ब्रेकिंग न्यूज़ 

हे भगवान

हे भगवान

मुलायम के उत्तम प्रदेश, उत्तर प्रदेश की हालत तो देखिए। नेताजी सैफई में करोड़ों रूपये सरकारी खर्च करके जश्न मनाते रहे और राज्य में बेरोजगारी, कानून व्यवस्था, महंगाई जनता की कमर तोड़ रही है। हालत यह हैं कि पीएचडी, एमबीए और बीटेक जैसे डिग्रीधारियों को संविदा पर मिलने वाली सफाईकर्मी, रोडवेज में कंडक्टरी के लाले पड़ गये हैं। अकेले गोरखपुर मंडल में ही ऐसे दर्जनों आवेदन-पत्र आए हैं।



बादल सरकार


31-01-2016

अकाली सरकार के मायाजाल ने केंद्र की मुसीबत बढ़ा दी है। पठानकोट हमले के बाद जहां केंद्र सरकार की नींद खुली है तो वहीं पूरा राज्य ड्रग तस्करों की चपेट में नजर आ रहा है। जबकि पिता-पुत्र बादल कुछ भी सुनने को तैयार नहीं। यहां तक कि जिला कानून व्यवस्था भी आईपीएस अधिकारियों की बजाय राज्य के प्रमोटी अफसरों के भरोसे हैं। इसके लिये चाहे जो कहें, लेकिन बादल भाई कुछ सुनने को ही तैयार नहीं। उन्हें फूटी आंखों भी आईपीएस अफसर नहीं सुहाते।



लालू के दांत


31-01-2016

नीतीश कुमार की आंत में लालू के दांत चुभने लगे हैं। हार्ड निगोशिएटर लालू हर रोज शालीनता से बाजी खेल रहे हैं। वहीं नीतीश बाबू को ठिठुराती ठंड में पसीना आने लगा है। अच्छा करें तो दोनों के माथे और बुरा करें तो बिहार में नीतीश कुमार की सरकार की आफत। अब ऐसे विकास से लेकर कानून-व्यवस्था की गाड़ी हिचकोले खाती नजर आ रही है। सुना है, अब नीतीश जल्द ही एक कॉमन मिनिमम प्रोग्राम की योजना पर आगे बढऩे की कसरत कर रहे हैं।



माया खुश


31-01-2016

बसपा सुप्रीमो मायावती उत्तर प्रदेश में फिर से सीएम बनने के सपने देख रहीं हैं। हाल ही में मैडम ने 14 को-ऑर्डिनेटरों की बैठक बुलाई। इतना ही नहीं एक दिग्गज सर्वेक्षण ऐजेंसी का भी सहारा लिया। सुना है कि माया इसी से खुश नजर आ रही हैं कि यहां बीजेपी और कांग्रेस को उत्तर प्रदेश के 2017 में होने वाले चुनाव के लिए चेहरा नहीं मिल रहा है। वहीं इनकी पार्टी का सीधा मुकाबला अखिलेश की सपा से है। ऐसे में माया को लग रहा है कि वह अति पिछड़ों, ब्राह्मण और दलित मतदाताओं के सहारे बाजी मार ले जाएंगी। वह भी घर बैठे और बिना कुछ खास राजनीतिक प्रयास के ही।



बुढ़ापे का डर


31-01-2016

पीएम मोदी अपने ही कैबिनेट के कई मंत्रियों के सपने में उन्हें डरा रहे हैं। डर भी अनायास नहीं है। मोदी सरकार को कैबिनेट में फेरबदल करना है और कई मंत्री 75 साल की आयु को छू रहे हैं। अब इन मंत्रियों को बाहर होने का डर सता रहा हैं। एक मंत्री जी तो इन दिनों इतनी तंग हैं कि 10-12 घंटे तक मंत्रालय में पसीना बहा रहीं हैं। इतना ही नहीं हर बड़े निर्णय की जानकारी सीधे पीएमओ को दिलवा रही हैं। ताकि, पीएम को भी पता चल सके कि उम्र भले बढ़ गई, लेकिन दिमाग चलता है।



वीरभ्रद, भाई वीरभद्र


31-01-2016

सत्ता सुख से वंचित कांग्रेसी लुटियन जोन में रहने की जुगत तलाश रहे हैं। जुलाई में आनंद शर्मा समेत कुछ के राज्यसभा का कार्यकाल खत्म हो रहा है। शर्मा राजस्थान से राज्यसभा सांसद हैं और वहां से पार्टी की लुटिया डूब गई हैं। वहीं उनके गृह राज्य हिमाचल में वीरभद्र सीएम हैं। दोनों में पहले से ही छत्तीस का आंकड़ा है वहीं कपिल सिब्बल समेत कई कांग्रेसी भी कतार में हैं। जाने भगवान कहां से लगेगी नैय्या पार?



राहुल बाबा का टेस्ट


31-01-2016

राहुल बाबा ने उत्तर प्रदेश पीसीसी का पद खाली होने की घोषणा कर दी है, लेकिन उनके टेस्ट में कोई बैठना ही नहीं चाह रहा है। वह अपने सभी करीबियों को पकड़ कर परीक्षा रूम तक ला रहे हैं, लेकिन पार्टी की पतली हालत देखकर कोई गर्दन नहीं फंसा रहा है। प्रदीप जैन, राज बब्बर, आरपीएन सिंह, जतिन सभी कन्नी काट रहे हैं। ऊपर से जतिन को लेकर ताजा अफवाहों ने भी राहुल बाबा को परेशान कर दिया है। बाबा को समझ में नहीं आ रहा है कि इसमें कितनी सच्चाई है और कितनी अफवाह?



डूब गए डोभाल जी


31-01-2016

रायसीना हिल पर राज करने वाले एनएसए डोभाल जी की लुटिया डूब गई है। पठानकोट एयरबेस पर हमले ने उनकी पूरी टीआरपी डाउन कर दी है। हालत यह हो गई है कि उन्हें अब गृह मंत्री राजनाथ सिंह के पास जाकर नियमित ब्रीफिंग देनी पड़ रही है। यहां तक कि रक्षा मंत्री भी जा रहे हैं और विदेश मंत्री भी। अचानक बढ़े कद से ठाकुर साहब जहां अपनी मुस्कान नहीं रोक पा रहे हैं, वहीं डोभाल जी फिर दांव खेलने की फिराक में हैं।


подводка отпечатывается векеполная версия

Leave a Reply

Your email address will not be published.