ब्रेकिंग न्यूज़ 

एक ठो राज्यसभा दे दो

एक ठो राज्यसभा दे दो

अपने बाबू चौधरी अजीत सिंह आजकल रोजगार की तलाश में हैं। दशकों से लुटियन जोन में रह आए चौधरी का मन छतरपुर में नहीं लग रहा है। शरद यादव के घर में भी वह एक घंटे बंद कमरे में गुफ्तगू करते रहे। नीतीश कुमार भी थे और सुना है कि जनता परविार की एकजुटता और उत्तर प्रदेश में चुनावी समीकरण देखकर चौधरी भी तोल-मोल कर लेना चाह रहे हैं। लिहाजा एक ठो राज्यसभा सीट का दरकार है।



एस जयशंकर की बल्ले-बल्ले


09-01-2016

पीएम मोदी भी मुरीद हैं। विदेश सचिव की काबिलियत का बखान करते नहीं थकते। एनएसए के साथ तालमेल भी जोरदार है। सुना है कि दो महीने बाद जयशंकर का कार्यकाल खत्म हो रहा है, लेकिन बताते हैं कि पीएम मोदी उन्हें छोडऩे वाले नहीं। ठीक है जयशंकर भाई चलो आपकी ही सही।



मौनी बाबा


09-01-2016

पीएम का रूझान देखकर लगभग सभी मंत्री मौनी बाबा हो गये हैं। कुछ ने तरकीब निकाल कर ट्विट करना शुरू किया तो उन्हें संदेशे आने लगे थे, लिहाजा सबों ने खामोशी ओढ़ ली है। लेकिन, अब सरकार महसूस कर रही है कि इससे सरकार के कामकाज प्रचारित नहीं हो पा रहे हैं। अब बताइए भला इसमें मंत्रियों का क्या दोष?



प्रभु को याद आ रहे प्रभु


09-01-2016

अपने रेलमंत्री जोरदार बाजीगर माने जा रहे थे। उनकी इसी काबिलियत पर पीएम मोदी ने उन्हें लाइन तोड़कर कैबिनेट में जगह दी थी। लेकिन, रेल को पटरी पर लाने के लिये अब प्रभु को प्रभु याद आ रहे हैं। चाटर्ड अकाउंटेंसी के सारे दांव फेल हो जाने पर उन्होंने लालू भाई का फॉर्मूला अपना लिया है। अब चुपके से यात्रियों की जेब से पैसा खीचने में जुट गए हैं।



जादू रह गया


09-01-2016

पटना में अमित शाह का जादू चल गया था। जिसे चाहा तोड़ लाये। लेकिन, गुवाहाटी में मामला फंस गया। बदरुद्दीन अजमल ने हाथ मिलाने से मना कर दिया। अजमल मुस्लिम संगठनों के दबाव में कांग्रेस के साथ चिपक गये हैं। ऐसे में शाह भाई अब केवल हाथ मल रहे हैं।



दावत में दाल गायब


09-01-2016

पत्रकारों को दाल मक्खनी में आनंद नहीं आ रहा था और वे अरहर की दाल ढूंढ रहे थे लेकिन, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के भोज में कहीं थी ही नहीं। थक हार कर भाई लोगों ने विदेश मंत्री से पूछ ही लिया। सुषमाजी ने बड़ी चालाकी से जवाब दिया। लेकिन, ये भी कहां मानने वाले थे। पलटकर कह बैठे 180 रुपये किलो दाल है, कॉस्ट कटिंग चल रही है। अब तो आप समझ ही गए होंगे कि इस पर सुषमा कितना मुस्कराई होंगी।



सांसत में केजरी


09-01-2016

सुना है कि दिल्ली के सीएम केजरीवाल का संकट बढऩे वाला है। एक तो राजेन्द्र कुमार और सतर्कता चीफ चेतन सांघी पर गाज के बाद अफसरों में जहां खौफ बढ़ गया है, वहीं सरकार के कुछ निर्णयों पर भी सवाल उठने वाले हैं। बताते हैं कि इसी खौफ से केजरीवाल की तिलमिलाहट भी बढ़ रही है। हो भी क्यों न, जिस भ्रष्टाचार से लड़कर सीएम बने, अब उन्हीं के चहेतों पर गाज जो गिरी है।



कैप्टन साहब उठ जाओ


09-01-2016राजा कैप्टन अमरेन्द्र सिंह जब से पंजाब प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष बने हैं, फूले नहीं समां रहे हैं। लेकिन हाईकमान तंग हो रहा है। कैप्टन अपनी आदत से बाज नहीं आ रहे हैं। सुना है कि राजशाही अंदाज देर तक बंगले में रहने वाले कैप्टन अगर यूं मस्त रहे तो पार्टी का बेड़ा ही पार हो जाएगा। लिहाजा कैप्टन को अब कामकाज शुरू करने के लिए कोंचा जा रहा है।



आधी भाजपा मौज में


09-01-2016

जब से केजरी ने अरूण जेटली की बॉल पर डीडीसीए ग्रांउड में छक्का जड़ा है, आधे भाजपाई मौज में हैं। कईयों ने तो बाकायदा कीर्ति आजाद की वाहवाही शुरू कर दी। सुना है पूरा मार्गदर्शक मंडल भी आनंद में है। बताते हैं इसी का नतीजा रहा कि सोनिया के चैंबर में उनसे मिलकर लौटे कीर्ति को शाह ने खूब मनाया, लेकिन उन्होंने अमित भाई की भी नहीं सुनी। हो भी क्यों न, आखिर फिर पीएम मोदी के तारणहार अरूण जेटली को घेरने का मौका जो मिला था।


стоматология в Москвепоисковая система гугл

Leave a Reply

Your email address will not be published.