ब्रेकिंग न्यूज़ 

मुंबई से लतिकेश शर्मा कहते हैं कि मुंबई

मुंबई से लतिकेश शर्मा कहते हैं कि मुंबई

कहते हैं कि मुंबई को सपनों का शहर कहा जाता है। यही वजह है की देश के कई हिस्सों से लोग अपनी किस्मत आजमाने के लिए इस शहर का रुख करते हैं। भले ही इस शहर में कामयाबी कम लोगों को मिलती हो, लेकिन जब भी किसी मध्यम परिवार से आया कोई शख्स कामयाब होता है तो उस तबके से आने वाले लोगों के बीच यह उम्मीद जरुर जागती है की किसी दिन उन्हें भी इस शहर में सफलता हाथ लगेगी।

इन दिनों ‘कॉमेडी के किंग’ कहे जाने वाले कपिल शर्मा की कहानी भी कुछ इस तरह की ही है। 2 अप्रैल 1981 को पंजाब के अमृतसर शहर में जन्मे कपिल शर्मा भी अपनी जिन्दगी में एक बड़ा मुकाम हासिल करना चाहते थे। कॉलेज के दिनों में कपिल शर्मा नाटकों में भाग लेने के अलावा गायकी का भी शौक रखते थे। खास बात यह थी की कपिल शर्मा भी अमृतसर के उसी कॉलेज के छात्र थे जहां से कभी देश के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पढ़ाई की थी। कपिल शर्मा के दोस्त उनकी आवाज की काफी तारीफ किया करते थे। कपिल शर्मा का भी सपना एक कामयाब सिंगर बनने का था, लेकिन किस्मत ने उन्हें ‘कॉमेडी का किंग’ बना दिया।

वो दौर साल 2004 का था। कपिल को यह आभास था कि सिंगर बनने के लिए उन्हें काफी संघर्ष करना पड़ेगा। ऐसे में उन्होंने अपनी एक और प्रतिभा यानी लोगों को हंसाने के हुनर को अपना करियर बनाने का फैसला किया। उस दौर में कॉमेडी के नाम पर सिर्फ दो सितारों का बोलबाला था। बॉलीवुड में जॉनी लीवर और स्टैंड अप कॉमेडियन के तौर पर राजू श्रीवास्तव की तूती बोलती थी, लेकिन कपिल शर्मा को अपने हुनर पर पूरा यकीन था। इसी बीच उन्हें पंजाबी चैनल एम.एच 1 पर एक कॉमेडी प्रतियोगिता में भाग लेने का मौका मिला। इस प्रतियोगिता में वे रनर-अप रहे। लेकिन यह सफलता उन्हें राष्ट्रीय स्तर पर मुकाम नहीं दिला सकी। उसी दौरान कॉमेडी के नए कलाकारों को प्लेटफार्म देने के लिये एक इंटरटेनमेंट चैनल पर ‘द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज’ प्रोग्राम को शुरू किया गया। इस प्रोग्राम में कॉमेडी में कई नये कलाकार अपनी किस्मत आजमा रहे थे।

10-10-2015

कपिल शर्मा ने भी इस शो के लिए अमृतसर में आयोजित हुए ऑडिशन में भाग लिया था, लेकिन उस ऑडिशन में कपिल शर्मा को रिजेक्ट कर दिया गया। इस असफलता से कपिल शर्मा काफी मायूस हो गए थे, लेकिन कपिल शर्मा ने हिम्मत नहीं हारी और उन्होंने एक बार फिर साल 2007 में इस शो के लिए नई दिल्ली में आयोजित ऑडिशन में भाग लिया और यहां पर उन्हें इस शो के लिए चुन लिया गया। इस शो में कपिल शर्मा ने कॉमेडी में सफलता के ऐसे झंडे गाड़े की उन्हें ‘द ग्रेट इंडियन लाफ्टर चैलेंज’ प्रतियोगिता 2007 का विजेता घोषित किया गया। इनाम के रूप में उन्हें 10 लाख रुपये भी मिले। इस शो से मिली कामयाबी के बाद कपिल शर्मा ने पीछे मुड़कर नहीं देखा।

इस शो का विजेता बनने के बाद उन्होंने सोनी चैनल पर प्रसारित होने वाले ‘कॉमेडी सर्कस’ प्रोग्राम में लोगों को जमकर हंसाया, लेकिन लगातार इस प्रोग्राम में काम करने के बाद कपिल शर्मा को लगने लगा था कि अब वो समय आ गया है, जब वह अपने बल पर एक कॉमेडी-शो को कामयाब बनायें।

इसके लिए उन्होंने साल 2013 में कलर्स चैनल पर ‘कॉमेडी नाईट विद कपिल’ प्रोग्राम की शुरुआत की। नए कांसेप्ट के साथ शुरू किये गए इस प्रोग्राम को सफल बनाना कपिल शर्मा के सामने सबसे बड़ी चुनौती थी। कपिल बताते हैं कि जब उन्होंने इस प्रोग्राम को शुरू किया था तो कोई भी बड़ा सेलेब्रिटी इस प्रोग्राम में आने को तैयार नहीं था। ऐसे में उन्होंने अपने पहले एपिसोड के लिये जाने-माने एक्टर धर्मेंन्द्र को किसी तरह अपने शो में आने के लिए राजी किया। धीरे-धीरे यह प्रोग्राम अपनी रफ्तार पकडऩे लगा और कपिल का चुटीला अंदाज लोगों के बीच काफी लोकप्रिय हो गया। इस शो की कामयाबी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है की बॉलीवुड के लगभग सभी बड़े सितारे अपनी फिल्मों के प्रमोशन के लिए इसका रुख करने लगे। यह प्रोग्राम टीआरपी के चार्ट पर नए कीर्तिमान बनाने लगा।

कामयाबी के पीछे कड़ी मेहनत

कपिल शर्मा भले ही आज सफलता की नई बुलंदियों पर हैं, लेकिन एक दौर ऐसा भी था जब कपिल शर्मा को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। कपिल शर्मा के पिता   अमृतसर में हेड पुलिस कांस्टेबल थे, लेकिन साल 2004 में कैंसर की बीमारी की वजह से उनके पिता का निधन हो गया। कपिल शर्मा बताते हैं कि पिता के निधन के बाद उनके परिवार पर मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा। उनके परिवार में उनकी मां के अलावा उनका एक बड़ा भाई और एक बहन थी। घर का   गुजारा बड़ी ही मुश्किल से उनकी मां को मिलने वाली पेंशन से हो रहा था। ऐसे में कपिल शर्मा किसी भी कीमत पर कुछ-ना- कुछ कर अपने परिवार को आर्थिक सहारा देना चाहते थे। कपिल के अन्दर दर्द का सैलाब था, लेकिन उन्होंने अपने गमों को भुला कर लोगों को हंसाना शुरू कर दिया और उनका यह हुनर लोगों को काफी पसंद आने लगा। कलर्स चैनल पर प्रसारित होने वाले ‘कॉमेडी नाईट विद कपिल’ शो ने उन्हें शोहरत के साथ दौलत भी दी और कपिल शर्मा को कॉमेडी के किंग के खिताब से नवाजा जाने लगा। कपिल की इंस्टेंट कॉमेडी और पंच लोगों को काफी पसंद आने लगे।

कपिल का दर्द

कपिल शर्मा के पास आज भले ही सब कुछ हो- दौलत, शोहरत और इज्जत, लेकिन एक दर्द से वे आज भी नहीं उबर पाये हैं। वे कहते हैं की आज भी अपने पिता को यादकर वे भावुक हो जाते है। अपने पिता के असामयिक निधन से उन्हें काफी दु:ख हुआ था। उन्हें लगता है कि आज यदि उनके पिता इस दुनिया में होते तो उनकी कामयाबी को देख कर काफी खुश होते, लेकिन उन्हें इस बात की खुशी है की उनकी कामयाबी के साथ आज उनकी मां हैं और वे अपनी मां को हर संभव खुशियां देने की कोशिश करते हैं।

10-10-2015

बाबाजी का ठुल्लू’ ने जमाया रंग

यूं तो कपिल शर्मा अपनी इंस्टेंट कॉमेडी को लेकर काफी मशहूर है, लेकिन ‘कॉमेडी नाईट विद कपिल’ में उनके द्वारा बोले जाने वाला एक खास डायलाग लोगों के बीच काफी हिट रहा। वो था- मुझे क्या मिलेगा? ‘बाबा जी का ठुल्लू’। ‘बाबा जी का ठुल्लू का यह पंचलाइन शो में आने वाले सेलेब्रिटिज के बीच भी काफी लोकप्रिय हुआ। वहीं आम लोगों ने भी इस डायलॉग को आपस में एक-दूसरे को बोलकर काफी लोकप्रिय बना दिया।

फिल्मों में मिला ब्रेक

‘कॉमेडी नाईट विद कपिल’ प्रोग्राम को मिली अपार सफलता ने कपिल शर्मा को एक बड़ा स्टार बना दिया। उनके इस शो के जाने-माने फिल्म डायरेक्टर अब्बास मस्तान की जोड़ी भी मुरीद हो गई। अब्बास मस्तान की जोड़ी आमतौर पर थ्रिलर और सस्पेंस से जुड़ी फिल्मों को बनाने के लिए मशहूर है, लेकिन कपिल शर्मा की बढ़ती लोकप्रियता को भुनाने के लिए उन्होंने कपिल शर्मा को लेकर एक कॉमेडी फिल्म बनाने का मन बनाया। जब कपिल शर्मा के सामने अब्बास मस्तान का यह   प्रस्ताव आया तो वे मना नहीं कर पायें और इस तरह कपिल शर्मा ने बॉलीवुड में बतौर हीरो एंट्री ले ली। कपिल शर्मा की फिल्म ‘किस-किस को प्यार करूं’ इस सप्ताह रिलीज हो रही है। कपिल शर्मा को उम्मीद है की यह फिल्म दर्शकों को जरुर पसंद आएगी।

प्रधानमंत्री ने बनाया ‘स्वच्छ भारत अभियान’ का एम्बेसडर

कपिल शर्मा की बढ़ती लोकप्रियता से देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी अछूते नहीं हैं। उनकी लोकप्रियता को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उन्हें ‘स्वच्छ भारत अभियान’ का एम्बेसडर घोषित कर दिया। कपिल शर्मा का कहना है कि यह उनके लिए एक बड़ा सम्मान है। वे कहते है कि उन्होंने भगवान से जितना मांगा था उससे ज्यादा उन्हें मिला है। उन्होंने इस अभियान की जबरदस्त वकालत करते हुए कहा की हम सब को इस अभियान में अपना पूरा सहयोग देना चाहिए और अपने आसपास के वातावरण को स्वच्छ बनाने की पूरी कोशिश करनी चाहिए।

कपिल शर्मा की कामयाबी को लेकर जाने-माने अभिनेता शेखर सुमन कहते हैं कि जब साल 2007 में मैंने कपिल शर्मा को लाफ्टर चैलेंज प्रोग्राम में देखा (शेखर सुमन उस शो में पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू के साथ जज थे।) तो तभी से उन्हें इस बात का एहसास हो गया था की आगे चलकर वे कॉमेडी की इस विधा में एक बड़ा मुकाम हासिल करेंगें। उन्होंने कपिल शर्मा को उनकी आने वाली फिल्म के लिये बधाई देते हुए कहा कि कपिल के पास खोने के लिए कुछ नहीं है। जो कुछ भी है, बस उसे पाना है। ऐसे में यदि उनकी फिल्म नहीं भी चलती है तो उनके करियर पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

जाने-माने फिल्म विश्लेषक मयंक शेखर ने उदय इंडिया से बात करते हुए कहा कि बतौर कॉमेडियन कपिल शर्मा की यह एक बड़ी कामयाबी है। उन्होंने कहा की कपिल शर्मा ने भारत में कॉमेडी के उस प्रचलन को शुरू किया जो आमतौर से हॉलीवुड में पहले से काफी लोकप्रिय है। जहां शो में आने वाले दर्शकों का भी मजाक उड़ाया जाता है और उनका यह अंदाज लोगों को काफी पसंद आया। मयंक शेखर का कहना है कि कपिल शर्मा फिल्मों में कितने कामयाब होंगें,

इसके लिए हमें थोडा इंतजार करना होगा। हालांकि उन्होंने कहा कि बॉलीवुड में कुछ कॉमेडियन रहे हैं जिनकी फिल्मों को देखने के लिये दर्शक विशेष तौर से आते थे। जिनमें महमूद प्रमुख थे। वहीं हॉलीवुड में भी कई कॉमेडियन ऐसे है जो बतौर एक्टर सफल रहे हैं। मयंक शेखर के मुताबिक कपिल शर्मा का लुक अच्छा है और वे कॉमेडी भी अच्छी कर लेते हैं, लेकिन इसके बावजूद बहुत कुछ उनकी पहली फिल्म की कामयाबी पर निर्भर करेगा।10-10-2015

जाने-माने कॉमेडियन एहसान कुरैशी ने उदय इंडिया पत्रिका से बात करते हुए कहा कि कपिल शर्मा की कामयाबी सब कॉमेडियन के लिये एक बड़ा सम्मान है। वे कहते हैं कि पहले कॉमेडी को वो सम्मान नहीं मिलता था, लेकिन कपिल शर्मा ने अपनी कामयाबी से इस हुनर को नई बुलंदियों तक पहुंचा दिया है। जाने-माने निर्देशक की जोड़ी अब्बास मस्तान द्वारा कपिल शर्मा को फिल्मों में मौका दिए जाने को एहसान एक बड़ी कामयाबी मानते’ हैं, लेकिन फिल्मों में कपिल शर्मा के भविष्य को लेकर एहसान ज्यादा आश्वस्त नहीं है। उनका मानना है की बॉलीवुड में बतौर हीरो कामयाब होने के लिए स्टार मेटेरियल का होना जरुरी है। यानी उसे डांस, फाइट और अन्य विधा में काफी मजबूत होना पड़ता है। जिसमें कपिल कमजोर हैं। एहसान कुरैशी ने कपिल की आनेवाली फिल्म के लिए उन्हें बधाई तो दी है, लेकिन उनका कहना है कि कपिल की खूबी इंस्टेंट कॉमेडी है और उन्हें अपने इस हुनर को आगे बढ़ाते हुए ही अपने करियर को मजबूत बनाना चाहिए।

फिल्म का अंजाम जो भी हो, लेकिन कपिल शर्मा की कामयाबी काफी कुछ कहती है। कहते हैं कि यदि किसी में कुछ करने का जज्बा हो तो कोई भी मुश्किल उसका रास्ता नहीं रोक सकती। किसी ने सही कहा है-

कौन कहता है कि आसमान में छेद नहीं हो सकता

एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारो।

मुंबई से लतिकेश शर्मा

как создать контекстную рекламуwobs

Leave a Reply

Your email address will not be published.