ब्रेकिंग न्यूज़ 

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की भलस्वा डेयरी इलाके में छापेमारी, दो ‘संदिग्धों’ को पकड़ा, किराए के मकान से हथगोले बरामद

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल की भलस्वा डेयरी इलाके में छापेमारी, दो ‘संदिग्धों’ को पकड़ा, किराए के मकान से हथगोले बरामद

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने राष्ट्रीय राजधानी में जहांगीरपुरी के भलस्वा डेयरी इलाके में दो ‘संदिग्ध’ लोगों को गिरफ्तार किया और उनके घर से दो हथगोले बरामद किए। बता दें कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने गुरुवार को जगजीत सिंह (29) और नौशाद (56) नाम के रूप में पहचाने गए दो लोगों को गिरफ्तार किया। उन्हें शुक्रवार को पटियाला हाउस कोर्ट में पेश किया गया। जिसके बाद पकड़े गये दोनो ही संदिग्धों को 14 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया।

संदिग्धों से पूछताछ करने के बाद , पुलिस ने कहा कि उन्होंने शुक्रवार को गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) की संबंधित धाराओं के तहत भलस्वा डेयरी थाना क्षेत्र में श्रद्धा नंद कॉलोनी में अपराधियों के किराए के घर पर छापा मारा। जिसमें छापेमारी के दौरान उन्हें हथगोले मिले। साथ ही साथ पुलिस ने आरोपियों के पास से तीन पिस्टल और 22 जिंदा कारतूस भी बरामद किए हैं। दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में हूए इस घटना ने सबको हक्का बक्का कर दिया। फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (FSL) की एक टीम ने भी घर का दौरा किया और रक्त के नमूने एकत्र किए।

सूत्रों के मुताबिक, आरोप है कि संदिग्धों ने घर में ही एक व्यक्ति की हत्या कर दी और हत्या का वीडियो अपने हैंडलर से साझा किया। पुलिस ने कहा कि वह यह पता लगाने की प्रक्रिया में है कि कौन मारा गया।

पुलिस की संदिग्धों के बारे में साझा की जानकारी :

इसके अलावा, दिल्ली पुलिस ने कहा कि उसके पास जानकारी है कि जगजीत सिंह के खालिस्तानी आतंकवादी अर्शदीप दल से संबंध हैं। शहरी पुलिस ने कहा कि वह कुख्यात बंबीहा गिरोह का भी सदस्य है और विदेशों में स्थित राष्ट्र विरोधी तत्वों से निर्देश प्राप्त कर रहा है, वह उत्तराखंड में एक हत्या के मामले में पैरोल जम्पर भी है।

पुलिस ने साथ ही साथ यह भी बताया कि नौशाद हरकत-उल-अंसार से भी जुड़ा हुआ है, जो पाकिस्तान में स्थित एक आतंकवादी समूह है और मुख्य रूप से जम्मू और कश्मीर में काम करता है। वह हत्या के दो मामलों में आजीवन कारावास की सजा काट चुका है और विस्फोटक अधिनियम के तहत एक मामले में 10 साल की सजा भी काट चुका है।

पुलिस ने उनके पड़ोसियों के हवाले से कहा कि उन्होंने एक नया रेफ्रिजरेटर खरीदा और उसे एक हफ्ते बाद लौटाया। यह पूछे जाने पर कि वे रेफ्रिजरेटर क्यों लौटा रहे हैं, उन्होंने कहा कि यह ठीक से काम नहीं कर रहा है।

पुलिस को संदेह है कि उन्होंने उस व्यक्ति को मार डाला, शरीर को काटकर एक रेफ्रिजरेटर में रख दिया, आगे की जांच चल रही थी।

लेखक- सात्विक उपाध्याय

Leave a Reply

Your email address will not be published.