ब्रेकिंग न्यूज़ 

पीएम मोदी ने 21 अंडमान द्वीपों का किया नामकरण

पीएम मोदी ने 21 अंडमान द्वीपों का किया नामकरण

23 जनवरी, सोमवार को भारत में नेता जी सुभाष चंद्र बोस के जन्मदिवस के मौके पर अंडमान के लगभग 21 द्वीपों का नामकरण किया। बता दें कि पराक्रम दिवस के  मौके पर आज महान स्वतंत्रता सेनानी नेता जी सुभाष चंद्र बोस को  पूरा देश याद कर रहा है, लेकिन नेताजी के प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का समर्पण उन्हें देश के बाकी नेताओं से अलग दिखाता है। नेताजी हमेशा युवाओं के लिए प्रेरणा और नेताओं के रोल मॉडल रहे।  पीएम मोदी हमेशा नेताजी से प्रेरणा लेकर आगे बढ़े।  उन्होंने अपने लिए कुछ नहीं किया, लेकिन जनता को सबकुछ देने की हमेशा कोशिश की।  इस खास मौके पर बता दें कि पीएम ने नेता जी को श्रद्धांजली अर्पीत की। साथ ही मोदी जी ने अंडमान के द्वीपों का नामकरण करते हुए कहा कि 21 द्वीपों के नए नामों में कई संदेश शामिल होंगे ।

स्वराज द्वीप अंडमान निकोबार

इस मौके पर पीएम मोदी अंडमान निकोबार में आयोजित एक बड़े कार्यक्रम मेंं हिस्सा लेते हुए 21 अनाम द्वीपों को नाम दिया और परमवीर चक्र से सम्मानित होने वाले जवानों के नाम की घोषणा भी की। इन वीरों में विक्रम बत्रा, अब्दुल हमीद जैसे नाम शामिल हैं। पीेएम मोदी ने कहा अंडमान  की ये धरती वो धरती है, जहां पहली बार भारतीय तिरंगा फहराया गया था। जहां पहली बार स्वतंत्र भारत की सरकार बनी। साथ ही उन्होने कहा कि आज नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती है, देश इस दिन को पराक्रम दिवस के रुप में मनाता है।

पीएम ने कहा कि आज परमवीर चक्र विजेताओं के नाम पर द्वीपों का नाम रखे जाने से, ये आने वाली पीढ़ियों के लिए प्रेरणा के स्थल बनेंगे। नेताजी से जुड़े गोपनीय दस्तावेजों को सार्वजनिक किए जाने की मांग की जा रही थी, हमने यह किया। अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में नेताजी का स्मारक लोगों के दिलों में देशभक्ति की भावना का संचार करेगा। लोग अब हमारे स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास के बारे में जानने के लिए अंडमान जा रहे हैं।  दिल्ली और बंगाल से लेकर अंडमान-निकोबार द्वीप समूह तक पूरा देश नेताजी को श्रद्धांजलि अर्पित कर रहा है, उनसे जुड़ी विरासत को सहेज रहा है।

शहिद द्वीप, दक्षिण अंडमन निकोबार

पीेएम ने कहा कि वीर सावरकर और देश के लिए लड़ने वाले कई अन्य नायकों को यहां कैद करके रखा गया था। मोदी जी ने पुरानी एक बात का जिक्र करते हुए कहा कि लगभग 4-5 साल पहले जब मैं पोर्ट ब्लेयर गया था, तब मैने वहां के तीन मुख्य द्वीपों को भारतीय नाम समर्पित किया था।  उन्होने कहा कि आज मैंने जिन 21 द्वीपों का नामकरण किया है इनमें कई संदेश हैं जो कि एक भारत, श्रेष्ठ भारत का है, यह संदेश हमारे सशस्त्र बलों की वीरता का है। पीएम मोदी ने यह भी कहा कि द्वीपों के पुराने नामों में गुलाम भारत की एक छाप थी। पीेएम ने साथ ही कहा कि अब यहां लोग प्राकृतिक सौंदर्य के साथ-साथ भारतीय वीर जवानों की सौर्य गाथा को भी देखने तथा सूनने आ रहे हैं।

लेखक- सात्विक उपाध्याय 

Leave a Reply

Your email address will not be published.