ब्रेकिंग न्यूज़ 

दादी-नानी का थैला सेहत देती है दही

भारत में दही का इस्तेमाल लंबे समय से होता रहा है। दही में कई तरह के विटामिन, मिनरल, एसिड, कार्बोहाइड्रेट और नाइट्रोजन पाए जाते हैं। दक्षिण भारत में चावल के साथ दही प्रमुख भोजन में शामिल है। यहां लोग लंबी यात्रा के दौरान इसे साथ ले जाते हैं। पेट को ठंडा रखने के लिए दही का खासतौर पर इस्तेमाल किया जाता है। दही में पाए जाने वाले एंजाइम, शरीर को ठंडा रखने में मदद करते हैं। उत्तर भारत में दही का इस्तेमाल रायता और लस्सी के रूप में ज्यादा होता है। अपने खास गुणों के कारण ही दही का इस्तेमाल कई रूपों में पूरे भारत में होता है। सौंदर्य प्रसाधन के रूप में भी दही का इस्तेमाल किया जाता है।

दूध के किण्वन से बना दही, दूध के मुकाबले ज्यादा पोषक होता है। मसालेदार खाना खाने के तुरंत बाद, पानी के बदले दही खाने पर पेट को आराम मिलता है। मसालेदार भोजन में दही का इस्तेमाल, उसके दुष्प्रभाव को कम करने के लिए भी किया जाता है। खाने में दही के बदले मक्खनयुक्त दूध भी लिया जा सकता है। ऐसे अनेक प्रकार के व्यंजन हैं, जो दही से बनते हैं। इनमें सबसे प्रमुख दही-चावल और दही-बड़ा है।

हृदय के लिए लाभकारी- दही शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है, जो रक्तचाप को कम नियंत्रित करता है और ट्राइग्लिसराइड के स्तर में सुधार करता है। हृदयरोग में दही प्रोटीन और कैल्शियम की उचित आपूर्ति को सुनिश्चित करता है और सोडियम के स्तर को कम करता है। कम वसायुक्त दही की अपेक्षा अधिक वसायुक्त दही का नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

सुपाच्य- दही पाचनक्रिया में मदद करता है। दही में पाए जाने वाले लैक्टोबैसिलस बैक्ट्रिया, आंतों में पाए जाने वाले बैक्ट्रिया की वृद्धि और उनकी बीमारियों को फैलाने की क्षमता को खत्म करते हंै। साथ ही दही पाचन क्रिया में मददगार बैक्ट्रिया की वृद्धि में सहयोग देता है। यह मित्र-बैक्ट्रिया मिनरल्स को सोख लेता है और विटामिन बी को संश्लेषित करता है।

दही : सौंदर्य प्रसाधन के रुप में
 सप्ताह में एक बार सिर पर दही का लेप लगाने से बालों में रुसी की समस्या खत्म हो जाती है। मूंग पाउडर के साथ दही का इस्तेमाल रूसी की समस्या दूर रखने के साथ-साथ बाल झडऩे की समस्या को भी दूर करता है।
 सूखे नारंगी के छिलके या छिलकों के पाउडर को दही के साथ मिलाकर चेहरे पर लगाने से त्वचा में चमक आती है। इससे त्वचा के छिद्र खुलते हैं, जिससे कील-मुंहासों की समस्या नहीं होती।
 एक चम्मच दही में शहद की दो-तीन बूंदों को मिलाकर चेहरे पर लगाकर 10 मिनट तक सुखाने से चेहरा चमकीला और ताजा दिखता है।

प्रतिरक्षा क्षमता को बढ़ाने में मददगार- दही में पाए जाने वाले लैक्टोबैसिलस बैक्ट्रिया, फांस संबंधी संक्रमण से लड़कर, शरीर की प्रतिरक्षा क्षमता को मजबूत करता है। इस से शरीर को अनेक बीमारियों से लडऩे में मदद मिलती है। दही का उचित सेवन शरीर को मजबूती प्रदान करता है।

आयुर्वेद के अनुसार दही
 रात में दही का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
 दही को गरम या उबालना नहीं करना चाहिए।
 दही के साथ शहद या चीनी का इस्तेमाल करना चाहिए।
 सही तरीके से जमाए गए दही का इस्तेमाल करना चाहिए।

पेट संबंधी दोषों का निवारण- पेट संबंधी समस्याओं के निवारण में दही का सेवन आसान एवं सस्ता उपाय है। दही का लगातार इस्तेमाल जठराग्नि तंत्र को सेहतमंद करता है। अन्य बैक्ट्रिया भी इस प्रक्रिया में शामिल होकर भोजन को सुपाच्य बनाने मदद करते हैं। पाचनक्रिया में नमक की मात्रा को भी नियंत्रित करते हैं। यह कोलेस्ट्रॉल में कमी करने गांठों को खत्म करने, रोगजनित कारकों के विकास में कमी करने का कार्य कर आदि कई तरह से शरीर को लाभ पहुंचाती है।

दस्त- दस्त की बीमारी में भी दही बहुत लाभप्रद होता है। इसके सेवन से दस्त को कम करने में मदद करता है। बच्चे को दही खिलाकर, दस्त को नियंत्रित करने का पारंपरिक रिवाज है। दही आंत में मौजूद पानी को सोखकर दस्त के लिए अवरोधक का काम करता है।

ऑस्टियोपोरोसिस- यह लगातार बढऩे वाली बीमारी है, जो हड्डी के मिनरल्स को सोखकर खोखला कर देती है। परिणामस्वरूप हड्डी टूटने की संभावना कई गुणा बढ़ जाती है। ऐसे लोगों के लिए दही एक बेहद उपयुक्त खाद्य है। दही कैल्शियम, विटामिन ए और विटामिन बी, बी2 एवं बी12, मैग्निशियम और पोटैशियम से परिपूर्ण होने के कारण बेहद लाभकारी है। यह हड्डी के साथ-साथ दांतों के लिए भी अत्यंत लाभकारी है। यही कारण है कि शारीरिक मजबूती को बनाए रखने के लिए हमारी परंपरा में दही शामिल है।

दही मितली और उल्टी की प्रवृत्ति को भी रोकता है। दही एक बेहतरीन पेय भी है। चीनी के साथ इसका सेवन करने पर जलन को कम करता है। शोधकर्ताओं के अनुसार, दही में पाए जाने वाले लाभकारी बैक्ट्रिया को प्रोबायोटिक्स कहते हैं। यह मस्तिष्क की कोशिकाओं के विकास में सहायक होता है।

 

निभानपुदी सगुना

видео циклевка паркетаtranslation in french to english

Leave a Reply

Your email address will not be published.