ब्रेकिंग न्यूज़ 

भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी 2 दिवसीय बैठक, काशी-तमिल संगमम जैसे और कार्यक्रम करें आयोजित : पीएम मोदी

भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी 2 दिवसीय बैठक, काशी-तमिल संगमम जैसे और कार्यक्रम करें आयोजित : पीएम मोदी
नई दिल्ली : बीते सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ली के पटेल चौक से लेकर संसद मार्ग-जय सिंह रोड जंक्शन तक संसद मार्ग पर जन भागीदारी के साथ एक रोड शो किया। जिसके पश्चात पीएम मोदी ने कार्यकारिणी की बैठक की।
बता दें कि पिछले वर्ष नवंबर-दिसंबर में वाराणसी में महीने भर चलने वाले सांस्कृतिक एकता कार्यक्रम, काशी-तमिल संगमम के सफल समापन के बाद, सोमवार को पीएम मोदी ने भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के दौरान मौजूद तमाम 350 से अधिक पार्टी कार्यकर्ताओं से काशी तमिल संगमम की तर्ज़ पर स्केच तैयार कहने को कहा। पीएम ने कहा की मजबूत सांस्कृतिक राष्ट्रीय एकता के लिए भविष्य में इस तरह के आयोजन करना देश के प्रगति के लिए तथा एकजूटता को बढ़ाने में महत्त्वपूर्ण योगदान देगा।
दो दिवसीय भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के पहले दिन कुछ गैर-राजनीतिक फैसले भी हुए। बता दें कि मोदी जी ने बैठक के दौरान काशी तमिल संगमम जैसे कार्यक्रम पर जोर देते हुवे कहा की सभी राज्य अपनी संस्कृति, सभ्यता और विरासत को एक-दूसरे के साथ साझा करें और देश एकजुट हो सांस्कृतिक रूप से एकता के एक धागे में जुड़ा रहे।
“प्रधानमंत्री ने इस बात पर भी जोर दिया कि राज्यों के बीच स्थानीय भाषाओं और संस्कृति का आदान-प्रदान होना चाहिए।”
बता दें की बैठक में पीएम मोदी के मन के बात कार्यक्रम का भी ज़िक्र हुआ। पीएम मोदी के ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ के प्रयासों के महत्व को दर्शाते हुए, इस कार्यक्रम का उद्देश्य काशी और तमिलनाडु के बीच सदियों पुराने संबंधों का जश्न मनाना, पुन: पुष्टि करना और फिर से खोजना है – देश के दो – सीखने के लिए सबसे महत्वपूर्ण प्राचीन मूल तत्व बताया।
निर्मला सीतारमण:
केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को यह भी बताया कि भाजपा कार्यकारिणी की बैठक में शामिल लोगों ने देश को सांस्कृतिक विरासत और सांस्कृतिक भावना के जरिए एकता के सूत्र में मजबूती से बांधने के लिए पीएम मोदी को धन्यवाद दिया।
 निर्मला सीतारमण ने संवाददाताओं से कहा कि पिछले साल हुए काशी-तमिल संगम पर भी चर्चा हुई।
सीतारमण ने मीडियाकर्मियों से कहा, “काशी-तमिल संगमम में आने वाले लोग भी प्रभावित हुए हैं और कार्यक्रम का उत्तर प्रदेश के पर्यटन के साथ संस्कृति में प्रभाव पड़ा है।”
उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर में प्रगति, बुद्ध सर्किट का पुनरुद्धार, राम मंदिर ,इन सभी कार्यों के लिए पीएम मोदी को बधाई दी गई है।
उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के आम जनता से जुड़े गैर-राजनीतिक कार्यक्रम, मन की बात, जिसमें उन्होंने आम जनता को एक स्थायी पुल के साथ शामिल किया, जिसके परिणामस्वरूप गांव और देश भर के लोगों ने सेवा की भावना के रूप में सक्रिय रूप से भाग लिया।
वृक्षारोपण हो, सड़कें बनाना हो, किसी को अस्पताल ले जाना हो, इन तमाम घटनाक्रमों पर राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के पहले दिन चर्चा हुई।
लेखक सात्विक उपाध्याय 

Leave a Reply

Your email address will not be published.