ब्रेकिंग न्यूज़ 

मोदीजी की दृष्टि साफ हैं, और नजरिया विराट- शिवराज सिंह चौहान

मध्यप्रदेश में गर्मी के मौसम को चुनावी गर्मी ने और ज्यादा तल्ख कर दिया है। हालांकि भाजपा की बारात का दूल्हा नरेन्द्र मोदी है, लेकिन अन्य नेता भी जीत के लिए जी-तोड़ कोशिश कर रहे है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी ठीक उसी तरह भाग-दौड़ कर रहें है, जिस तरह दुल्हे का छोटा भाई नई भाभी के घर आने की खुशी में भागा-भागा फिरता है।

तीसरी बार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बने शिवराज सिंह चौहान ने चार महीने पहले ही सभी चुनावी पंडितों को झूठा साबित किया था। प्रदेश की कुल 230 विधानसभा सीटों में से 165 सीटें जीत कर ग्रामीण छवि वाले शिवराज सिंह चौहान ने एक नया कीर्तिमान बनाया था। उनकी इस शानदार जीत से मध्यप्रदेश में कांग्रेस तो हाशिए पर पहुंची ही है, साथ ही पार्टी में भी उनके विरोधियों के मुह बंद हो गए है।

पार्टी के पितृपुरूष लालकृष्ण आडवाणी की नजर में भले ही नरेन्द्र मोदी और शिवराज सिंह चौहान बराबर के क्षमतावान हों, लेकिन खुद शिवराज सिंह ऐसा नही मानते। उनका कहना है कि– ‘नरेन्द्र मोदी मेरे बड़े भाई हैं। उनका व्यक्तित्व विशाल है।’ शिवराज सिंह चौहान प्रदेश की पूरी 29 लोकसभा सीटें जीतने के लिए ‘मिशन-29’ चला रहे हैं। वह प्रतिदिन 5 से 6 चुनावीं सभाएं कर रहें है। साथ ही उनके रोड़ शो और व्यक्तिगत मुलाकातें भी जारी है। ऐसे ही एक व्यस्त दिन में उनसे हुई बातचीत के मुख्य अंश प्रस्तुत है:

लालकृष्ण आडवाणी, नरेन्द्र मोदी, डॉ. रमण सिंह और शिवराज सिंह चौहान को एक जैसा सक्षम नेता मानते हैं। आपकी क्या टिप्पणी है?

नरेन्द्र मोदी हमारे नेता है। पार्टी ने उन्हें प्रधानमंत्री पद के लिए चुना है। उनका व्यक्तित्व विशाल है। पूरा देश उनके साथ है। इस समय देश में मोदी लहर चल रही है। जहां तक आडवाणीजी की राय का सवाल है, मैं उनका सम्मान करता हूं। वह हमारे मार्गदर्शक है। नरेन्द्र मोदी जी के व्यक्तित्व और अनुभव की वजह से ही पार्टी ने उन्हें प्रधानमंत्री पद का प्रत्याशी बनाया है। मोदीजी की दृष्टि साफ हैं, और नजरिया विराट।

प्रधानमंत्री की टीम के बारे में उनकी जो राय है वह यह जाहीर करती है कि वह सबको साथ लेकर चलेंगे। किसी के साथ भेदभाव नहीं करेंगे। उनका कहना है कि प्रधानमंत्री की टीम में सिर्फ केन्द्रीय मंत्री और केन्द्रीय अधिकारी ही नही होने चाहिएं। देश के विकास के लिए विभिन्न राज्यों के मुख्यमंत्रियों को साथ लेना भी जरूरी है। मोदी जी की टीम में राज्यों के मुख्यमंत्री भी होंगे। चाहे वे किसी भी दल के हों। वें चाहते हैं कि देश के सभी हिस्सों के समग्र विकास में सभी दलों, विचारधाराओं और व्यक्तियों का योगदान हो।

मध्यप्रदेश में आपका चुनावी मुद्दा क्या है?

हम समग्र विकास के मुद्दे पर वोट मांग रहें है। पूरा देश जानता है कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार ने 10 साल में देश को रसातल में पहुंचा दिया है। भ्रष्टाचार चरम पर है। मां-बेटे ने मिलकर प्रधानमंत्री पद की गरिमा खत्म कर दी है। रोज ‘बुक-ब्लास्ट’ हो रहे है। प्रधानमंत्री कार्यालय में तैनात रहे लोग ही इस बात की पुष्टि कर रहें है कि प्रधानमंत्री महज कठपुतली थे। हमने 10 साल में प्रदेश में क्या किया है, यह प्रदेश की जनता जानती है। जनता को यह बता रहे है कि कांग्रेस ने किस तरह देश और देश की रीढ़ मानी जाने वाली संस्थाओं को लूटा और बरबाद किया है।

राहुल गांधी के बारे में आपकी क्या राय है?

राहुल न तो इस देश के संस्कार जानते हैं और न ही यहां की रवायतों से परिचित है। वह कहीं आदिवासी महिलाओं से तेंदुपत्ता तोडऩे का तरीका पूछते हैं, तो कहीं अपनी राजनीतिक हैसियत का प्रदर्शन करने के लिए सार्वजनिक रूप से सरकारी कागज फाड़ते है। दरअसल वह आम आदमी की जिंदगी से वाकिफ ही नही है। नरेन्द्र मोदी से उनकी तुलना नहीं की जा सकती है।

आप ‘मिशन-29’ चला रहे हैं, क्या वह पूरा हो पाएगा?

हम सब मिलकर यह मिशन चला रहे हैं। पूरे प्रदेश में बूथ लेवल से लेकर प्रदेश स्तर तक सभी कार्यकर्ता नरेन्द्र मोदी की जीत की संरचना में जुटे हैं। मध्यप्रदेश की जनता कांग्रेस की असलियत जानती हैं। यही वजह है कि राज्य में उसने हमें तीसरी बार सत्ता सौंपी है। हम सब सामूहिक कोशिश कर रहें है। प्रदेश का हर व्यक्ति नरेन्द्र मोदी को प्रधानमंत्री बनते देखना चाहता है। हमें सफलता जरूर मिलेगी।

कुछ क्षेत्रों में प्रत्याशियों के चयन पर नाराजगी है। क्या यह नाराजगी चुनाव को प्रभावित करेगी?

पूरे प्रदेश में किसी तरह का कोई असंतोष या नाराजगी नही है। सभी एकजूट होकर पार्टी के लिए काम कर रहे हैं। यदि कहीं किसी को कोई गलतफहमी थी, तो उसे दूर कर लिया गया है। सब मोदीजी को जिताने में जुटे हैं।

कांग्रेसियों को भाजपा में शामिल करके क्या संदेश देना चाहते है?

हम किसी को बुला नहीं रहे हैं। जो लोग कांग्रेस में घुटन महसूस कर रहें है और साफ मन से हमारी विचारधारा को स्वीकार कर रहे हैं, हम उनका स्वागत कर रहे है। हमने किसी को कोई प्रलोभन नही दिया है। वास्तविकता यह है कि कांग्रेस के नेताओं को भाजपा में अपना भविष्य दिख रहा है। यही एक ऐसी पार्टी है, जिसमें छोटे और गरीब घरों के लोग शिखर पर पहुंचे हैं।

 अरूण रधुनाथ

купить полиграф ценаtks tour отзывы

Leave a Reply

Your email address will not be published.