ब्रेकिंग न्यूज़ 

जरुरतमंदों की मदद में अग्रणी हिमाचल प्रदेश

जरुरतमंदों की मदद में अग्रणी हिमाचल प्रदेश

शिमला: हिमाचल प्रदेश की सरकार जनसेवा के किसी भी क्षेत्र में पीछे नहीं है। आजादी के अमृत महोत्सव के मौके पर हिमाचल प्रदेश के मरीजों की देखभाल के लिए मुख्यमंत्री ने 10 वाहनों के फ्लीट को हरी झंडी दिखाई। जो कि बीमार लोगों को उनके घर जाकर चिकित्सा उपलब्ध कराएंगे।

76वें स्वतंत्रता दिवस के उपलक्ष्य पर मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर द्वारा शुरू की गई मुख्यमंत्री मोबाइल क्लीनिक वाहन सेवा हिमाचल प्रदेश के दूरदराज क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के लिए वरदान साबित होगी। मुख्यमंत्री ने सोमवार को सिरमौर के सराहां में आयोजित राज्य स्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह के दौरान मुख्यमंत्री मोबाइल क्लीनिक वाहन सेवा के अंतर्गत 10 वाहनों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि डॉक्टर, फार्मासिस्ट, लैब तकनीशियन और आवश्यक उपकरणों से युक्त यह मोबाइल क्लीनिक वाहन प्रदेश के दुर्गम क्षेत्रों के गांवों में लोगों को घर-द्वार पर चिकित्सा सुविधाएं प्रदान करेंगे। जय राम ठाकुर ने कहा कि वर्ष 2022-23 के बजट में मुख्यमंत्री मोबाइल क्लीनिक वाहन सेवा आरंभ करने की घोषणा की गई थी। आजादी का अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य पर यह सेवा विधिवत रूप से आरंभ कर दी गई है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री मोबाइल क्लीनिक वाहन सेवा के इन चिकित्सा वाहनों में आधुनिक उपकरणों के साथ एक-एक डॉक्टर, फार्मासिस्ट और लैब तकनीशियन तैनात रहेंगे। इन वाहनों में नियमित स्वास्थ्य जांच के साथ-साथ रक्त जांच, ब्लड प्रेशर और अन्य स्वास्थ्य मानकों की जांच की सुविधा तथा अन्य सेवाएं भी उपलब्ध रहेंगी। इन वाहनों का संचालन खंड चिकित्सा अधिकारियों के माध्यम से किया जाएगा।

राजभवन में ‘एट होम’ का आयोजन

राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ आर्लेकर ने आज राजभवन में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर ‘एट होम’ की मेजबानी की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर और हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति अमजद एहतेशाम सईद उपस्थित थे।

इस दौरान राजभवन में शहरी विकास मंत्री सुरेश भारद्वाज, हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय के न्यायाधीश, विभिन्न आयोग, बोर्ड तथा निगम के अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष, विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपति, राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारी, वरिष्ठ पुलिस और सैन्य अधिकारी, शहर के प्रमुख नागरिक, पूर्व सैनिक और अन्य गणमान्य लोग भी उपस्थित थे।
‘एट होम’ में पहली बार ढली स्थित विशेष रूप से सक्षम बच्चों के स्कूल के विद्यार्थियों ने भी भाग लिया।

इस मौके पर हिमाचल प्रदेश के 75 वर्षों की गौरवमयी विकास यात्रा को दर्शाता एक वृत्तचित्र भी प्रदर्शित किया गया, जिसे सूचना एवं जन सम्पर्क विभाग द्वारा तैयार किया गया था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.