ब्रेकिंग न्यूज़ 

नेशनल ग्रीन हाइड्रोजन मिशन को मंजूरी ,देश बनेगा ग्रीन हाइड्रोजन का हब : केंद्रीय कैबिनेट का बड़ा फैसला

नेशनल ग्रीन हाइड्रोजन मिशन को मंजूरी ,देश बनेगा ग्रीन हाइड्रोजन का हब : केंद्रीय कैबिनेट का बड़ा फैसला

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने नेशनल ग्रीन हाइड्रोजन मिशन को मंजूरी दी, भारत में लो कास्ट ग्रीन हाइड्रोजन के उत्पादन पर इंसेटिव दिया जाएगा।

 

प्रधानमंत्री मोदी के मंसा के मुताबिक देश ग्रीन हाइड्रोजन का हब बनेगा, यह बात सन 2021 में पीएम ने कही थी, आज इसे कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में कैबिनेट की बैठक में क्लाइमेट चेंज को लेकर समय-समय पर कदम उठाए गए उसको लेकर दुनिया में तारीफ हुई है। बुधवार की दोपहर हुई कैबिनेट की मिटिंग में लिए गए निर्णय के बाद केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह बात कही।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि, वर्ष 2021 में ग्लासको में पीएम ने भारत की ओर से योजना की बात कही थी। 2021 में 15 अगस्त को ग्रीन हाइड्रोजन को लेकर घोषणा की थी, और साथ ही साथ नए जॉब की बात भी कही थी। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को ग्रीन हाइड्रोजन मिशन को मंजूरी दे दी है। भारत में कम दाम की ग्रीन हाइड्रोजन के उत्पादन पर इंसेटिव दिया जाएगा। 17490 करोड़ रुपये इंसेटिव में खर्च होंगे। 400 करोड़ का अतिरिक्त प्रावधान होगा।

उन्होंने कहा कि, देश में ग्रीन हाइड्रोजन को बढ़ावा देना का हर संभव प्रयास किया जाएगा। साथ ही कहा की सन 2047 तक ऊर्जा को लेकर आत्मनिर्भर बनने का लक्ष्य रखा गया है। देश में अलग-अलग सेक्टर में ग्रीन हाइड्रोजन का उपयोग बढ़ाने के लिए मिशन डायरेक्टर ऐसे व्यक्ति को लिया जाएगा जो इस सेक्टर में जानकारी रखता हो।

उन्होंने कहा कि, भारत ग्रीन हाइड्रोजन के उत्पादन में विश्व पटल पर एक हब के रूप में उभर सकेगा। प्रेस कान्फ्रेंस में उन्होंने यह भी बताया कि साल 2030 तक ग्रीन हाइड्रोजन मिशन में 8 लाख करोड़ डॉयरेक्ट इन्वेस्टमेंट होगा। जिसकी मदद से देश में लगभग छह लाख से ज्यादा जॉब क्रिएट होंगे।

उन्होंने कहा कि, केंद्रीय कैबिनेट ने हिमाचल प्रदेश में 382 मेगावाट के सुन्नी हाइड्रोजन इलेक्ट्रिक डैम को मंजूरी दी है।  यह लगभग पांच साल तीन महीने में पूरा होगा। जिसके चलते प्रदेश में हजारों की संख्या में जॉब क्रिएट होंगे। तथा पूरे हिमाचल प्रदेश को 13% बिजली मुफ्त में मिलेगी।

 

Written by- Satvik Upadhyay

Leave a Reply

Your email address will not be published.