब्रेकिंग न्यूज़ 

‘दुनिया के विकास का इंजन है भारत’

‘दुनिया के विकास का इंजन है भारत’

चेन्नई: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तमिलनाडु राज्य के दौरे पर हैं। उन्होंने यहां अन्ना विश्वविद्यालय के 42 वें दीक्षांत समारोह में हिस्सा लिया। प्रधानमंत्री ने छात्रों के लिए दिए गए अपने संबोधन में कहा कि पूरी दुनिया भारत के युवाओं को उम्मीद की नजर से देख रही है। क्योंकि आप देश के विकास इंजन हैं और भारत दुनिया का विकास इंजन है।

दुनिया भर की उम्मीद का केन्द्र भारत

प्रधानमंत्री ने युवाओं से कहा कि आपने अपने दिमाग में पहले से ही अपने लिए एक भविष्य बना लिया होगा। इसलिए आज का दिन केवल उपलब्धियों का ही नहीं बल्कि आकांक्षाओं का भी है। यह केवल भारत ही नहीं है, जो अपने युवाओं की ओर देख रहा है। पूरी दुनिया भारत के युवाओं को उम्मीद की नजर से देख रही है। क्योंकि आप देश के विकास इंजन हैं और भारत दुनिया का विकास इंजन है।

पीएम ने कोविड-19 के दौर की याद दिलाते हुए कहा कि COVID-19 महामारी एक अभूतपूर्व घटना थी। यह सदी का संकट था। इसने हर देश का परीक्षण किया। जैसा कि आप जानते हैं, विपत्तियां बताती हैं कि हम किस चीज से बने हैं। अपने वैज्ञानिकों, हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स और आम लोगों की बदौलत भारत ने आत्मविश्वास से इस अज्ञात बीमारी का सामना किया।

पीएम मोदी ने कहा उस मुश्किल हालात में भी अंतर्राष्ट्रीय व्यापार में भारत अब तक की सबसे अच्छी स्थिति में है। उन्होंने कहा पहले सामाजिक अवसरों पर एक नौजवान के लिए यह कहना मुश्किल था कि वह एक उद्यमी है। लोग उन्हें ‘सेटल हो जाने’ यानी वेतनभोगी नौकरी पाने के लिए कहते थे। अब स्थिति विपरीत है।

भारत में स्टार्टअप की बाढ़

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बताया कि ‘पिछले वर्ष में भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल फोन निर्माता था। इनोवेशन लाइफ का एक रास्ता बनता जा रहा है। पिछले 6 वर्षों में मान्यता प्राप्त स्टार्ट-अप की संख्या में 15,000 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। 2016 में सिर्फ 470 से, यह अब लगभग 73,000 है। जब उद्योग और इनोवेशन अच्छा करते हैं, तो निवेश बढ़ता है। पिछले साल भारत को 83 बिलियन डॉलर से अधिक का रिकॉर्ड एफडीआई प्राप्त हुआ। हमारे स्टार्ट-अप्स को भी महामारी के बाद रिकॉर्ड फंडिंग मिली। इन सबसे ऊपर, इंटरनेशनल ट्रेड डायनामिक में भारत की स्थिति अब तक की सबसे अच्छी स्थिति में है। तकनीक आधारित दिक्कतों के इस युग में आपके पक्ष में 3 महत्वपूर्ण कारक हैं।

पहला फैक्टर कि टेक्नोलॉजी के लिए टेस्ट। यह टेक्नोलॉजी के उपयोग के साथ कम्फर्ट की भावना बढ़ रही है। गरीब से गरीब व्यक्ति भी इसे अपना रहा है।

सेकंड फैक्टर जोखिम लेने वालों को विश्वास है। पहले सामाजिक अवसरों पर एक नौजवान के लिए यह कहना मुश्किल था कि वह एक एंटरप्रेन्योर है। लोग उन्हें सेटल होने यानी सैलरी बेस्ड नौकरी पाने के लिए कहते थे। अब स्थिति विपरीत है।

थर्ड फैक्टर टैम्परामेंट और रिफॉर्म।

पीएम ने बताया क्या होती है मजबूत सरकार

प्रधानमंत्री ने कहा पहले, एक धारणा थी कि एक मजबूत सरकार का मतलब है कि उसे सब कुछ और सभी को नियंत्रित करना चाहिए। लेकिन हमने इसे बदल दिया है। एक मजबूत सरकार सब कुछ या सभी को नियंत्रित नहीं करती है। उन्होंने कहा कि एक मजबूत सरकार प्रतिबंधात्मक नहीं है, लेकिन उत्तरदायी है। एक मजबूत सरकार हर क्षेत्र में नहीं चलती है। यह खुद को सीमित करता है और लोगों की प्रतिभा के लिए जगह बनाता है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) शुक्रवार को अपने दो दिवसीय यात्रा के दूसरे दिन तमिलनाडु (Tamil Nadu) पहुंचे थे। उन्होंने 69 गोल्ड मेडल विजेताओं को स्वर्ण पदक और सर्टिफिकेट प्रदान किए। अपनी यात्रा के पहले दिन पहले दिन प्रधानमंत्री ने 28 जुलाई गुजरात के साबरकांठा के गढ़ोदा चौकी में साबर डेयरी(Sabar Dairy) के मल्टीपल प्रोजेक्ट्स की नींव और उद्घाटन किया था। इसके बाद उन्होंने चेन्नई की यात्रा शुरु की। उन्होंने तमिलनाडु के जेएलएन इंडोर स्टेडियम में 44वें शतरंज ओलंपियाड के उद्घाटन( 44th Chess Olympiad at JLN Indoor Stadium, Chennai) की घोषणा की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.