ब्रेकिंग न्यूज़ 

अडवाणीजी मुस्कराए

अडवाणीजी मुस्कराए

सुना है अपने अडवाणी जी मुस्करा उठे हैं। मन पसंद सहायक जो पा गए। मोदी सरकार में जिसकी यह मुराद पूरी हो जाए बस समझ लीजिए गंगा नहा आया, क्योंकि प्रधानमंत्री शुचिता के पक्षधर हैं और वह नहीं चाहते कि उनके या किसी वरिष्ठ नेता अथवा सरकार के वरिष्ठ मंत्री पर कोई धब्बा लगे। इसलिए निजी सचिव, ओएसडी सब परखे होने चाहिए। गृह मंत्री राजनाथ सिंह इस मामले में पहला झटका खा चुके हैं। लिहाजा जब अडवाणी जी ने दीपक चोपड़ा को रखने की इच्छा जाहिर की तो कईयों की सांसे ऊपर नीचे हो रही थीं। हो भी क्यों न… अडवाणी जी जो थे। मीडिया की भी निगाह और ऊपर से प्रधानमंत्री के फरमान। आमतौर पर यह पद अंडर सेक्रेटरी स्तर का होता है। चोपड़ा जी इससे ऊंचे ओहदे पर रह चुके हैं, लेकिन सुना है कि जब यह मामला सामने आया तो अडवाणी जी ने चुप्पी साध ली और बाद में दीपक चोपड़ा जी ने कार्यालय।паркет на полкак играть в теннис большой

Leave a Reply

Your email address will not be published.