ब्रेकिंग न्यूज़ 

मन न रंगायो

मन न रंगायो

मन न रंगायो, रंगायो साधु चोला वाली कहावत अपने कुमार विश्वास साहब पर सटीक बैठती है। मफलर वाले सीएम के दोस्त कुमार साहब ने पालिका क्लब में अपना जन्म दिन मनाया। 10 फरवरी का यह आयोजन इतना भव्य था कि लग रहा था मानो कुमार साहब की बेटी की शादी हो। सजावट से लेकर सब पर लाखों उड़ाये गये थे। हालांकि इसमें डिप्टी सीएम ही आए थे। मफलर वाले साहब का पता नहीं था। खैर! जो भी हो सवाल यही उठ रहा था कि जब आम आदमी ऐसे रंग बदलकर बर्थडे मनाता है तो खास का कैसा होता होगा।



जुबां पे आया दर्द


05-03-2016

अपने जेटली जी राजनीति के धुरंधर हैं। मोदी कैबिनेट का लगभग हर चेहरा उनकी गुगली से डरता है। हाल में एचआरडी के कॉन्फ्रेंस हॉल में बच्चों के एक समारोह में जैसे ही एक छात्र ने जेटली बनने की इच्छा जताई, मानव संसाधन विकास मंत्री के चेहरे की रौनक देखने लायक थी। आखिर अपने जेटली जी जो ठहरे।



मुझे दो राज्यसभा


आम आदमी पार्टी में इन दिनों भयानक घमासान है। राज्यसभा की दो सीटें हैं और दस दावेदार। टीवी छोड़कर नेता बने आशुतोष न जाने कब से सपने देख रहे हैं। आशीष खेतान भी फिराक में हैं। वहीं संजय सिंह और पंकज गुप्ता सबसे प्रबल दावेदार बताये जा रहे हैं। यही हाल जद(यू) का भी है। दो अनार और सौ बीमार हैं। देखिए किसकी किस्मत खुलती है।



राजनाथ का छक्का


05-03-2016

उस दिन अमित शाह जेएनयू में राष्ट्रद्रोह पर ब्लॉग लिखकर जैसे ही खाली हुए, पता चला कि गृहमंत्री ने छक्का जड़ दिया है। इंटेलीजेंस इतनी पॉवरफुल है कि जेएनयू में लश्करे तैयबा जैसे आतंकी संगठन की पैठ निकाल ली है। कूटनीति में माहिर ठाकुर साहब ने अनायास तो किया नहीं था। लिहाजा, शाह ने सीधे साहब (पीएम) की शरण ली। इतना ही नहीं, होली-दीवाली में ही मीडिया के सामने आने वाले शाहभाई को शाम होते-होते प्रेस वार्ता करनी पड़ गई। अब कौन बताये कि कैसे जोर का झटका धीरे से दिया जाता है।



सवा लाख की साड़ी


05-03-2016

अपने कर्नाटक के सीएम सिद्धरमैया का जलवा है। अपनी कलाई पर वह न केवल हीरों से सजी 70 लाख रुपये की घड़ी बांधते हैं, बल्कि हाल में बीबी के लिए बेंगलुरू में ही सवा लाख की साड़ी खरीदी है। अब जब से सीएम बीबी की साड़ी खरीदकर लौटे हैं, सफाई भी दे रहे हैं। बताते फिरते हैं कि घड़ी तो एक मित्र ने गिफ्ट में दी है। अब कोई कैसे कहे कि भईया फिर एक ठो हमें भी दिलवा दो।



प्रणब दा


05-03-2016

दो दिन तक राष्ट्रपति भवन में राज्यपालों की बैठक चली। सभी राज्यों के राज्यपाल बुलाये गये। लेकिन अरुणाचल के महामहिम राजखोवा को न तो न्यौता गया और न ही वे आए। राजखोवा नहीं थे तो राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने भी राज्यपालों को जमकर नैतिकता का पाठ पढ़ाया। लेकिन खबर है कि यह बात अपने पीएम को जरा कम हजम हो रही है। खैर! इससे क्या होता है, राष्ट्रपति प्रणब दा जो ठहरे।



मुबारक हो गनी जी


05-03-2016

अपने पीएम मोदी कुछ ज्यादा ही एडवांस हैं। हाल में उन्होंने अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी को उनके जन्मदिन की शुभकामना दे दी। बधाई पाकर गनी भी हक्के-बक्के रह गए। हों भी क्यों न। गनी का जन्मदिन 19 मई को है और पीएम बधाई तीन-महीना पहले ही दे रहे थे। आखिर एडवांसड जो ठहरे।



शिवपाल जी के क्या कहने


05-03-2016

मुलायम के भाई और उत्तर प्रदेश के कबीना मंत्री शिवपाल यादव के जलवे हैं। भाई की पार्टी, भतीजा सीएम, खुद कमाई विभाग के मंत्री फिर तो जलवा बनता है। खबर है अब तो लखनऊ से कहीं 70-80 कि.मी. भी जाना होता है तो बाकायदा हेलीकॉप्टर से जाते हैं।



वाह पर्रीकर जी


05-03-2016

अपने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रीकर जी भी सादगी की मिसाल हैं। आधी बांह की कमीज, पैंट और बस. न सूट और न ही सूट पर फबता बूट। जबकि सरकार है कि कई जगह लाट साहब के ड्रेस कोड पर चलती है। खबर है कि हाल में कुछ अफसर यही पर्रीकर जी को समझाने लगे। उन्हें उम्मीद थी कि एंटनी की तरह पर्रीकर भी समझ जाएंगे। लेकिन रक्षा मंत्री ने टका सा जवाब दे दिया। समझा दिया कि जाएंगे तो ऐसे ही, नहीं तो कार्यक्रम ही छोड़ देंगे।



पड़े फफोले


05-03-2016

हाल में पंजाब चुनाव को लेकर अरुण जेटली के घर पर बैठक हुई। बैठक में कमल शर्मा ने आम आदमी पार्टी के कसीदे पढ़ दिए। इतना भर था कि जेटली जी बिफर गए। भाई लोगों को कुछ समझ में ही नहीं आया कि आखिर जेटली जी इतने लाल-पीले क्यों हो रहे हैं। अब भला कौन याद दिलाए कि हाल ही में डीडीसीए विवाद में घसीटकर आम आदमी सरकार ने जेटली जी की कितनी बजाई थी।


docsvision скачатькосметика Dark

Leave a Reply

Your email address will not be published.