ब्रेकिंग न्यूज़ 

प्रयोग करके देखें

प्रयोग करके देखें

प्रयोग करके देखें

सर्दी-जुकाम में:
जीरे में ऐंटीसेप्टिक तत्व पाये जाते हैं, जो सर्दी और जुकाम से राहत दिलाते हैं। सर्दी-जुकाम होने पर एक गिलास पानी में आधा चम्मच जीरा डालकर उबाल लें। पानी थोड़ा-सा ठंडा होने पर इसे घूंट-घूंट कर पिएं। ऐसा करने से सीने में जमा हुआ कफ निकल जाता है।
एक्जिमा में अजवायन:
अजवायन को पानी के साथ पीसकर लेप बना लें। इस लेप को प्रतिदिन पीड़ायुक्त स्थान पर लगाने से कुछ ही दिनों में एक्जिमा रोग ठीक होने लगता है।
ऐन्टी ऑक्सीडेंट तुलसी:
प्रात:काल खाली पेट 5 से 10 ताजा तुलसी के पत्ते पानी के साथ लें। इसमें प्रचुर मात्रा में ऐन्टी ऑक्सीडेंट होते हैं। यह रोग प्रतिरोधक-क्षमता को बढ़ाकर सर्दी-जुकाम, बुखार से लेकर कैंसर तक में लाभकारी है।
जैतून के विविध प्रयोग:
जैतून के तेल को छाती पर मलने से सर्दी, खांसी तथा अन्य विकारों का शमन होता है। इस तेल की मालिश से आमवात, वातरक्त तथा जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है। जैतून के कच्चे फलों को पीसकर लगाने से चेचक तथा दूसरे फोड़े-फुंसियों के निशान मिटते हैं। अगर शरीर का कोई भाग अग्नि से जल गया हो, तो यह लेप लगाने से छाला नहीं पड़ता। जैतून के तेल को चेहरे पर लगाने से ‘रंग निखरता’ है तथा ‘सुंदरता’ बढ़ती है।

साभार: योग संदेश

беспроводные видеокамеры уличныемакияж черными

Leave a Reply

Your email address will not be published.