ब्रेकिंग न्यूज़ 

गंगा विलास क्रूज को हरी झंडी…. पर्यटन को नया आयाम

गंगा विलास क्रूज को हरी झंडी…. पर्यटन को नया आयाम

वाराणसी: 13 जनवरी शुक्रवार को  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी में दुनिया के सबसे लंबे जलमार्ग पर चलने वाले क्रूज़ – गंगा विलास को हरी झंडी दिखाई, साथ ही घाट किनारे पर बने टेंट सिटी का भी उद्घाटन किया। बता दें कि  क्रूज की यात्रा आज वाराणसी से शुरू हो गई है।  एमवी गंगा विलास क्रूज दुनिया के सबसे लंबे जलमार्ग पर चलने वाला क्रूज है।क्रूज को हरी झंडी दिखाने के बाद  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज काशी से डिब्रूगढ़ के बीच दुनिया की सबसे लंबी नदी जल यात्रा गंगा विलास क्रूज का शुभारंभ हुआ है। गौर फरमाते हुए मोदी जी ने कहा कि गंगा विलास क्रूज की मदद से  पूर्वी भारत के अनेक पर्यटक स्थल विश्व पर्यटन मानचित्र में और प्रमुखता से आने वाले हैं।

बिहार उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने वीडियो कांन्फ्रेंसिंग के जरिये  कहा कि क्रूज राज्य के 6 स्थलों बक्सर, छपरा, पटना, सिमरिया, मुंगेर, सुल्तानगंज और कहलगांव में रुकेगा। बताया कि  क्रूज के बिहार से गुजरने पर पर्यटकों का संस्कृति और इतिहास से परिचय होगा। यात्रा को सुगम और गतिमान बनाने के लिए जिलों में एक-एक नोडल अधिकारी बनाए गए हैं। जो कि क्रूज की सभी  छोटी से बड़ी चीजों पर ध्यान देंगें जिससे यात्रियों को किसी भी प्रकार की कोई समस्या उनके आगे के मार्ग में हो ।

वहीं दूसरी ओर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछले तीन दिनों में रिवर क्रूज एमवी गंगा विलास के पर्यटकों ने वाराणसी के रामनगर , राजघाट और आसपास के स्थानों का दौरा कर बनारस की अलौकिक संस्कृति का अनुभव किया है। उन्होंने कहा कि काशी आज एक नई पहचान के साथ आगे बढ़ रही है। काशी का नाम अब हर दूसरे के जबान पर रहता है।  असम के सीएम हिमंता सरमा ने प्रधानमंत्री को बधाई दिया तथा धन्यवाद भी किया। उन्होने कहा कि यह एक ऐसा ऐतिहास क्षण है जो कि बाबा की नगरी काशी और असम  को एक साथ जोड़ने का काम किया है। यहां पर यात्रियों को माता कामाख्या के दर्शन तथा  काजिरंगा पार्क का भरपुर आनंद उठाने के साथ-साथ प्राक्रति का लुफ्त उठा सकेंगें।बता दें कि उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले के सैदपुर, चोचकपुर, जमानिया और बलिया जिले के कंसपुर में चार फ्लोटिंग कम्युनिटी जेटी  बनाए गए हैं।

इस विशिष्ठ मौके पर प्रधानमंत्री मोदी  ने गुवाहाटी में पूर्वोत्तर के लिए समुद्री कौशल विकास केंद्र का भी उद्घाटन  भी किया।  यह उत्तर पूर्वी क्षेत्र में प्रतिभा को खोजने तथा उसे बनाने में मदद करेगा और तेजी से बढ़ते लॉजिस्टिक उद्योग में रोजगार के बेहतर अवसर प्रदान करेगा। साथ ही साथ प्रधानमंत्री जी ने गुवाहटी के पांडु टर्मिनल  में जहाज मरम्मत सुविधा और एक एलिवेटेड रोड की भी आधारशिला रखी ।

लेखक- सात्विक उपाध्याय

Leave a Reply

Your email address will not be published.