ब्रेकिंग न्यूज़ 

उदय इंडिया ने किया सरबजीत का सम्मान दस हजार दीपों से हुई भारत माता की आरती हमारे नेता डरते हैं हाफिज सईद से मेरी जान हिंदुस्तान कार्यक्रम में पूर्व इंटेलीजेंस अधिकारी ने लगाए आरोप

शहीदों की कुरबानियों का हर देशवासी पर कर्ज है। देश कभी भी शहीदों की कुरबानियों से उऋण नहीं हो सकता। इस क्रम में उदय इंडिया ने देश पर जान न्यौछावर करने वाले शहीदों के ऋण का कुछ अंश चुकाने के लिए उनके परिवारोंजनों का जयपुर में सार्वजनिक सम्मान किया। रविन्द्र मंच के ओपन सभागार में 29 जून की शाम उदय इंडिया ने शहीदों के नाम कर दी। समारोह में जयपुर से ही नहीं बल्कि देश के अन्य हिस्सों से आए गणमान्य व्यक्तियों की आंखें नम कर दीं। भारतीयता का शंखनाद करने वाली उदय इंडिया के राष्ट्रभक्ति से सराबोर ”मेरी जान हिन्दुस्तान” के कार्यक्रम में शहीद सपूतों को जन्म देने वाले परिवारों का सार्वजनिक अभिनन्दन करने के अतिरिक्त दस हजार दीपक जला कर भारत माता की आरती उतारी गई। वीर रस के कवियों ने जब राष्ट्रभक्ति के गीत गाए तो स्टेडियम में बिल्कुल अलग ही समा था। शहीद परिवारों का जब सम्मान किया गया तो वहां मौजूद सभी व्यक्तियों की आंखें नम हो गई। शहीदों की याद में उनके परिवारजनों को अमर जवान की उलटी बंदूक पर सैनिक की टोपी रखे चित्र को भेंट कर उदय इंडिया की ओर से शहीदों को श्रद्धांजलि दी गई।

पाकिस्तान की कोट लखपत जेल में देश पर कुरबान होने वाले सरबजीत सिंह की बहन दलबीर कौर ने सम्मान ग्रहण करने के बाद जब अपने उद्बोधन में बताया कि उन्होंने अपने भाई सरबजीत के लिए 23 राखियां संभाल कर रखी हैं, लेकिन वह नहीं आया, तो जैसे वहां मौजूद हर व्यक्ति उन्हें यह आश्वासन दे रहा था कि सरबजीत सिंह ने देश के लिए कुरबानी दी है। देश का हर युवक उनके लिए सरबजीत सिंह है। दलबीर कौर ने सरकार से मांग की कि पाकिस्तान की जेलों में बंद भारतीयों को यदि स्वदेश लाने से पहले पाकिस्तान से बातचीत की गई, तो वह आंदोलन छेड़ कर सरकार के ऐसे कदम का विरोध करेंगी।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद ‘फेक्टर इन पाकिस्तान’ के लेखक एवं पूर्व इंटेलिजेंस अधिकारी कर्नल आर.एस.एन. सिंह ने इस मौके पर खुलकर कहा कि देश के कई बड़े नेता 26/11 को अंजाम तक पहुंचाने वाले हाफिज सईद से किन्हीं अज्ञात कारणों से डरते हैं। उन्होंने सरकार की आलोचना भी की कि वह जांच एजेंसियों और सुरक्षा एजेंसियों के बीच तनाव पैदा करने का काम कर रही है।

उन्होंने सोचने को विवश कर दिया कि यदि अब भी देश की जनता नहीं जागी, तो यह देश आतंकवाद की भेंट चढ़ता जाएगा और हमारे वीर सैनिक शहीद होते रहेंगे।

अपने उद्बोधन में उन्होंने कहा कि सरबजीत के साथ जो हुआ, उसे पूरा देश जानता है। उसके साथ ऐसा क्यों हुआ, क्योंकि पाकिस्तान हमसे सवाल करता है कि अजमल कसाब और अफजल गुरू को फांसी क्यों दी गयी। यह और कुछ नहीं, पाकिस्तान के प्रॉक्सी वार का हिस्सा है। हाल ही में श्रीनगर में हुए हमले भी प्रॉक्सी वार के हिस्से हैं। ऐसा नहीं है कि पाकिस्तान से लड़ाई खत्म हो गई है, यह लड़ाई तो अभी भी जारी है। यह कैसा देश है, जिस पर आतंकवादी हमले करते रहेंगे और यह कुछ नहीं करेगा।

‘लो सरबजीत की हत्या फिर कर दी है हत्यारों ने, यानी कायरता दिखला दी दिल्ली के दरबारों ने।’

‘जीत हार बन चला गया वो ये तड़पन एक दिन सचमुच लावा बनकर फूटेगी और संगपात बन दिल्ली के इन गद्दारों पर टूटेगी।’

‘ये न समझो कि मैं चिरनिंद्रा लेने जा रहा हूं,
मां फिर तेरी गोद से जन्म लेने आ रहा हूं।’

वीरों की धरती राजस्थान में गूंजी ये पंक्तियां केवल बानगी है उस काव्य पाठ की जो जयपुर के रविन्द्र मंच सभागार में गूंजी थीं। देशभक्ति और वीर रस की कविताओं ने श्रोताओं के खून को खौला दिया। जयपुर के रवीन्द्र मंच के ओपन थिएटर में दर्शकों से खचाखच भरे सभागार में कवियों ने सरकार को और उसकी निकम्मी नीतियों को जम कर कोसा। कवियों के भाव थे कि यदि सरकार वोट बैंक से प्रभावित अपनी नीतियों को राष्ट्रोन्मुख करे तो देश और समाज की सही प्रगति हो सकती है। इस अवसर पर विनीत चौहान, योगेन्द्र शर्मा, संजय शुक्ला, आनंद रत्नू, अतुल ज्वाला आदि कवियों ने देशभक्ति से युक्त कविताओं की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम की शुरूआत में बॉलीवुड गायक रोहित शर्मा ने ‘वो महाराणा प्रताप कठै हैं’ गीत की प्रस्तुति दी।

इस कार्यक्रम में सैंथल के साईं बाबा, तात्या बाबा, कर्नल आर.एस.एन. सिंह, मध्य प्रदेश के डीजीपी वी.के. पंवार, जयपुर की मेयर ज्योति खंडेलवाल, विधायक प्रताप सिंह खाचरियावास, ओडिशा की शहीद रतन प्रधान स्मृति के अध्यक्ष मुरली मनोहर शर्मा, स्वास्थ्य कल्याण केन्द्र के चेयरमैन डॉ. एस.एस. अग्रवाल, ‘उदय इंडिया’ के संपादकीय निदेशक प्रकाश नंदा, संपादक दीपक कुमार रथ, कार्यकारी संपादक श्रीकांत शर्मा, ब्यूरो चीफ निर्मल सौगाणी, विक्रम सिंह राठौड़, समाजसेवी शंकर लाल अग्रवाल सहित कई अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। ‘उदय इंडिया’ टीम ने अतिथियों का स्वागत किया।

 

जयपुर से प्रीति जोशी

черепашки ниндзя игрушкиorgpoint.ru

Leave a Reply

Your email address will not be published.