ब्रेकिंग न्यूज़ 

देश में नहीं है अन्न की कमी, गरीबों को मिलता रहेगा मुफ्त अनाज

देश में नहीं है अन्न की कमी, गरीबों को मिलता रहेगा मुफ्त अनाज

नई दिल्ली: भारत में अनाज की कोई कमी नहीं है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (Pradhan Mantri Garib Kalyan Anna Yojana) के तहत गरीबों को मुफ्त अनाज दिया जाता रहेगा। सरकार ने इस बारे में जानकारी दी है।

PMGKAY योजना की समय सीमा बढ़ेगी

भारत में गरीबों को मुफ्त का राशन मिलता रहेगा। क्योंकि देश में अनाज की कोई कमी नहीं है। सरकार ने ऐलान किया है कि गरीबों को मुफ्त राशन स्कीम की समय सीमा बढ़ाई जाएगी। यह योजना अगले महीने यानी सितंबर 2022 में खत्म हो रही थी। लेकिन जानकारी मिल रही है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना (PMGKAY) अगले तीन से छह महीने तक जारी रहेगी।

महंगाई और मंदी से गरीबों को बचाने की कोशिश

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना की शुरुआत अप्रैल 2020 में हुई थी। तब कोरोना महामारी की वजह से लगाए गए लॉकडाउन में गरीब लोगों को भुखमरी से बचाने कि लिए इसे शुरू किया गया था। तब से अब तक इस स्कीम को छह बार बढ़ाया जा चुका है। मार्च 2022 में छठी बार इस योजना का विस्तार किया गया। लेकिन यह छठा विस्तार भी सितंबर 2022 में खत्म होने जा रहा था।

सरकारी सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक पूरी दुनिया में खाद्यान्न की कीमतें बढ़ती जा रही हैं। रूस-यूक्रेन के युद्ध की वजह से महंगाई आसमान छू रही है। अफ्रीका, श्रीलंका, पाकिस्तान जैसे देशों में गरीबों को अनाज नहीं मिल रहा है। इसके अलावा पूरी दुनिया पर मंदी छाने की भी आशंका है। जिसे देखते हुए भारत सरकार गरीबों को महंगे अनाज से मुक्ति दिलाने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना की समय सीमा बढ़ाने विचार कर रही है।

दुनिया का सबसे बड़ा खाद्य सुरक्षा कार्यक्रम PMGKAY

सरकारी अधिकारियों ने जानकारी दी है कि PMGKAY योजना के तहत गरीबों को खाद्यान्न बांटने के लिए देश में अनाज का पर्याप्त स्टॉक उपलब्ध है। सरकार ने हाल ही में देश में उपलब्ध अनाज के स्टॉक की समीक्षा की है। जिसमें यह पता चला है कि देश में अनाज का स्टॉक पर्याप्त से ज्यादा है। ऐसे में गरीबों को इसका लाभ मिलना चाहिए।
केन्द्र सरकार का यह फैसला देश के करोड़ो गरीबों के लिए राहत की खबर है।

ये भी पढ़ें- पूरी दुनिया में गहराता जा रहा है खाद्य सुरक्षा संकट 

Leave a Reply

Your email address will not be published.