ब्रेकिंग न्यूज़ 

बंगाल के घोटालेबाजों पर चोरों की भी नजर, सूने घर में किया हाथ साफ

बंगाल के घोटालेबाजों पर चोरों की भी नजर, सूने घर में किया हाथ साफ

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाले की परतें खुलने लगी हैं। जिसके बाद प्रवर्तन निदेशालय के छापे जारी हैं। इन छापों में करोड़ों रुपए की करेंसी, सोने चांदी के बर्तन, विदेशी मुद्रा जैसे बेशकीमती सामान जब्त हो रहे हैं। लेकिन पश्चिम बंगाल में पार्थ चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी के खिलाफ चल रही इस कार्रवाई के बीच चोरों की भी मौज हो गई है। वो भ्रष्टाचारियों के संदिग्ध ठिकानों पर हाथ साफ कर रहे हैं।

पार्थ चटर्जी की बेटी के घर चोरी

बुधवार को पार्थ चटर्जी की बेटी के दक्षिण 24 परगना के वाले घर पर चोरी हो गई। चोर अपने साथ बड़े बड़े बैग लेकर गए हैं। खास बात ये है कि यह चोरी सरेआम की गई। आस पास के लोगों ने चोरों को जब ताला तोड़कर घर में घुसते देखा तो उन्हें लगा कि प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारियों ने यहां रेड डाली है।

यह घटना बुधवार यानी 27 जुलाई को रात 1 बजे की है। चोर 4 की संख्या की संख्या में गिरोह बनाकर आए थे। उन्होंने जब दरवाजा तोड़ा तो आवाज सुनकर आस पास के लोग इकट्ठा हो गए। लेकिन चोरों ने सबको धमकाया और कहा कि वो अपने घरों में रहें। इन चोरों ने खुद को सरकारी अधिकारी के रुप में पेश किया।

पड़ोसियों के धमकाने के बाद सभी चोर घर में घुसे और वहां से बड़े बड़े बैग्स में सामान पैक करके कार में लादा और निकल गए। जिस घर में चोरी हुई वह घर बरुईपुर थाना के बेगमपुर ग्राम पंचायत क्षेत्र के पुरी गांव में है। जो कि कंटाखल-उत्तभाग रोड के किनारे बना हुआ है।

पार्थ चटर्जी की बेटी के नाम से है घर

पार्थ चटर्जी पिछले एक सप्ताह से ईडी की हिरासत में हैं। यह घर उनकी बेटी सोहिनी के नाम से है। इस घर के उपर सोहिनी लिखा भी हुआ है। हालांकि सोहिनी यहां नहीं बल्कि अमेरिका में रहती हैं। पड़ोसियों ने बताया कि पार्थ चटर्जी कभी-कभी इस घर के बगीचे में टहलते हुए दिखाई देते थे। कई बार अर्पिता मुखर्जी भी उनके साथ रहती थीं। यह घर लगभग 20 बीघा के एरिए में बना हुई है। इस घर में पहले कई नौकर-चाकर रहते थे, लेकिन कोरोना महामारी के बहाने उस सभी को हटा दिया गया। फिलहाल इस घर में कोई नौकरानी या गार्ड नहीं रहता था। आस पास के लोग इस इमारत को ‘पार्थ चटर्जी की बागान बाड़ी’ यानी पार्थ चटर्जी का ग्रीष्मकालीन घर के रुप में जानते थे।

पार्थ की करीबी अर्पिता के घर से मिले करोड़ो रुपए

बुधवार को जब चोरों ने पार्थ चटर्जी के घर में सेंधमारी की उसी दिन अर्पिता मुखर्जी के दूसरे घर में भी ईडी की छापेमारी चल रही थी। जिसमें लगभग 29 करोड़ रुपये केश और 5 किलो सोना बरामद किया है। यह रकम अर्पिता मुखर्जी के दूसरे अपार्टमेंट से मिली है। इससे पहले भी ईडी की रेड में अर्पिता मुखर्जी के ही फ्लैट से 22 करोड़ रुपये कैश मिले थे।

बुधवार को हुई छापेमारी में अर्पिता के घर से एक-एक किलो की तीन सोने की ईंटें भी बरामद हुईं। इसके अलावा भारी मात्रा में जूलरी भी मिली। अर्पिता मुखर्जी ने कबूल कर लिया है कि यह सारी संपत्ति पार्थ चटर्जी की है।

अर्पिता और पार्थ के घर से मिल रहे करोड़ो रुपयों और जूलरी ने चोरों को ललचाया। जिसकी वजह से उन्होंने पार्थ चटर्जी के घर में सेंधमारी की।

ये भी पढ़ें- अर्पिता मुखर्जी के दूसरे घर से नोटों का ढेर बरामद 

Leave a Reply

Your email address will not be published.