ब्रेकिंग न्यूज़ 

मुंबई शहर में 26/11 जैसे आतंकवादी हमले की धमकी

मुंबई शहर में 26/11 जैसे आतंकवादी हमले की धमकी

मुंबई: आर्थिक राजधानी को एक बार फिर से दहलाने की धमकी दी गई है। पाकिस्तानी नंबर से आए एक मैसेज में साल 2008 में हुए 26/11 जैसे आतंकवादी हमले की चेतावनी दी गई है।

ट्रैफिक कंट्रोल रुम में आया संदेश

मुंबई पुलिस ने बताया है कि ट्रैफिक पुलिस कंट्रोल के नंबर पर +923029858353 नंबर से एक व्हाट्सएप्प मैसेज आया। जिसमें लिखा हुआ है कि ‘जी मुबारक हो, मुंबई में हमला होने वाला है। ये हमला 26/11 की नई ताजी याद दिलाएगा।’ इस मैसेज के साथ सात मोबाइल नंबर भी शेयर किए गए हैं। इसके आगे लिखा है कि मुंबई को उड़ाने की तैयारी कर रहे हैं।

पाकिस्तानी नंबर से आए इस मैसेज में उत्तर प्रदेश को मुंबई के खिलाफ खड़ा करने की साजिश भी की गई है। उसमें कहा गया है कि यूपी की एंटी टेररिस्ट स्क्वैड मुंबई में धमाका करवाना चाहती है। संदेश भेजने वाले ने दावा किया है कि उसके साथ कुछ भारती भी शामिल हैं। इस मैसेज में कई नाम भी शेयर किए गए हैं।

हमला करने वाले छह लोग

मैसेज करने वाले पाकिस्तान ने बताया है कि भारत में छह लोग इस घटना को अंजाम देंगे। उसने लिखा है कि अगर इस नंबर की लोकेशन ट्रेस करोगे तो वो भारत के बाहर की दिखाएगी और धमाका मुंबई में होगा। मुंबई पुलिस इस मामले में जांच में जुटी हुई है। सुरक्षा व्यवस्था को हाई अलर्ट पर रखा गया है। दूसरी एजेंसियों को भी इसकी जानकारी दी गई है।

शरारत या गंभीर मामला

मुंबई पुलिस यह पता लगाने में जुटी हुई है कि यह किसी की शरारत है या फिर किसी आतंकवादी संगठन की तरफ से आया मैसेज है। लेकिन 26/11 के आतंकी हमलों का इतिहास देखते हुए जांच एजेन्सियां इस संदेश को गंभीरता से ले रही हैं।

रायगढ़ में मिले थे हथियार

दो दिन पहले महाराष्ट्र में रायगढ़ के समुद्री तट पर एक नाव से हथियार बरामद हुए थे। इस नाव में तीन एके-47 ऑटोमेटिक रायफलें और भारी मात्रा में कारतूस मिले थे। साल 2008 में 26/11 के आतंकी हमलों के दौरान भी इसी तरह नाव से हथियार लेकर पाकिस्तानी आतंकवादी मुंबई आए थे।
इस नाव के बरामद होने के कुछ ही दिन बाद पाकिस्तान नंबर से 26/11 की तर्ज पर आतंकी हमले करने का मैसेज आया है। जिसकी वजह से सुरक्षा एजेन्सियां बेहद सतर्कता बरत रही हैं।

ये भी पढ़ें – आतंकी हमले की हलचल की हकीकत 

Leave a Reply

Your email address will not be published.