ब्रेकिंग न्यूज़ 

असम में शाह की आशा

असम में शाह की आशा

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष, अमित शाह ने 14वें बोडोलैंड दिवस के अवसर पर असम के कोकराझार में एक विशाल रैली को संबोधित किया और असम की जनता से राज्य की भ्रष्टाचारी कांग्रेस सरकार को जड़ से उखाड़ कर भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व में एक मजबूत और विकसित असम के नवनिर्माण का आह्वान किया। इसके बाद उन्होंने नगांव में भाजपा कार्यकर्ताओं के सम्मलेन को सम्बोधित किया और कार्यकर्ताओं से असम में भाजपा की पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने की अपील की। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि अगर कांग्रेस मुक्त भारत बनाना है तो असम को भी कांग्रेस मुक्त करना होगा।

भाजपा अध्यक्ष ने 10 फरवरी को असम और बोडोलैंड के लिए एक ऐतिहासिक दिन की संज्ञा देते हुए कहा कि आज ही के दिन 10 फरवरी, 2003 को बोडोलैंड आंदोलन का सुखद समाधान हुआ था। उन्होंने कहा कि हमें इस बात की खुशी है कि अटल जी और आडवाणी जी के समय बोडोलैंड के शांति और विकास के लिए किया गया समझौता आज हिंसा के रास्ते को छोड़ कर विकास के पथ पर तीव्र गति से गतिशील है तथा आज बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट असम और बोडोलैंड के विकास के लिए देश की मुख्यधारा से कंधे-से-कंधा मिलाकर काम कर रही है। श्री शाह ने कहा कि इसलिए आने वाले असम विधान सभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी ने बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट के साथ मिलकर चुनाव लडऩे का फैसला किया है। उन्होंने कहा, मैं बोडोलैंड की जनता को आश्वस्त करना चाहता हूँ कि इस क्षेत्र के विकास के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र की भाजपा सरकार बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट की एक हजार करोड़ रुपये की राशि की मांग से अधिक ही देगी ताकि बोडोलैंड सहित पूरे असम का विकास देश के अन्य विकसित राज्यों की तरह ही एक समान रूप से हो सके। श्री शाह ने कहा कि बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट के साथ यह गठबंधन कोई राजनीतिक समझौता नहीं है, बल्कि यह असम के विकास व उसके बेहतर भविष्य के लिए किया गया एक विकास का समझौता है।

भाजपा अध्यक्ष श्री शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अगुआई में भाजपा-नीत राजग सरकार देश की एकता और अखंडता को अक्षुण्ण रखने के साथ-साथ देश के अंतिम छोर तक, हर गाँव तक, हर गरीब तक, एक साथ और एक समान विकास के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि सबका एक साथ और एक समान विकास भाजपा का मूल सिद्धांत है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने असम के युवाओं को देश और विश्व के युवाओं से प्रतिस्पर्धा कर अपने सपनों को साकार करने के लिए, अपनी आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए एक मंच देने का संकल्प लिया है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद से ही कांग्रेस की गलत नीतियों की वजह से असम की जनता विभिन्न समस्याओं से जूझती रही है। उन्होंने कहा कि यदि गांधी जी ना होते तो असम आज भारत में ना होता।

असम में कांग्रेस के 15 साल के कुशासन और भ्रष्टाचार पर जमकर हमला बोलते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि असम बीते 15 सालों में विकास के दौर में पिछड़ गया है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार का भ्रष्टाचार और उनकी सत्ता में किसी भी तरह बने रहने की लालसा ने असम को बर्बाद करके रख दिया है। उन्होंने कहा कि भरपूर प्राकृतिक संसाधन, मेहनतकश युवाओं की अदम्य ऊर्जा और राज्य में पर्यटन की अपार संभावनाओं के बावजूद आज असम काफी पीछे है। उन्होंने कहा कि आजादी के समय जहाँ असम देश का 5वां सबसे खुशहाल राज्य था, वहीं अब असम गरीब राज्यों की सूची में काफी निचले पायदान पर आ गया है। श्री शाह ने कहा कि 1962 में चीन के साथ हो रही जंग के बीच एक समय तो तात्कालीन प्रधानमंत्री पंडित नेहरू ने भी असम को अलविदा कह दिया था लेकन देश के जाँबाज सपूतों ने अपने प्राणों की आहुति देकर असम की रक्षा की।

कांग्रेस की तुष्टीकरण की राजनीति पर निशाना साधते हुए भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि बांग्लादेशी घुसपैठियों की समस्या कांग्रेस की वोट बैंक की राजनीति की देन है। उन्होंने कहा कि यदि प्रदेश में भाजपा और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट की सरकार बनती है तो बांग्लादेशी घुसपैठियों को पीछे धकेला जाएगा, घुसपैठियों का प्रवेश पूरी तरह से रोका जाएगा और असम एवं बोडोलैंड के युवाओं के अधिकार की रक्षा सुनिश्चित की जाएगी।

शाह ने कहा कि इन 15 वर्षों में देश विकास की राह पर कहीं आगे बढ़ चुका है, भाजपा शासित राज्यों ने विकास को हर गाँव तक, हर गरीब तक पहुँचा कर एक नया मानक स्थापित किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा शासित राज्यों ने 24 घंटे बिजली देने का काम किया है, जगह-जगह प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्थापित किये गए हैं, गाँवों तक पक्की सड़कों का जाल बिछाया गया है और माता एवं शिशु मृत्यु दर को नियंत्रित किया गया है जबकि असम में माता मृत्यु दर देश में सर्वाधिक है, महिलाओं पर बीते एक साल में हजारों अत्याचार की घटनाएं हुई है। श्री शाह ने जोर देते हुए कहा कि जिस राज्य में महिलायें सुरक्षित नहीं हो, एक करोड़ से ज्यादा की आबादी गरीबी रेखा से नीचे गुजर-बसर करने को मजबूर हो, लगभग आधी आबादी पीने योग्य पाने से मरहूम हो, ब्रह्मपुत्र जैसी पवित्र नदी होने के बावजूद लगभग तीन चौथाई से अधिक किसानों के पास सिंचाई की सुविधा न हो, एक तिहाई से अधिक आबादी के पास बिजली न हो, लगभग 23 लाख से अधिक बेरोजगार हों, उस राज्य में कांग्रेस से विकास की आशा कैसे की जा सकती है जबकि आजादी के बाद से प्रदेश में अधिकतर कांग्रेस और उनके सहयोगियों का ही शासन रहा है। श्री शाह ने लोगों का आह्वान करते हुए कहा कि यदि असम को भ्रष्टाचार मुक्त बनाना है, असम में रेलमार्गों, सड़कों का जाल बिछाना है, इसे देश के अन्य विकसित राज्यों की श्रेणी में खड़ा करना है तो प्रदेश में भाजपा – बोडोलैंड गठबंधन की सरकार बनानी होगी।

भाजपा अध्यक्ष ने असम से एक सिंह वाले गैंडे के विलुप्त होने पर कांग्रेस सरकार पर प्रश्नचिह्न लगाते हुए कहा कि असम की कांग्रेस सरकार प्रदेश की प्राकृतिक स्वरूप को अक्षुण्ण रखने में विफल रही है। उन्होंने कहा कि हमें असम के जंगलों को बचाना है, प्रकृति को बचाना है।

भाजपा अध्यक्ष ने असम सरकार द्वारा परियोजनाओं को सही तरीके से समय पर लागू कर पाने में असफल रहने को लेकर कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा कि असम में अधिकतर परियोजनाओं को दुबारा अनुदान राशि नहीं मिलती क्योंकि असम सरकार कभी भी परियोजनाओं की काम पूरा होने की रिपोर्ट केंद्र को सौंपती ही नहीं, यहां तक कि इसी के चलते 2012 में कांग्रेस की ही केंद्र सरकार ने असम सरकार को दुबारा अनुदान राशि देने से मना कर दिया था। कैग की 1 लाख 80 हजार करोड़ रुपये के घोटाले रिपोर्ट का हवाला देते हुए श्री शाह ने कहा कि असम सरकार भ्रष्टाचार में आकंठ डूबी हुई है और प्रदेश की जनता के कल्याण के बजाय अपना तिजोरी भरने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि आखिर क्यों देश में पिछली कांग्रेस सरकार के समय लगातार 10 वर्षों तक असम से ही प्रधानमंत्री रहने के बावजूद असम विकास के दौर में पिछड़ता ही चला गया।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र की भाजपा सरकार ने देश में गरीबी के खिलाफ जंग छेड़ दी है। उन्होंने कहा कि श्री नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनते ही देश में विकास का एक नया दौर शुरू हो चुका है। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने गरीबों के कल्याण के लिए कई योजनाएं चलाई है चाहे वह गरीबों के लिए बैंकों के द्वार खोलने की बात हो, या घर-घर बिजली पहुंचाने की बात हो, युवाओं को रोजगार के बेहतरीन अवसर प्रदान करने के लिए मुद्रा बैंक योजना, मेक इन इंडिया, स्किल डेवलपमेंट, स्टार्ट-अप इंडिया व स्टैंड-अप इंडिया की बात हो, फसल बीमा योजना की बात हो, जीवन ज्योति बीमा या फिर जीवन सुरक्षा बीमा की बात हो।

शाह ने कहा कि असम में केंद्र की योजनाओं को जमीन पर उतार कर प्रदेश को विकास के पथ पर गतिशील करनेवाली सरकार की जरूरत है, केंद्र से झगड़ा करनेवाली सरकार की नहीं और ऐसी सरकार केवल भाजपा और बोडोलैंड की गठबंधन सरकार ही दे सकती है। उन्होंने कहा कि यदि भाजपा और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट की सरकार असम में सत्ता में आती है तो असम और बोडोलैंड के लोगों को रोजगार मुहैया कराने की दिशा में तेज प्रयास किये जायेंगें। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बोडोलैंड के विकास का खाका खींचा है, यहां की सभी जातियों को जोडऩे की दिशा में कई कदम उठायें हैं और इसके लिए केंद्र सरकार द्वारा तेज गति से प्रयास भी शुरू कर दिए गए हैं।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने असम की जनता का आह्वान करते हुए कहा कि असम की जनता आज के दिन असम को सुख, शांति और समृद्धि के रास्ते पर ले चलने के लिए कृतसंकल्प होने का निर्णय ले। उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा कि असम के विकास के लिए आप भाजपा को एक मौक़ा दें और हम आपको विश्वास दिलाते हैं कि हम असम को देश के अन्य विकसित राज्यों के कतार में खड़ा कर यहां की जनता की आशाओं और आकांक्षाओं को पूरा करेंगें।

(उदय इंडिया ब्यूरो)

полигон отзывыаксессуары для планшетов самсунг

Leave a Reply

Your email address will not be published.