ब्रेकिंग न्यूज़ 

जगमोहन डालमिया-महान क्रिकेट प्रशासक

जगमोहन डालमिया-महान क्रिकेट प्रशासक

भारत की एक जानीमानी हस्ती और क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष जगमोहन डालमिया का 20 सितंबर 2015 की रात को कोलकाला के बीएम बिड़ला अस्पताल में निधन हो गया। 75 वर्षीय डालमिया ने बृहस्पतिवार शाम को अचानक अलीपुर स्थित अपने निवास स्थान पर सीने में दर्द की शिकायत की, जिसके बाद उन्हें बीएम बिड़ला हार्ट रिसर्च इंस्टिट्यूट में भर्ती करवाया गया। जहां उनकी एंजियोग्राफी की गई और दिल की धमनी में जमे खून के थक्कों को हटाया गया। इसके बाद उन्हें आईसीयू में रखा गया था, हालांकि उनकी हालत स्थिर बताई जा रही थी जबकि सूत्रों के मुताबिक उनकी हालत अस्पताल में भर्ती कराने के बाद शाम से ही अचानक बिगडऩी शुरू हो गई थी। दिल का दौरा पडऩे और शरीर के कई और अंगों के काम न करने के कारण उनका निधन हो गया।

जगमोहन डालमिया का जन्म 30 मई 1940 में कोलकाता में हुआ था। डालमिया का क्रिकेट प्रशासक के तौर पर तीन दशक से भी लंबा सफर रहा। वह 1979 में बीसीसीआई से जुड़े थे और 1983 में इसके कोषाध्यक्ष के तौर पर नियुक्त हुए। 1997 में वह बिना किसी विरोध के अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के अध्यक्ष चुने गए थे। गौरतलब है कि विश्व के सबसे कर्मठ क्रिकेट प्रशासकों में शुमार डालमिया दस वर्षों के लंबे अंतराल के बाद मार्च 2015 में फिर से एक बार बीसीसीआई के अध्यक्ष पद पर नियुक्त किये गए थे। डालमिया के नेतृत्व में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड सबसे संपन्न खेल संस्थान बना। 1987 में आई.एस. बिद्रा की मदद से पहली बार क्रिकेट वल्र्ड कप को वह भरतीय उपमहाद्वीप में लाने में सफल हुए। बीते सालों में लाभार्जित करने वाले टीवी कार्यक्रमों की श्रृंखला का सौदा करने का श्रेय भी उन्हें ही जाता है, उन्होंने निजी टीवी चैनलों को क्रिकेट के प्रसारण का अधिकार दिया, जिससे धन अर्जित करने का नया माध्यम भी खुला। इसके प्रसारण पर पहले केवल दूरदर्शन का ही एकाधिकार था। डालमिया केवल भारतीय उप-महामहाद्वीप में ही नहीं बल्कि, पूरे विश्व में अपने प्रशासनिक कौशल के लिए लोकप्रिय थे। एक दशक के भीतर ही लोग उनकी प्रबंधन क्षमताओं को स्वीकार करने लगे थे।

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जगमोहन डालमिया के निधन पर शोक व्यक्त किया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि ‘इस दु:ख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं श्री जगमोहन डालमिया के परिवार के साथ हैं। श्री डालमिया की आत्मा को शांति मिले।’

सचिन तेंडुलकर ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि ‘डालमिया के परिवार वालों को और मित्रों को मेरी हादिक संवेदनाएं, अभी जून में ही मेरी उनसे मुलाकात हुई थी, उस समय मुझे जरा भी अंदाजा नहीं था कि ये हमारी आखिरी मुलाकात होगी।’

बीसीसीआई सचिव अनुराग ठाकुर ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि ‘बीसीसीआई के सभी सदस्यों की ओर से मैं डालमिया के शोकाकुल परिवार के प्रति संवेदना जाहिर करता हूं। भारतीय क्रिकेट के पितातुल्य डालमिया ने भारत में क्रिकेट के खेल के विकास के लिए काम किया। क्रिकेट जगत को उनकी कमी बहुत खलेगी। भारतीय क्रिकेट में उनके योगदान की बराबरी नहीं की जा सकेगी।’

नवजोत सिंह सिद्धू ने शोक व्यक्त करते हुए कहा कि ‘जगमोहन डालमिया का निधन भारतीय क्रिकेट के लिए अपूरणीय क्षति है। भगवान उनकी आत्मा को शांति दे।’

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी ने भी डालमिया के निधन पर शोक व्यक्त किया। डालमिया को एक कुशल प्रशासक करार देते हुए त्रिपाठी ने कहा, ‘उनका निधन क्रिकेट के खेल के लिए बड़ी क्षति है।’ राज्यपाल ने अपने संदेश में कहा, ‘उनके परिवार के सदस्यों और मित्रों के प्रति मैं अपनी गहरी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं।’ ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे।’

                (उदय इंडिया ब्यूरो)

 

biol отзывылобановский александр супермаркет класс

Leave a Reply

Your email address will not be published.