ब्रेकिंग न्यूज़ 

सर्जिकल स्ट्राइक पर जयराम रमेश-दिग्विजय सिंह के बयान से कांग्रेस ने पल्ला झाड़ा

सर्जिकल स्ट्राइक पर जयराम रमेश-दिग्विजय सिंह के बयान से कांग्रेस ने पल्ला झाड़ा

नई दिल्ली: सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के बयान के बाद अब यह मामला तूल पकड़ता जा रहा है।  बता दें कि सोमवार, 23 जनवरी  को उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर सवाल उठाए और केंद्र सरकार पर कई आरोप भी लगाए, जिसके बाद कांग्रेस को सफाई देनी पड़ी। कांग्रेस ने उनके बयान का पल्ला झाड़ते हुए कहा कि ये उनके निजी विचार हैं। जम्मू-कश्मीर में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान एक बार फिर दिग्विजय सिंह पत्रकारों से घिरे, तब कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने हस्तक्षेप किया और उन्हें प्रधानमंत्री के पास जाकर सवाल पूछने को कहा।

भड़कते  हुए उन्होंने कहा, ”इस पर कांग्रेस को जो कहना था, वह पार्टी पहले ही कह चुकी है। अब पीएम मोदी के पास जाइए और उनसे पूछिए। ” इससे पहले सोमवार को जयराम रमेश ने कहा था, ”कांग्रेस ने जो कहना चाहा वो कह दिया और मैंने उसके बारे में ट्वीट भी कर दिया।

इसके आगे मैं कुछ नहीं कहना चाहता.” उल्लेखनीय है कि भारत जोड़ो यात्रा अभी जम्मू-कश्मीर में है और आज यात्रा की शुरुआत सीतानी बाईपास नगरोटा से हुई।गौरतलब है कि दिग्विजय सिंह ने कहा था, ‘पुलवामा में हमारे सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए। सीआरपीएफ के अधिकारियों ने पीएम मोदी से सभी जवानों को एयरलिफ्ट करने की गुजारिश की थी, लेकिन पीएम मोदी नहीं माने, ऐसी गलती कैसे हो गई? इस बयान के बाद दिग्विजय सिंह बीजेपी के निशाने पर आ गए हैं। भारतीय जनता पार्टी के निशाने पर आने के बाद  पार्टी ने कहा कि यह सेना का घोर अपमान है और इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

दिग्विजय सिंह ने भारत जोड़ो यात्रा के दौरान एक मंच से कहा था कि केंद्र ने आज तक 2016 के सर्जिकल स्ट्राइक या 2019 के पुलवामा आतंकी हमले को लेकर संसद में रिपोर्ट पेश नहीं की है।  उन्होंने यह भी कहा कि सरकार ने अब तक कोई सबूत पेश नहीं किया है।  दूर और यह झूठ बोल रहा है। इस दौरान उन्होंने कश्मीर का जिक्र करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री कहते थे कि आतंकवाद खत्म हो जाएगा, लेकिन अनुच्छेद 370 हटने के बाद आतंकवाद बढ़ा है। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार यहां कोई फैसला नहीं लेना चाहती है और समस्या को स्थायी बनाना चाहती है ताकि ‘कश्मीर फाइल्स’ जैसी फिल्में बनती रहें और लोगों में नफरत फैलती रहे। इस बात के बाद एक बार फिर सभी के अंदर आक्रोश का माहौल है तथा लोग इस प्रकार के गीरे हुए बयान को लेकर दिग्विजय सिंह को घेर रहे हैं तथा सेना के सौर्य और पराक्रम पर किये गये इस प्रकार के प्रश्न जो कि  सर्जिकल स्ट्राइक के सबुत मांगना है। भारतीय जनता पार्टी इसे निंदनात्मक बता रही है।

लेखक- सात्विक उपाध्याय

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.