ब्रेकिंग न्यूज़ 

चालक को कार के नीचे कुछ फंसने का हुआ था सक, औरों ने कहा- “नहीं कुछ नहीं है..”

चालक को कार के नीचे कुछ फंसने का हुआ था सक, औरों  ने कहा- “नहीं कुछ नहीं है..”

नए साल पर दिल्ली में हुए एक और दिल दहला देने वाले कांड में आरोपियों के पकड़े जाने तथा उनसे हुए पुछताछ के बाद हुए खुलासे के बारे में मंगलवार को अधिकारियों ने बताया कि महिला को कार से टक्कर मारने के बाद जिन लोगों ने सड़कों पर उसे 13 किलोमीटर तक घसीटा था।  उन्होंने पूछताछ के दौरान कुछ नए खुलासे किए हैं।  कार चला रहे शख्स दीपक ने पुलिस को बताया कि रविवार तड़के अंजलि सिंह की स्कूटी से टकराने के कुछ किलोमीटर बाद उसे लगा कि कार के नीचे कुछ फंसा हुआ हैलेकिन अन्य चार लोगों ने कहा कि कार के नीचे कुछ नहीं है, तथा गाड़ी चलाते रहने के लिए कहा। पांचों आरोपियों ने पुलिस को बताया है कि वे 20 वर्षीय अंजलि को टक्कर मारने के बाद तुरंत मौके से भाग गएक्योंकि वे घबरा गए थे। लेकिन कार को कंझावला के जोंटी गांव में तब रोका गयाजब दीपक के बगल में बैठे मिथुन ने यू-टर्न लेते समय अंजलि का हाथ देखा। उसका शव सड़क पर गिरने के बादवो नीचे उतरे और उसकी मदद करने के बजायअंजलि को वहीं छोड़कर भाग गए।

बता दें कि दिल्ली के कंझावला में टूटी हड्डियों के साथ अंजलि का शव बाद में बिना कपड़ों के सड़क पर पाया गया था। आरोपियों ने शराब के नशे में होने की बात कबूल की है। आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि उन्होंने कार के अंदर दो बोतल से अधिक शराब पी थी।

 इसके बाद आरोपियों ने उधार ली गई मारुति बलेनो कार आशुतोष को लौटा दीजिसने उन्हें उधार दी थी। जब पुलिस ने कार के मालिक लोकेश का पता लगायातो उसने बताया कि उसने इसे आशुतोष को उधार दिया थाजिसने इसे अपने दोस्तों अमित और दीपक को उधार दिया था।

हादसा रविवार को दिल्ली के सुल्तानपुरी में रात करीब बजे हुआजब एक इवेंट मैनेजमेंट कंपनी में काम करने वाली अंजलि काम से घर लौट रही थी। दीपक खन्ना गाड़ी चला रहा थाजबकि कार में अमित खन्नामनोज मित्तलकृष्ण और मिथुन बैठे थे।

जांचकर्ताओं ने यह भी पाया है कि अंजलि एक दोस्त के साथ थीजब कार ने उसके स्कूटर को टक्कर मारी। सूत्रों ने कहा कि दोस्त को दुर्घटना में मामूली चोटें आईं और वह मौके से फरार हो गई। पुलिस सूत्रों ने कहा कि उन्होंने महिला का पता लगा लिया है और जांच के तहत उसका बयान दर्ज किया जाएगा।

आरोपियों को रविवार रात गिरफ्तार किया गया। तथा उन पर गैर इरादतन हत्या, लापरवाही से मौत और आपराधिक साजिश रचने का आरोप लगाया गया है। स्थानीय लोगों के भारी विरोध के बीच गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली पुलिस आयुक्त संजय अरोड़ा को पूरी जांच करने का निर्देश दिया है।

बता दें कि अंजलि सिंह अपनी मां और छोटे भाई-बहनों के साथ उत्तर पश्चिमी दिल्ली के अमन विहार में रहती थी।  उसके पिता की कुछ साल पहले मौत हो गई थी।

महिला की मां रेखा ने आरोप लगाया कि इन लोगों ने उसका यौन उत्पीड़न किया। उन्होंने कहा, “उसके कपड़े पूरी तरह से नहीं फाड़े जा सकते।  जब उन्होंने उसे पाया तो उसका पूरा शरीर नग्न था। मैं पूरी जांच और न्याय चाहती हूं”। इस मामले में निर्भया की मां ने भी आरोपियों पर यह इल्जाम लगाया की उन्होंने अंजली के साथ बलात्कार भी किया, जिसकी पुर्ण रुप से निस्पक्ष जांच की जाये, जिससे अंजली की मां तथा उसके परिवार को यथोचित न्याय मिल सके।

 

 

Written by- satvik upadhyay

Leave a Reply

Your email address will not be published.