ब्रेकिंग न्यूज़ 

कांटे की टक्कर में भारत को 16 रनों से मिली हार, श्रृंखला 1-1 की बराबरी पर

कांटे की टक्कर में भारत को 16 रनों से मिली हार, श्रृंखला 1-1 की बराबरी पर

बृहस्पतिवार की शाम खेले गये भारत- श्रीलंका के टी20 के दूसरे मुकाबले में भारत को हार का सामना करना पड़ा। कांटे के इस मुकाबले भारत को श्रीलंका ने 16 रनो से हरा दिया। पहले मुकाबले में जीत के बाद भारत के पास श्रृंखला अपने नाम करने का सुनहरा अवसर था। बता दें कि गुरुवार का शाम खेले गये मुकाबले में भारत के कप्तान हार्दिक पांड्या ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला लिया। पहले गेंदबाजी करते हुए 20 ओवरों में श्रीलंकाई टीम ने भारत के गेदबाजों को जमकर पिटा। श्रीलंका की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए कुल 206 रन का विशाल स्कोर भारत के सामने रखा। श्रीलंकाई टीम की तरफ से ओपनर बल्लेबाज निसांका(33) और कुशल मेंडिस(52) ने धमाकेदार शुरुआत दिलाई। जिसके बाद कप्तान शनाका ने बेहतरीन फिनीस करते हुए मात्र 22 गेंदों में 56 रन बना डाले तथा श्रीलंका की टीम को 206 के विशाल स्कोर तक पहुंचा दिया।

भारत के गेंदबाजों में मावी ने 4 ओवरों में 53, उमरान मलिक ने 48 रन देकर 3 विकेट लिए। वहीं टी20 वर्ल्ड कप के स्टार बालर अर्शदीप ने 2 ओवरों में 5 नो बॉल की मदद से 37 रन दे डाले ।

बल्लेबाजी के लिए उतरी भारतीय टीम ने पावरप्ले में ही लगातार अंतराल पर 4 विकेट खो दिए। जिसमें इशान किशन ने 2, गिल 5, राहुल त्रिपाठी केवल 5 रन ही बना सके। कप्तान हार्दिक भी खराब शॉट खेलकर अपना विकेट गंवा दिया। मैच में आगे भारत के नंबर 1 खिलाड़ी सूर्यकुमार यादव ने कमान संभाली तथा 36 गेंदों पर 51 रन बनाए। मैच में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करके भारतीय आलराउंडर अक्सर पटेल ने मैच में जान डाल दी। अक्षर ने कीफायती गेंदबाजी के बाद मैच में पीछे छुट रहे भारत की टीम को पटरी पर लाने की पुरी कोशिश की।

बता दें कि अक्षर ने मात्र 20 गेंदों में अपने करीयर की सबसे तेज पारी खेली तथा 50 रन बना डाले । अक्षर ने कुल 31 गेंदों पर 65 रन की पारी खेली। बता दें कि जीत के लिए भारत को आखरी के 18 गेदों पर 54 रन की आवश्यकता थी। सूर्यकुमार यादव के आउट होने के बाद यह चेज और भी मुश्किल हो गई थी। 8वें नंबर पर बल्लेबाजी करने आये मावी ने भी तेज बल्लेबाजी की तथा 15 गेंदों पर 2 चौके और 2 छक्कों की मदद से 29 रन बना डाले। आखरी ओवर में भारत को जीत के लिए 21 रनों की आवश्यकता थी। पर भारतीय टीम मात्र 5 रन ही बना सकी, जिसके चलते भारत को 16 रनों से हार का सामना करना पड़ा।

लेखक- सात्विक उपाध्याय

Leave a Reply

Your email address will not be published.