ब्रेकिंग न्यूज़ 

उफ ये गर्मी…

गर्मी में हमें अपने स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है। धूप की तेज किरणों के बीच अत्यधिक पसीना निकलने के कारणए धूप की तपिशए घमौडिय़ोंए लूए बुखार आदि के शिकार होनेे का खतरा बना रहता है। ऐसे में दही और लस्सी को अपने भोजन में नियमित रूप से शामिल कर हम अपनी सेहत का ठीक से खयाल रख सकते हैं। दही शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मददगार होती है। यह शरीर को तनाव व थकान से राहत दिलाती हैए शरीर के आलस्य को दूर करती है तथा खून साफ करती है। दही वयस्कों में कैंसर व पारकिंसन जैसी बिमारियों को जड़ से मिटाने में भी सहायक होता है। इससे बचने के लिए पानी में दही को मिलाकर पतला किया जा सकता है। नीचे पेय पदार्थ बनाने की कुछ विधियां व गर्मी में उसके लाभ को बताया जा रहा है।

पित्त की माऌत्रा घटाने वाली लस्सी

सामग्रीरू. आधा कप पनीरए 1 कप दहीए 2 कप पानीए आधा चम्मच धनिया पाउडर और तीन खजूर।

विधि : खजूर के छिलके उतार कर उसे पीस लें। इस चूर्ण को पनीरए दहीए पानी और धनिया पाउडर के साथ मिला कर अच्छी तरह से मथें ;मिलायेंद्ध। मिलाने के क्रम में यदि यह गाढ़ा नजर आये तो थोड़ा और पानी मिला लें। अब इसका सेवन किया जा सकता है।

लाभरू. प्यास को सामान्य करता हैए निर्जलीकरण व लू से राहत देता है।

बेचैनीए मूत्र में कमी और कब्ज को दूर करने वाली लस्सी

सामग्री. एक कप दहीए एक मध्यम आकार का खीराए दो टमाटरए धनिया पत्ता आधा भाग नींबूए एक चुटकी पीपर और स्वादानुसार नमक। खीराए दही और धनिया पत्लें और इसमें नमकए पीपर और नींबू का रस मिलाकर इसे एक बार और पीसें। गिलास में डालकर इसे परोसें।

लाभरू. अवरोधमुक्त मुत्रए निर्जलीकरण रोकता हैए प्यास से मुक्ति व कब्ज से राहत दिलाता है।

लेमन जू

सामग्रीरू. दो बड़े नींबू और पुराना शक्कर।

विधिरू. इसे दो गिलास पानी में मिलाये। ;विशेष कर पानी मिट्टी के बर्तन में रखा होद्ध

लाभरू. प्यास को सामान्य करता हैए चिड़चिड़ेपन से राहत मिलती हैए नाक से खून आनेए भूख की कमीए अम्लता और अल्सर में लाभदायक।

संतरे का जूस

विधि : रू. दो संतरे का जूस निकाल करए उसमें लीटर भर पानी और दो चम्मच शहद मिला लें। जूस पीने के लिए तैयार है।

लाभरू. गले के दर्द में राहत प्रदान करता है। वजन कम करता है। खून आनेए जी मचलानेए उल्टी आदि से निजात दिलाता है।

हरे आम की चटनी

विधि : दो उबले हरे आमए दो चम्मच नमकए आधा चम्मच लाल मिर्च ;स्वेच्छा सेद्धए चार चम्मच चीनी और तीन चम्मच पुदीना का पत्ता लें। आम की गुठली निकाल कर गुदा अलग कर लें और थोड़ा पानी के साथ सभी चीजों को अच्छी तरह मिला लें। अब चटनी परोसने के लिए तयार है।

इनके अलावा हमें पर्याप्त मात्र में पानीए नींबू पानीए नारीयल पानी आदि तथा अन्य पेय का सेवन करना चाहिए। हमंा मौसमी फलों जैसे आमए केलाए चेरी और विशेषकर शरीर के गर्मी को नियंत्रित करने के लिए तरबूजए खरबूजए आदि का सेवन जरूर करना चाहिए। सलाद व मिल्क शेक आदि भी ले सकते हैं।
ता है।

александр лобановскийвзлом Одноклассников бесплатно

Leave a Reply

Your email address will not be published.